आयोजन: हरेला जैसी विरासत को भावी पीढ़ी के लिये भी सहेज के रखना होगा- ज्योति रौतेला

आयोजन: हरेला जैसी विरासत को भावी पीढ़ी के लिये भी सहेज के रखना होगा- ज्योति रौतेला
Spread the love

 

देहरादून। मनोरमा डोबरियाल शर्मा मैमोरियल फाउंडेशन व काफल चैप्टर ऑफ गढ़वाल द्वारा संयुक्त रूप से श्री पंचायती मन्दिर में हरेला महोत्सव के मनाया गया। प्रदेश कांग्रेस महिला अध्यक्ष ज्योति रौतेला व मनोरमा डोबरियाल शर्मा मैमोरियल फाउंडेशन की अध्यक्ष एव॔ काफल चैप्टर ऑफ गढ़वाल की संयोजक आशा मनोरमा डोबरियाल शर्मा द्वारा संयुक्त रुप से हरियाली की पूजा अर्चना की गई। इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस महिला अध्यक्ष ज्योति रौतेला ने कहा कि हरेला हमारी परम्परा, हमारी संस्कृति की प्रतीक है। मॉ नंदा देवी के मायके से जुड़ी हमारी परम्पराओं को इससे जोड़कर देखा जाता है। उत्तराखंड में विवाहित बेटियों को  मायके से खुशहाली के रूप में हरियाली भेजने की परम्परा है, शिव-पार्वती के रूप में भी ये परम्परा विद्यमान रही है। उन्होंने राज्य की जनता को हरेला महसोत्सव व घी संक्राद की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हमें अपने राज्य की इस प्राकृतिक व सांस्कृतिक विरासत को अपनी आने वाली पीढ़ी के  लिये भी सहेज के रखना है। अपनी प्राकृतिक व सांस्कृतिक विविधता के संवर्द्धन व सुवर्धन के लिये भी प्रयास करना है। फाउंडेशन की अध्यक्ष व काफल चैप्टर ऑफ गढ़वाल की संयोजक आशा मनोरमा डोबरियाल शर्मा ने सभी को हरेला की शुभकामना देते हुए बताया कि आज घी संक्राद भी है। उन्होंने राज्य के सब लोगों को हरेला महोत्सव व घी संक्राद की शुभकामनाएं दीं।
इस अवसर पर हरियाली की पूजा अर्चना के बाद झंगोरे की खीर व मंडुवे की पकौड़ी  प्रसाद के रूप में वितरित की गई। कार्यक्रम में पार्षद उर्मिला थापा, नजमा खान, कौशल्या देवी, रेखा डिंगरा, अनुराधा तिवारी, सुमन काला, बाला शर्मा, उमा देवी, कुलदीप प्रसाद, हरीश नागपाल, दीपक बसंल, गब्बर सिंह बिष्ट, बबिता सिंह, राजेश भटट् व गौरव आदि उपस्थित रहे।

 

Parvatanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published.