Saturday, October 16, 2021
Home धर्म-कर्म शारदीय नवरात्रि शुरू, मंदिरों में उमड़े श्रद्धालु,पहले दिन पूजी गयी शैलपुत्री

शारदीय नवरात्रि शुरू, मंदिरों में उमड़े श्रद्धालु,पहले दिन पूजी गयी शैलपुत्री

देहरादून। शारदीय नवरात्रि गुरूवार से शुरू हो गए है। नवरात्रि में नौ दिनों तक मां भगवती के अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है। पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा की गयी।
शारदीय नवरात्रि 7 अक्टूबर से शुरू हो गए है। नवरात्रि के पहले दिन मां के मठ-मंदिरों में भक्तों का तांता सुबह से ही दिखने को मिला। इसके अलावा मठ-मंदिरों के आसपास की दुकानें सजीं रही। भारी संख्या में भक्त मंदिरों में पहुंच भगवती मां की पूजा अर्चना के लिए पहंुचें, जिन्होंने सोशल डिस्टेंसिंग के साथ पूजा-अर्चना की।
नवरात्रि में नौ दिनों तक मां भगवती के अलग-अलग रूपों की पूजा की जाती है। पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा होती है। मां शैलपुत्री को पर्वतराज हिमालय की पुत्री माना जाता है। मान्यता है कि मां शैलपुत्री की जो श्रद्धालु सच्चे मन से उपासना करता है, उसकी सारी मुराद पूरी होती है।
नवरात्रि में नौ दिन भी व्रत रख सकते हैं और दो दिन भी. जो लोग नौ दिन व्रत रखेंगे वो लोग दशमी को पारायण करेंग। और जो लोग प्रतिपदा और अष्टमी को व्रत रखेंगे वो लोग नवमी को पारायण करेंगे। व्रत के दौरान जल और फल का सेवन करें। ज्यादा तला भुना और गरिष्ठ आहार ग्रहण न करें। अगर आप भी नवरात्रि के व्रत रखने के इच्‍छुक हैं, तो व्रत रखन के लिए इन नियमों का पालन करना चाहिए।
नवरात्रि के पहले दिन कलश स्थापना कर नौ दिनों तक व्रत रखने का संकल्‍प लें। पूरी श्रद्धा भक्ति से मां की पूजा करें। दिन के समय आप फल और दूध ले सकते हैं। शाम के समय मां की आरती उतारें। सभी में प्रसाद बांटें और फिर खुद भी ग्रहण करें। फिर भोजन ग्रहण करें। हो सके तो इस दौरान अन्‍न न खाएं, सिर्फ फलाहार ग्रहण करें। अष्टमी या नवमी के दिन नौ कन्याओं को भोजन कराएं। उन्हें उपहार और दक्षिणा दें.अगर संभव हो तो हवन के साथ नवमी के दिन व्रत का पारण करें।

RELATED ARTICLES

गंगनहर को किया बंद, दीपावली पर छोड़ा जाएगा पानी

हरिद्वार। धर्मनगरी हरिद्वार से कानपुर तक जाने वाली उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग की गंगनहर को बीते रात से बंद कर दिया गया है। अब...

दशहरा पर हरिद्वार में नागा साधुओं ने किया शस्त्र पूजन

भैरव प्रकाश और सूर्य प्रकाश भालों का हुआ पूजन कुंभ में पेशवाई के आगे रहते हैं देव रूपी दोनों भाले हरिद्वार। आज दशहरा है। दशहरे के...

22 नवंबर को बंद होंगे द्वितीय केदार श्री मध्यमहेश्वर के कपाट

तुंगनाथ के कपाट 30 अक्टूबर को होंगे बंद रुद्रप्रयाग। पंच केदारों के कपाट बंद होने की तिथियां घोषित हो गई हैं। द्वितीय केदार श्री मध्यमहेश्वर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

गंगनहर को किया बंद, दीपावली पर छोड़ा जाएगा पानी

हरिद्वार। धर्मनगरी हरिद्वार से कानपुर तक जाने वाली उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग की गंगनहर को बीते रात से बंद कर दिया गया है। अब...

शहीदों के पार्थिव शरीर पहुंचे जॉलीग्रांट एयरपोर्ट, कैबिनेट मंत्री ने दी श्रद्धांजलि

देहरादून। जम्मू-कश्मीर के पुंछ में आतंकी हमले में उत्तराखंड के शहीद जवानों के पार्थिव शरीर हवाई जहाज से जॉलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंच चुके हैं। ऐसे...

भाजपा-कांग्रेस में चुनावी दांवपेंच की राजनीति शुरू

देहरादून। यशपाल आर्य की वापसी के बाद कांग्रेस और भाजपा में चुनावी दावपेंच की राजनीति शुरू हो गयी है। उत्तराखंड में कैबिनेट मंत्री हरक...

आईटीवीपी की पासिंग आउट परेड संपन्न, 38 जांबाज अफसरों ने ली शपथ

देहरादून। भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस अकादमी में 24 सप्ताह के कठोर प्रशिक्षण के बाद 38 असिस्टेंट कमांडेंट मेडिकल ऑफिसर के रूप में भारतीय तिब्बत...

शुभ प्रभात: जानिए, क्या कहते हैं आज़ आपके भाग्य के सितारे

आज़ का राशिफल: शनिवार, 16 अक्टूबर 2021 मेष (Aries)- आज के दिन ऊर्जावान रहते हुए, महत्वपूर्ण कामों में फोकस करें. कार्य में रुकावट मन को विचलित कर...

दशहरा पर हरिद्वार में नागा साधुओं ने किया शस्त्र पूजन

भैरव प्रकाश और सूर्य प्रकाश भालों का हुआ पूजन कुंभ में पेशवाई के आगे रहते हैं देव रूपी दोनों भाले हरिद्वार। आज दशहरा है। दशहरे के...

विसर्जन के साथ दुर्गा महोत्सव का समापन

भाव-विह्वल हुए भक्त अल्मोड़ा। सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा में दुर्गा महोत्सव का समापन हो गया है। 9 दिनों तक चले दुर्गा महोत्सव के बाद आज भव्य...

पेयजल ठेका कर्मचारियों की हड़ताल से खड़ा हुआ पानी का संकट

सबसे ज्यादा असर कुमांऊ मंडल में देहरादून। नैनीताल में अपनी 5 सूत्री मांगों को लेकर जल संस्थान के ठेका कार्य कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले...

22 नवंबर को बंद होंगे द्वितीय केदार श्री मध्यमहेश्वर के कपाट

तुंगनाथ के कपाट 30 अक्टूबर को होंगे बंद रुद्रप्रयाग। पंच केदारों के कपाट बंद होने की तिथियां घोषित हो गई हैं। द्वितीय केदार श्री मध्यमहेश्वर...

चारोंधाम के कपाट शीत कालीन के लिए बंद करने के लिए तिथि घोषित

6 नवंबर को बंद होंगे बाबा केदार व यमुनोत्री धाम के कपाट गंगोत्री के कपाट 5 नवंबर को बंद होंगे 20 नवंबर को संपन्न होगी बदरीनाथ...