Home उत्तराखंड सदन से सीडीएस बिपिन रावत को दी भावभीनी श्रद्धांजलि

सदन से सीडीएस बिपिन रावत को दी भावभीनी श्रद्धांजलि


सत्तापक्ष व विपक्ष ने बिपिन रावत को किया याद
हेलिकॉप्टर दुर्घटना में हो गई थी मौत
देहरादून। उत्तराखंड विधानसभा का शीतकालीन सत्र आज से शुरू हुआ। शीतकालीन सत्र के पहले दिन विधानसभा में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका को श्रद्धांजलि दी गई। सदन में श्रद्धांजलि देते हुए शोक प्रस्ताव पढ़े गए। जिसके बाद सदन को शुक्रवार 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया है।
नेता सदन के साथ-साथ सभी सदस्यों ने अपनी श्रद्धांजलि सीडीएस बिपिन रावत को देते हुए उनकी स्मृतियों को याद किया। वहीं सीडीएस बिपिन रावत के निधन से देश के साथ ही प्रदेश में शोक की लहर है। गौर हो कि बुधवार को कुन्नूर में सेना के हेलिकॉप्टर क्रैश में बिपिन रावत की मौत हो गई। बिपिन रावत की मौत के बाद से ही देशभर में शोक की लहर है। हर कोई बिपिन रावत को अपनी-अपनी तरह से याद कर रहा है।
वहीं उत्तराखंड विधानसभा का शीतकालीन सत्र 2 दिन के लिए प्रस्तावित था। अचानक चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत के निधन के बाद एक दिन शोक प्रस्ताव के लिए रखा गया है और अब 3 दिन का विधानसभा सत्र होगा। इसी के चलते मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक ने आज सुबह प्रदेश कार्यालय पर सीडीएस बिपिन रावत को श्रद्धांजलि दी। साथ ही कई नेताओं ने उनके चित्र पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की।

बार-बार आंखों के सामने आ रहा सीडीएस का चेहराः धामी
मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि उनकी आंखों के सामने बार-बार सीडीएस बिपिन रावत का चेहरा आ रहा है। सीएम ने बिपिन रावत के निधन को अपूरणीय क्षति बताया। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया है। ब्ड धामी ने कहा कि सीडीएस बिपिन रावत पूर्व सैनिकों की बहुत चिंता करते थे। वो पूर्व सैनिकों के कल्याण की बात हर समय करते थे।
मीडिया से बात करते हुए उत्तराखंड भाजपा अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि सीडीएस बिपिन रावत का आकस्मिक निधन देश के लिए ही नहीं बल्कि उत्तराखंड के लिए भी बड़ी क्षति है। उन्होंने कहा कि जनरल बिपिन रावत को उनके कार्यों के लिए हमेशा याद किया जाएगा। जबकि बीजेपी पूरे प्रदेश में मंडल स्तर पर शोकसभा आयोजित कर सीडीएस बिपिन रावत को श्रद्धांजलि दे रही है।

देश के सैनिक सीडीएस को मानते है अपना आदर्शः पाण्डेय
शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने कहा कि हिंदुस्तान के सैनिक सीडीएस बिपिन रावत को अपना आइडल मानते थे। जवान सपना देखते थे कि वो सेना में जाएंगे तो बिपिन रावत जैसा जांबाज बनेंगे। पांडे ने कहा कि हमारे देश में पहले आतंकवादी जब-जहां चाहते थे वहां नरसंहार कर देते थे। सीडीएस बिपिन रावत ने आतंकवादियों को कड़ा सबक सिखाया।

 

हरक सिंह रावत बोलेः यादों में भी बसे थे बिपिन रावत
कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत ने भी सीडीएस बिपिन रावत से जुड़ी अपनी यादें ताजा कीं। उन्होंने कहा कि बिपिन रावत ने 1 सौ 25 करोड़ लोगों में से निकल कर देश की सेवा की थी। बिपिन रावत जांबाज अफसर थे। हरक ने यूपी के जमाने की बिपिन रावत के साथ की यादें भी साझा कीं। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड से निकल कर उन्होंने देश का सैन्य नेतृत्व किया। हरक सिंह रावत ने कहा कि मैं खुद सैन्य विज्ञान का छात्रा रहा हूं। बिपिन रावत का देश के लिए सैन्य योगदान बहुत बड़ा है।इसके साथ ही अन्य विधानसभा सदस्यों ने भी सीडीएस बिपिन रावत को श्रद्धांजलि अर्पित की। सभी ने बारी-बारी सीडीएस बिपिन रावत के साथ जुड़ी अपनी यादों को भावुकता के साथ सदन में साझा किया।

 

विपक्ष ने बिपिन का जाना बताया भारत व उत्तराखण्ड के लिए क्षति
उप नेता प्रतिपक्ष करन महरा ने कहा कि सीडीएस की कार्यकुशलता से हर कोई वाकिफ था और उनके जाने से पूरा देश दुखी है। उन्होंने कहा कि तमिलनाडु में कुन्नूर के पास हेलीकॉप्टर हादसे को लेकर एकाएक यकीन नहीं आया। उन्होंने कहा कि सेना के आधुनिकीकरण करने के क्षेत्र में ब्क्ै बिपिन रावत का विशेष हाथ रहा है और बिपिन रावत इस दिशा में काफी तेजी से कार्य कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भारत और उत्तराखंड के लिए यह बहुत बड़ी क्षति है। विशेषकर उत्तराखंड ने अपना सपूत खोया है।

 

सीडीएस को पौड़ी में अपने गांव से था विशेष लगाव
सीडीएस बिपिन रावत उत्तराखंड के रहने वाले थे। उनका जन्म पौड़ी गढ़वाल में हुआ था। सीडीएस बिपिन रावत पौड़ी, द्वारीखाल ब्लाक के सैंण गांव के मूल निवासी थे। जनरल रावत के घर तक पहुंचने के लिए एक किलोमीटर का पहाड़ी रास्ता पैदल तय करना पड़ता है। जनरल बिपिन रावत का परिवार दशकों पहले देहरादून शिफ्ट हो गया था, लेकिन उन्हें अपने पैतृक गांव सैंण से इतना लगाव था कि वह यहां आते-जाते रहते थे। गांव में उनके चाचा भरत सिंह रावत और उनका परिवार रहता है।

कई पीढ़ियों से सेना में सेवाएं दे रहा परिवार
सीडीएस बिपिन रावत के परिवार की कई पीढ़ियां सेना में सेवा दे चुकी हैं। उनके पिता लेफ्टिनेंट जनरल लक्ष्मण सिंह रावत थे। वे कई साल तक भारतीय सेना का हिस्सा रहे। जनरल बिपिन रावत इंडियन मिलिट्री एकेडमी और डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज में पढ़ चुके हैं।बताते चलें कि तमिलनाडु में कुन्नूर के पास बुधवार को हुए हेलीकॉप्टर हादसे में चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका का निधन हो गया। जानकारी के मुताबिक गुरुवार यानी आज शाम तक उनका पार्थिव शरीर दिल्ली लाया जाएगा। दोनों का अंतिम संस्कार शुक्रवार को दिल्ली छावनी में करने की बात कही गई है। बता दें, रावत के गृह राज्य उत्तराखंड में राज्य सरकार ने 3 दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है।

 

RELATED ARTICLES

मसूरी विधायक व कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी का जनसंपर्क अभियान जारी, जोशी की कार्यकर्ताओं से अपील कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए करें जनसंपर्क

देहरादून। मसूरी विधायक तथा कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी द्वारा आज कोठार गांव क्षेत्र में सीमित संख्या में कार्यकर्ताओं, जनप्रतिनिधियों एवं क्षेत्र के गणमान्य व्यक्तियों...

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक बाले अफवाहों पर ध्यान न दें, विधायक उमेश शर्मा काऊ, प्रदीप बत्रा और प्रणव चौंपियन भाजपा में है...

देहरादून । पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व केंद्रीय शिक्षा मंत्री सांसद हरिद्वार डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता आधारित दल है। लिहाजा पार्टी से...

खुद का नहीं तो पत्नी को टिकट दिलाने की कोशिश में जुटे विधायक कर्णवाल : डाला दिल्ली में डेरा

रुड़की। झबरेड़ा से टिकट बचाने के लिए भाजपा के सीटिंग विधायक देशराज कर्णवाल ने दिल्ली में डेरा डाल दिया है। पार्टी ने उन्हें भगवानपुर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

मसूरी विधायक व कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी का जनसंपर्क अभियान जारी, जोशी की कार्यकर्ताओं से अपील कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए करें जनसंपर्क

देहरादून। मसूरी विधायक तथा कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी द्वारा आज कोठार गांव क्षेत्र में सीमित संख्या में कार्यकर्ताओं, जनप्रतिनिधियों एवं क्षेत्र के गणमान्य व्यक्तियों...

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक बाले अफवाहों पर ध्यान न दें, विधायक उमेश शर्मा काऊ, प्रदीप बत्रा और प्रणव चौंपियन भाजपा में है...

देहरादून । पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व केंद्रीय शिक्षा मंत्री सांसद हरिद्वार डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता आधारित दल है। लिहाजा पार्टी से...

18 जनवरी यादगार दिवस पर विशेष

परमात्म अनुभूति कराते थे ब्रह्मा बाबा! डा0 श्रीगोपालनारसन एडवोकेट ब्रहमाबाबा जिनका वास्तविक नाम दादा लेखराज था,ने देश ही नही दुनिया को ईश्वरीय अनुभूति का बोध कराया।...

शुभ प्रभात: जानिए, क्या कहते हैं आज़ आपके भाग्य के सितारे

आज़ का राशिफल: मंगलवार, 18 जनवरी 2022 मेष- आज का दिन सामान्य रहेगा। व्यावसायिक क्षेत्र में सफलता मिलेगी और धनलाभ की स्थिति रहेगी, लेकिन अनावश्यक...

खुद का नहीं तो पत्नी को टिकट दिलाने की कोशिश में जुटे विधायक कर्णवाल : डाला दिल्ली में डेरा

रुड़की। झबरेड़ा से टिकट बचाने के लिए भाजपा के सीटिंग विधायक देशराज कर्णवाल ने दिल्ली में डेरा डाल दिया है। पार्टी ने उन्हें भगवानपुर...

कोरोना आज: 3295 नए मामलों के साथ ही 04 मरीजों की हुई मौत

देहरादून। उत्तराखंड में वैश्विक महामारी कोविड-19 का कहर जारी है। आज राज्य के सभी 13 जनपदों में कोरोना वायरस के 3295 नये मामले सामने...

त्रिवेंद्र सिंह रावत से भिड़ने वाली शिक्षिका ने थामा यूकेडी का दामन 

अर्जुन सिंह इंडिया टाइम्स: रविवार को उत्तराखंड क्रांति दल संसदीय बोर्ड अध्यक्ष के नेतृत्व में उतरा पन्त बहुगुणा ने दल का दामन थामने पर...

प्रेशर पॉलिटिक्स के महारथी अब खुद हुए अंडर प्रेशर

देहरादून। कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत के भाजपा से 6 साल के लिए बर्खास्त होने के बाद देहरादून से लेकर दिल्ली तक यही चर्चा...

दल-बदल: महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य भाजपा में हुई शामिल

  उत्तराखंड के राजनीतिक की बड़ी खबर देहरादून, 17 जनवरी। उत्तराखंड महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य पहुंची बीजेपी प्रदेश कार्यालय में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन...

जॉगिंग की शुरूआत करने वाले हैं तो इन बातों का रखें ध्यान

जॉगिंग एक तरह की एक्सरसाइज है, जिसमें व्यक्ति को धीमी गति में दौडऩा होता है। इस एक्सरसाइज को रोजाना करने से आपको कई तरह...