Saturday, October 16, 2021
Home धर्म-कर्म दो टूक: नहीं होगा देवस्थानम बोर्ड भंग,सिर्फ आपत्तियों पर होगी सुनवाई

दो टूक: नहीं होगा देवस्थानम बोर्ड भंग,सिर्फ आपत्तियों पर होगी सुनवाई

ऋषिकेश। देवस्थानम बोर्ड को लेकर लगातार पंडा समाज का विरोध झेल रही सरकार ने साफ कर दिया है कि किसी भी कीमत पर देवस्थानम बोर्ड को भंग नहीं किया जाएगा। बोर्ड के एक्ट में लिखी गई अगर किसी धारा से पंडा समाज को आपत्ति है, तो उसका निस्तारण किया जाएगा। आपत्तियां दर्ज करने के लिए सरकार की ओर से बनाई गई उच्च स्तरीय समिति के अध्यक्ष मनोहरकांत ध्यानी ने प्रेस वार्ता कर यह जानकारी दी है।
मनोहरकांत ध्यानी ने साफ कहा कि देवस्थानम बोर्ड के एक्ट को किसी ने भी सही तरीके से नहीं पढ़ा है। इसलिए कुछ राजनीतिज्ञों के इशारे पर पंडा समाज विरोध कर रहा है। एक्ट में किसी भी हकहकूक धारी का हक छीनने का जिक्र नहीं है। देवस्थानम बोर्ड यात्रियों की सुविधा के लिए बनाया गया है। उन्होंने बताया कि विरोध करने वाली समितियों को आपत्तियां दर्ज करने के लिए बुलाया है। जल्द ही वह आपत्तियां लेकर उनका निस्तारण करेंगे और अपनी रिपोर्ट सरकार को देंगे। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि यदि आप कोई घर बनाते हैं और उसमें कुछ कमियां होती हैं, तो उसे सुधारने की कोशिश की जाती है न कि घर को तोड़कर जमींदोज कर दिया जाता है। उसी तरह देवस्थानम बोर्ड के एक्ट की किसी धारा में यदि पंडा समाज को आपत्ति है, तो वह अपनी आपत्ति दर्ज करा कर उसका निस्तारण सरकार से कराएं। यह तो समझने वाली बात है। मगर बोर्ड को ही भंग करने की मांग जायज नहीं है। उत्तराखंड सरकार ने साल 2019 में विश्व विख्यात चारधाम समेत प्रदेश के अन्य 51 मंदिरों को एक बोर्ड के अधीन लाने को लेकर उत्तराखंड चारधाम देवस्थानम प्रबंधन बोर्ड का गठन किया। बोर्ड के गठन के बाद से ही लगातार धामों से जुड़े तीर्थ पुरोहित और हक-हकूकधारी इसका विरोध कर रहे हैं। बावजूद इसके तत्कालीन मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने तीर्थ पुरोहितों के विरोध को दरकिनार करते हुए चारधाम देवस्थानम बोर्ड को लागू किया था।

RELATED ARTICLES

गंगनहर को किया बंद, दीपावली पर छोड़ा जाएगा पानी

हरिद्वार। धर्मनगरी हरिद्वार से कानपुर तक जाने वाली उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग की गंगनहर को बीते रात से बंद कर दिया गया है। अब...

दशहरा पर हरिद्वार में नागा साधुओं ने किया शस्त्र पूजन

भैरव प्रकाश और सूर्य प्रकाश भालों का हुआ पूजन कुंभ में पेशवाई के आगे रहते हैं देव रूपी दोनों भाले हरिद्वार। आज दशहरा है। दशहरे के...

22 नवंबर को बंद होंगे द्वितीय केदार श्री मध्यमहेश्वर के कपाट

तुंगनाथ के कपाट 30 अक्टूबर को होंगे बंद रुद्रप्रयाग। पंच केदारों के कपाट बंद होने की तिथियां घोषित हो गई हैं। द्वितीय केदार श्री मध्यमहेश्वर...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

माता मंगला के जन्मदिन पर उत्तराखंड को सौगात, सीएम ने किया डायलिसिस केंद्र का लोकार्पण

देहरादून। सीएम पुष्कर सिंह धामी ने मोहकमपुर में हंस फाउंडेशन डायलिसिस केंद्र का लोकार्पण किया। माता मंगला के जन्मदिन के अवसर पर फाउंडेशन के...

गंगनहर को किया बंद, दीपावली पर छोड़ा जाएगा पानी

हरिद्वार। धर्मनगरी हरिद्वार से कानपुर तक जाने वाली उत्तर प्रदेश सिंचाई विभाग की गंगनहर को बीते रात से बंद कर दिया गया है। अब...

शहीदों के पार्थिव शरीर पहुंचे जॉलीग्रांट एयरपोर्ट, कैबिनेट मंत्री ने दी श्रद्धांजलि

देहरादून। जम्मू-कश्मीर के पुंछ में आतंकी हमले में उत्तराखंड के शहीद जवानों के पार्थिव शरीर हवाई जहाज से जॉलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंच चुके हैं। ऐसे...

भाजपा-कांग्रेस में चुनावी दांवपेंच की राजनीति शुरू

देहरादून। यशपाल आर्य की वापसी के बाद कांग्रेस और भाजपा में चुनावी दावपेंच की राजनीति शुरू हो गयी है। उत्तराखंड में कैबिनेट मंत्री हरक...

आईटीवीपी की पासिंग आउट परेड संपन्न, 38 जांबाज अफसरों ने ली शपथ

देहरादून। भारतीय तिब्बत सीमा पुलिस अकादमी में 24 सप्ताह के कठोर प्रशिक्षण के बाद 38 असिस्टेंट कमांडेंट मेडिकल ऑफिसर के रूप में भारतीय तिब्बत...

शुभ प्रभात: जानिए, क्या कहते हैं आज़ आपके भाग्य के सितारे

आज़ का राशिफल: शनिवार, 16 अक्टूबर 2021 मेष (Aries)- आज के दिन ऊर्जावान रहते हुए, महत्वपूर्ण कामों में फोकस करें. कार्य में रुकावट मन को विचलित कर...

दशहरा पर हरिद्वार में नागा साधुओं ने किया शस्त्र पूजन

भैरव प्रकाश और सूर्य प्रकाश भालों का हुआ पूजन कुंभ में पेशवाई के आगे रहते हैं देव रूपी दोनों भाले हरिद्वार। आज दशहरा है। दशहरे के...

विसर्जन के साथ दुर्गा महोत्सव का समापन

भाव-विह्वल हुए भक्त अल्मोड़ा। सांस्कृतिक नगरी अल्मोड़ा में दुर्गा महोत्सव का समापन हो गया है। 9 दिनों तक चले दुर्गा महोत्सव के बाद आज भव्य...

पेयजल ठेका कर्मचारियों की हड़ताल से खड़ा हुआ पानी का संकट

सबसे ज्यादा असर कुमांऊ मंडल में देहरादून। नैनीताल में अपनी 5 सूत्री मांगों को लेकर जल संस्थान के ठेका कार्य कर्मचारी अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले...

22 नवंबर को बंद होंगे द्वितीय केदार श्री मध्यमहेश्वर के कपाट

तुंगनाथ के कपाट 30 अक्टूबर को होंगे बंद रुद्रप्रयाग। पंच केदारों के कपाट बंद होने की तिथियां घोषित हो गई हैं। द्वितीय केदार श्री मध्यमहेश्वर...