Home उत्तराखंड अच्छी खबर: अब अंतरिक्ष एवं भौगोलिक सूचना प्रणाली तथा ग्लेशियरों की होगी...

अच्छी खबर: अब अंतरिक्ष एवं भौगोलिक सूचना प्रणाली तथा ग्लेशियरों की होगी निगरानी

 

आईआईआरएस एवं राज्य आपदा प्राधिकरण के मध्य हुए दो समझौते

आपदा प्रबंधन से जुडे अधिकारियों एवं कार्मिकों को मिलेगा प्रशिक्षण

वी.पी. सिंह बिष्ट
देहरादून, 11 नवम्बर।

भारतीय सुदूर संवेदन संस्थान (आईआईआरएस) देहरादून एवं उत्तराखंड राज्य आपदा प्राधिकरण (यूएसडीएमए) के मध्य दो महत्वपूर्ण समझौते (एमआयू) हुए। इनके तहत भारतीय सुदूर संस्थान देहरादून द्वारा अंतरिक्ष तथा भौगोलिक सूचना प्रणाली के तहत होने वाले सतत विकास से संबंधी गतिविधियों को लेकर आपदा प्रबंधन के अधिकारियों एवं कार्मिकों को प्रशिक्षित करेगा तथा हिमालयी क्षेत्रों में अवस्थित ग्लेशियरों, हिमस्खलन, भू-स्खलन इत्यादि खतरों की सेटेलाइट के माध्यम से सतत निगरानी कर संभावित खतरों से पूर्व राज्य को सूचना उपलब्ध करायेगा।

आईआईआरएस देहरादून के परिसर में आयोजित समझौता कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि सूबे के आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास मंत्री डॉ. धन सिंह रावत ने कहा कि भारतीय सुदूर संवेदन संस्थान के साथ आज किये गये समझौते आने वाले समय में राज्य के लिए महत्वपूर्ण साबित होंगे। उन्होंने कहा कि राज्य में आने वाली विभिन्न आपदाओं एवं अन्य चुनौतियों से निपटने में संस्थान का तकनीकी सहयोग एवं प्रशिक्षण लाभकारी साबित होगा। विभागीय मंत्री ने भरोसा दिलाया कि भविष्य में आपदा प्राधिकरण आईआईआरएस के साथ मिलकर आपदा के क्षेत्र में और भी जन उपयोगी कार्य करेगा जिसके लिए शीघ्र ही कार्य योजना तैयार कर पुनः एक कार्यशाला का आयोजन किया जायेगा। कार्यक्रम में संस्थान के निदेशक डॉ. प्रकाश चौहान ने संस्थान द्वारा हिमालयी क्षेत्रों पर किये गये विभिन्न अध्ययनों का प्रस्तुतिकरण देते हुए पूर्व में केदारनाथ एवं उत्तरकाशी जिले में आई आपदाओं का सेटेलाइट तस्वीरों के साथ विश्लेषण किया। उन्होंने बताया कि संस्थान द्वारा वर्तमान में भी सेटेलाइट के माध्यम से हिमालयी क्षेत्रों में बनने वाली झीलों, हिमस्खलन एवं भू-स्खलन पर बराबर नजर रखी जा रही है। जिसकी सूचना एकत्रित होते ही भारत सरकार एवं राज्य सरकार को उपलब्ध करा दी जाती है। सचिव आपदा प्रबंधन एस.ए. मुरूगेशन ने संस्थान के साथ आज किये गये दो समझौता ज्ञापनों का विवरण देते हुए भविष्य में भी आपदा प्रबंधन के क्षेत्र में मिलकर कार्य करने की बात कही। उन्होंने सुदूरवर्ती तकनीकी को आपदा पूर्व तैयारियों के लिए महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने बताया कि संस्थान के माध्यम से आपदा प्राधिकरण द्वारा पूर्व में तैयार किये गये भौगोलिक सूचना प्रणाली पर आधारित उत्पाद पर कार्मिकों को प्रशिक्षित किया जायेगा। जिससे आपदा पूर्व तैयारियों के कार्यों में दक्षता हासिल हो पायेगी।

आपदा प्रबंधन एवं पुनर्वास मंत्री डॉ. धन सिंह रावत का कहना है कि भारतीय सुदूर संवेदन संस्थान एवं राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के मध्य हुए दो महत्वपूर्ण समझौते भविष्य के लिए राज्य में विभिन्न आपदाओं से निपटने में वरदान साबित होंगे। भारतीय सुदूर संवेदन संस्थान द्वारा प्रदत्त सुझाव व तकनीकी सहयोग आपदा प्रबंधन विभाग को और दक्ष बनायेगा।

समझौता कार्यक्रम में आईआईआरएस देहरादून के डीन डॉ. एस.के. श्रीवास्तव, डॉ. अरिजीत राय, डॉ. हरिशंकर, डॉ. आर.एस. चटर्जी, अपर सचिव आनंद श्रीवास्तव, जितेन्द्र सोनकर, भाजपा नेता मयंक गुप्ता, डॉ. गिरीश जोशी, डॉ. पीयूष रौतेला, राहुल जगुराण तथा यूएसडीएमए के अधिकारी उपस्थित रहे।

 

 

 

RELATED ARTICLES

मसूरी विधायक व कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी का जनसंपर्क अभियान जारी, जोशी की कार्यकर्ताओं से अपील कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए करें जनसंपर्क

देहरादून। मसूरी विधायक तथा कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी द्वारा आज कोठार गांव क्षेत्र में सीमित संख्या में कार्यकर्ताओं, जनप्रतिनिधियों एवं क्षेत्र के गणमान्य व्यक्तियों...

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक बाले अफवाहों पर ध्यान न दें, विधायक उमेश शर्मा काऊ, प्रदीप बत्रा और प्रणव चौंपियन भाजपा में है...

देहरादून । पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व केंद्रीय शिक्षा मंत्री सांसद हरिद्वार डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता आधारित दल है। लिहाजा पार्टी से...

खुद का नहीं तो पत्नी को टिकट दिलाने की कोशिश में जुटे विधायक कर्णवाल : डाला दिल्ली में डेरा

रुड़की। झबरेड़ा से टिकट बचाने के लिए भाजपा के सीटिंग विधायक देशराज कर्णवाल ने दिल्ली में डेरा डाल दिया है। पार्टी ने उन्हें भगवानपुर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest Post

मसूरी विधायक व कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी का जनसंपर्क अभियान जारी, जोशी की कार्यकर्ताओं से अपील कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए करें जनसंपर्क

देहरादून। मसूरी विधायक तथा कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी द्वारा आज कोठार गांव क्षेत्र में सीमित संख्या में कार्यकर्ताओं, जनप्रतिनिधियों एवं क्षेत्र के गणमान्य व्यक्तियों...

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक बाले अफवाहों पर ध्यान न दें, विधायक उमेश शर्मा काऊ, प्रदीप बत्रा और प्रणव चौंपियन भाजपा में है...

देहरादून । पूर्व मुख्यमंत्री एवं पूर्व केंद्रीय शिक्षा मंत्री सांसद हरिद्वार डॉ. रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता आधारित दल है। लिहाजा पार्टी से...

18 जनवरी यादगार दिवस पर विशेष

परमात्म अनुभूति कराते थे ब्रह्मा बाबा! डा0 श्रीगोपालनारसन एडवोकेट ब्रहमाबाबा जिनका वास्तविक नाम दादा लेखराज था,ने देश ही नही दुनिया को ईश्वरीय अनुभूति का बोध कराया।...

शुभ प्रभात: जानिए, क्या कहते हैं आज़ आपके भाग्य के सितारे

आज़ का राशिफल: मंगलवार, 18 जनवरी 2022 मेष- आज का दिन सामान्य रहेगा। व्यावसायिक क्षेत्र में सफलता मिलेगी और धनलाभ की स्थिति रहेगी, लेकिन अनावश्यक...

खुद का नहीं तो पत्नी को टिकट दिलाने की कोशिश में जुटे विधायक कर्णवाल : डाला दिल्ली में डेरा

रुड़की। झबरेड़ा से टिकट बचाने के लिए भाजपा के सीटिंग विधायक देशराज कर्णवाल ने दिल्ली में डेरा डाल दिया है। पार्टी ने उन्हें भगवानपुर...

कोरोना आज: 3295 नए मामलों के साथ ही 04 मरीजों की हुई मौत

देहरादून। उत्तराखंड में वैश्विक महामारी कोविड-19 का कहर जारी है। आज राज्य के सभी 13 जनपदों में कोरोना वायरस के 3295 नये मामले सामने...

त्रिवेंद्र सिंह रावत से भिड़ने वाली शिक्षिका ने थामा यूकेडी का दामन 

अर्जुन सिंह इंडिया टाइम्स: रविवार को उत्तराखंड क्रांति दल संसदीय बोर्ड अध्यक्ष के नेतृत्व में उतरा पन्त बहुगुणा ने दल का दामन थामने पर...

प्रेशर पॉलिटिक्स के महारथी अब खुद हुए अंडर प्रेशर

देहरादून। कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत के भाजपा से 6 साल के लिए बर्खास्त होने के बाद देहरादून से लेकर दिल्ली तक यही चर्चा...

दल-बदल: महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य भाजपा में हुई शामिल

  उत्तराखंड के राजनीतिक की बड़ी खबर देहरादून, 17 जनवरी। उत्तराखंड महिला कांग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष सरिता आर्य पहुंची बीजेपी प्रदेश कार्यालय में बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष मदन...

जॉगिंग की शुरूआत करने वाले हैं तो इन बातों का रखें ध्यान

जॉगिंग एक तरह की एक्सरसाइज है, जिसमें व्यक्ति को धीमी गति में दौडऩा होता है। इस एक्सरसाइज को रोजाना करने से आपको कई तरह...