Saturday, October 16, 2021
Home पर्यटन टिहरी झील का बढ़ा जलस्तर, पर्यटन विभाग की करोड़ों की संपत्ति झील...

टिहरी झील का बढ़ा जलस्तर, पर्यटन विभाग की करोड़ों की संपत्ति झील में डूबी

टिहरी। एशिया के सबसे बड़े टिहरी डैम की झील का जलस्तर 829.50 आरएल मीटर पहुंच गया, जिसके बाद क्षेत्र में हड़कंप मचा हुआ है। वहीं, जलस्तर लगातार बढ़ने से कोटी कॉलोनी में पर्यटन विभाग के द्वारा बनाये गए आस्था पथ, टेंट, फुटपाथ, पर्यटकों को आने-जाने के रास्ते, यात्री विश्राम शेड, डूब गए हैं। ऐसे में कोटी कॉलोनी के किनारे बोटिंग प्वाइंट पर बोटिंग करने के लिए आ जा रहे पर्यटकों को आने जाने की समस्या से जूझना पड़ रहा है।
बता दें कि राज्य सरकार ने हाल ही में झील के जलस्तर 830 आरएल मीटर तक पानी भरने की अनुमति दी थी। ऐसे में झील का जलस्तर स्तर अब 830 आरएल मीटर के करीब पहुंच गया है. जिससे स्थानीय लोगों में दहशत का माहौल है. आश्चर्य की बात ये है कि पर्यटन विभाग के द्वारा बनाई गई करोड़ों की संपत्ति झील में डूब गई है. पर्यटन विभाग के अधिकारी भी टिहरी झील का जलस्तर बढ़ने से विभागीय संपत्ति के हुए नुकसान की तस्दीक कर रहे हैं। वहीं, टिहरी बांध परियोजना के अधिशासी निदेशक उमेश कुमार सक्सेना ने कहा कि 835 आरएल मीटर के नीचे जलस्तर की जितनी भी संपत्ति है, वह टीएचडीसी की है। 835 आरएल मीटर से नीचे जो भी संपत्ति का निर्माण करता है, उसका जिम्मेदार वही है, जबकि पहले से ही तय है कि टिहरी झील का जलस्तर 830 आरएल मीटर तक देर सबेर भरना तय है। गौरतलब है कि टिहरी झील से प्रभावित 415 परिवारों के विस्थापन के मामला अभी भी लटका हुआ है. जिसे लेकर कुछ दिनों पहले ही एक बैठक हुई थी। जिसमें भारत सरकार के ऊर्जा मंत्री, कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज, ऊर्जा सचिव, टिहरी जिलाधिकारी ईवा आशीष श्रीवास्तव और टीएचडीसी के अधिकारियों शामिल हुए थे। जिसमें बांध प्रभावित 415 परिवारों के विस्थापन पर सहमति बनी और टीएचडीसी ने टिहरी झील को 830 आरएल मीटर भरने की अनुमति मांगी गई थी। जिस पर राज्य सरकार ने हामी भर दी थी और स्थानीय लोग इस निर्णय से नाराज हैं।

RELATED ARTICLES

चारधाम रवाना होने से पूर्व महाराज से मिला पर्वतारोही दल 

*देश-विदेश में 4 लाख 21 हजार किलोमीटर की पैदल यात्रा कर बनाया विश्व कीर्तिमान* देहरादून। पर्यावरण बचाने एवं बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ सहित अनेक जागरूकता...

पर्यटन मंत्री महाराज ने किया हाईकोर्ट के फैसले का स्वागत

देहरादून। चारधाम यात्रा पर आने वाले यात्रियों की तय सीमित संख्या को समाप्त करने के नैनीताल हाईकोर्ट के फैसले का पर्यटन, धर्मस्व एवं संस्कृति...

पर्यटन: छुट्टी पर मसूरी में उमड़ा पर्यटकों का हुजूम, लगा लंबा जाम

मसूरी। पहाड़ों की रानी मसूरी में वीकेंड पर पर्यटकों की भारी-भीड़ उमड़ने से ट्रैफिक व्यवस्था चरमरा जाती है। इससे लोगों को भारी परेशानियों का...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

माता मंगला के जन्मदिन पर उत्तराखंड को सौगात, सीएम ने किया डायलिसिस केंद्र का लोकार्पण

देहरादून। सीएम पुष्कर सिंह धामी ने मोहकमपुर में हंस फाउंडेशन डायलिसिस केंद्र का लोकार्पण किया। माता मंगला के जन्मदिन के अवसर पर फाउंडेशन के...

गंगनहर को किया बंद, दीपावली पर छोड़ा जाएगा पानी

हरिद्वार। धर्मनगरी हरिद्वार से कानपुर तक जाने वाली उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग की गंगनहर को बीते रात से बंद कर दिया गया है। अब...

शहीदों के पार्थिव शरीर पहुंचे जॉलीग्रांट एयरपोर्ट, कैबिनेट मंत्री ने दी श्रद्धांजलि

देहरादून। जम्मू-कश्मीर के पुंछ में आतंकी हमले में उत्तराखंड के शहीद जवानों के पार्थिव शरीर हवाई जहाज से जॉलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंच चुके हैं। ऐसे...

भाजपा-कांग्रेस में चुनावी दांवपेंच की राजनीति शुरू

देहरादून। यशपाल आर्य की वापसी के बाद कांग्रेस और भाजपा में चुनावी दावपेंच की राजनीति शुरू हो गयी है। उत्तराखंड में कैबिनेट मंत्री हरक...

आईटीवीपी की पासिंग आउट परेड संपन्न, 38 जांबाज अफसरों ने ली शपथ

देहरादून। भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस अकादमी में 24 सप्ताह के कठोर प्रशिक्षण के बाद 38 असिस्टेंट कमांडेंट मेडिकल ऑफिसर के रूप में भारतीय तिब्बत...

शुभ प्रभात: जानिए, क्या कहते हैं आज़ आपके भाग्य के सितारे

आज़ का राशिफल: शनिवार, 16 अक्टूबर 2021 मेष (Aries)- आज के दिन ऊर्जावान रहते हुए, महत्वपूर्ण कामों में फोकस करें. कार्य में रुकावट मन को विचलित कर...

दशहरा पर हरिद्वार में नागा साधुओं ने किया शस्त्र पूजन

भैरव प्रकाश और सूर्य प्रकाश भालों का हुआ पूजन कुंभ में पेशवाई के आगे रहते हैं देव रूपी दोनों भाले हरिद्वार। आज दशहरा है। दशहरे के...

विसर्जन के साथ दुर्गा महोत्सव का समापन

भाव-विह्वल हुए भक्त अल्मोड़ा। सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा में दुर्गा महोत्सव का समापन हो गया है। 9 दिनों तक चले दुर्गा महोत्सव के बाद आज भव्य...

पेयजल ठेका कर्मचारियों की हड़ताल से खड़ा हुआ पानी का संकट

सबसे ज्यादा असर कुमांऊ मंडल में देहरादून। नैनीताल में अपनी 5 सूत्री मांगों को लेकर जल संस्थान के ठेका कार्य कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले...

22 नवंबर को बंद होंगे द्वितीय केदार श्री मध्यमहेश्वर के कपाट

तुंगनाथ के कपाट 30 अक्टूबर को होंगे बंद रुद्रप्रयाग। पंच केदारों के कपाट बंद होने की तिथियां घोषित हो गई हैं। द्वितीय केदार श्री मध्यमहेश्वर...