Sunday, November 28, 2021
Home धर्म-कर्म दशहरा पर हरिद्वार में नागा साधुओं ने किया शस्त्र पूजन

दशहरा पर हरिद्वार में नागा साधुओं ने किया शस्त्र पूजन

भैरव प्रकाश और सूर्य प्रकाश भालों का हुआ पूजन
कुंभ में पेशवाई के आगे रहते हैं देव रूपी दोनों भाले
हरिद्वार। आज दशहरा है। दशहरे के दिन आदि जगद्गुरु शंकराचार्य द्वारा स्थापित दशनामी संन्यासी परंपरा के नागा संन्यासी अखाड़ों में शस्त्र पूजन का विधान है। पिछले 2500 वर्षों से दशनामी संन्यासी परंपरा से जुड़े नागा संन्यासी इसी परंपरा का निर्वाह करते हुए अपने-अपने अखाड़ों में शस्त्र पूजन करते हैं। अखाड़ों में प्राचीन काल से रखे सूर्य प्रकाश और भैरव प्रकाश नामक भालों को देवता के रूप में पूजा जाता है। वैदिक विधि-विधान के साथ दशनामी संन्यासी इन देवता रूपी भालों की पूजा करते हैं।
इसी परंपरा का निर्वाह करते हुए आज दशहरे के रोज श्री पंचायती महानिर्वाणी अखाड़ा, कनखल में भैरव प्रकाश और सूर्य प्रकाश नामक भाले देवता के रूप में पूजे गए। इसके साथ ही आज के युग के हथियार और प्राचीन काल के कई प्रकार के हथियारों की पूजा मंत्रोच्चारण के साथ की गई।
भैरव प्रकाश और सूर्य प्रकाश देवता रूपी भाले कुंभ मेले के अवसर पर अखाड़ों की पेशवाई के आगे चलते हैं। इन भाला रूपी देवताओं को कुंभ में शाही स्नानों में सबसे पहले गंगा स्नान कराया जाता है। उसके बाद अखाड़ों के आचार्य महामंडलेश्वर, महामंडलेश्वर जमात के श्री महंत और अन्य नागा साधु स्नान करते हैं। विजयदशमी के अवसर पर अखाड़ों में शस्त्र पूजन का विशेष महत्व है।

आदि गुरु शंकराचार्य ने शुरू की थी परंपरा
श्री पंचायती महानिर्वाणी अखाड़ा के सचिव श्री महंत रवींद्र पुरी महाराज का कहना है कि दशहरे के दिन हम अपने देवताओं और शस्त्रों की पूजा करते हैं। आदि जगद्गुरु शंकराचार्य ने राष्ट्र की रक्षा के लिए शास्त्र और शस्त्र की परंपरा की स्थापना की थी। हमारे देवी-देवताओं के हाथों में भी शास्त्र-शस्त्र दोनों विराजमान हैं। विजयदशमी के दिन भगवान राम द्वारा रावण का वध किया गया। भारतीय परंपरा में शक्ति पूजन की विशेष परंपरा रही है। महानिर्वाणी अखाड़े की प्राचीन परंपरा के अनुसार अखाड़े के रमता पंच नागा संन्यासियों द्वारा शस्त्रों का पूजन किया गया। आदि गुरु शंकराचार्य द्वारा परंपरा शुरू की गई थी।

शास्त्र के साथ शस्त्र विद्या जरूरी
उन्होंने बताया कि सूर्य प्रकाश और भैरव प्रकाश हमारे भाले हैं। जिनको हम कुंभ मेले में स्नान कराते हैं। उनका पूजन किया जाता है और आज के जो शस्त्र हैं उनका भी पूजन किया जाता है। शंकराचार्य द्वारा संन्यासियों को शास्त्र और शस्त्र में निपुण बनाने के लिए अखाड़ों की स्थापना की गई थी। जिससे धर्म की रक्षा की जाए। जो संन्यासी शास्त्र में निपुण थे उनको शस्त्रों में भी आदि गुरु शंकराचार्य द्वारा निपुण किया गया। इसलिए शास्त्र के साथ शस्त्रों की पूजा भी आवश्यक है, क्योंकि बिना शक्ति के हम चल नहीं सकते हैं। वैसे भी वैदिक परंपरा में विधान रहा है कि किसी भी प्रकार का कोई युद्ध रहा है, उसमें बिन शस्त्र से लड़ा नहीं जा सकता।

RELATED ARTICLES

भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने किए बदरीनाथ धाम के दर्शन

चमोली। उत्तराखंड में अगले साल विधानसभा चुनाव होंने हैं। इसलिए इन दिनों नेताओं में मंदिर दर्शन की होड़ लगी हुई है। बीजेपी के राष्ट्रीय...

सदियों बाद धनतेरस से पहले आज बना धन वर्षा का शुभ मुहूर्त, खरीदारी से होगा शुभ लाभ

देहरादून। धनतेरस से पहले आज भी खरीदारी का योग बन रहा है। इसलिए मुहूर्त के अनुसार आप आज भी खरीदारी कर सकते हैं। 28...

केदारनाथ के कपाट 6 नवंबर को सुबह साढ़े आठ बजे बंद होंगे

रुद्रप्रयाग। देश-विदेश के करोड़ों भक्तों की आस्था का केंद्र भगवान केदारनाथ धाम के कपाट 6 नवम्बर को भैया दूज के दिन सुबह साढ़े आठ...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

शुभ प्रभात: जानिए, क्या कहते हैं आज़ आपके भाग्य के सितारे

आज़ का राशिफल: रविवार, 28 नवंबर 2021 मेष राशि :- आज का दिन मिला-जुला रहेगा। कार्यक्षेत्र में कामकाज की अधिकता रहेगी, जिससे थकान का अनुभव...

आवाज़: किसान सभा और सीटू का सचिवालय कूच, एमएसपी कानून बनाने की उठाई मांग

  संवाददाता देहरादून, 27 नवंबर। दिल्ली बॉर्डर पर धरने पर बैठे किसानों के समर्थन में उत्तराखंड किसान सभा  और सीटू कार्यकर्ताओं ने सचिवालय कूच किया ।...

दिपांशी के प्रतियोगिता में दूसरा स्थान पाने पर खुशी की लहर

देहरादून। कर्तव्य प्रोडक्शन हाउस द्वारा आयोजित मिस उत्तराखण्ड 2021 कल्चर वर्ल्ड प्रतियोगिता में दिपांशी सिंह के दूसरा स्थान ग्रहण करने पर हाथी बड़कला क्षेत्र...

ट्रेन की चपेट में आने से हाथी के बच्चे की मौत

हरिद्वार। राजाजी टाइगर रिजर्व की के मोतीचूर रेंज में बीते रात ट्रेन की चपेट में आने से हाथी के बच्चे की मौत हो गई।...

देवस्थानम बोर्ड के विरोध में तीर्थ पुरोहितों ने किया सचिवालय कूच

देहरादून। देवस्थानम बोर्ड को भंग किए जाने की मांग को लेकर तीर्थ पुरोहितो ने आज सचिवालय कूच किया। शनिवार को तीर्थ पुरोहित और हक-हकूकधारी यहां...

सैनिक कल्याण मंत्री ने 56 शहीद स्वजनों को किया सम्मानित

हल्द्वानी। शहीद सम्मान कार्यक्रम का आयोजन रामलीला मैदान में किया गया। जहां बड़ी संख्या में शहीदों के स्वजन पहुंचे हैं और उन्हें ताम्र पत्र...

कॉलेज में ऑडिटोरियम की छत पर चढ़े छात्र, आत्महत्या की दी चेतावनी

रुद्रपुर। महाविद्यालय में एमएससी का कोर्स शुरू न होने से नाराज छात्रों ने आज कॉलेज परिसर में जमकर हंगामा किया। इस दौरान दो छात्र...

कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवियर का करें पालनःसीएम धामी

देहरादून। प्रदेश की राजधानी दून में स्थित एफआरआई के 11 अधिकारियों के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। इसके...

मोबाइल लूट में दो शातिर गिरफ्तार

हरिद्वार। मोबाइल लूट के दो मामलों का खुलासा करते हुए पुलिस दो शातिरोें को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। लुटेरोें के कब्जे...

आर्या 2 का ट्रेलर रिलीज, शेरनी बनकर लौटीं सुष्मिता सेन

सुष्मिता सेन ने जब से वेब सीरीज आर्या 2 से अपना फर्स्ट लुक रिलीज किया था, तभी से इसके ट्रेलर को लेकर उत्सुकता बनी...