Sunday, November 28, 2021
Home स्वास्थ्य एम्स: टेस्ट ट्यूब बेबी तकनीक शुरू, गायनी विभाग में इन विट्रो फर्टिलाइजेशन...

एम्स: टेस्ट ट्यूब बेबी तकनीक शुरू, गायनी विभाग में इन विट्रो फर्टिलाइजेशन सेंटर स्थापित

संतान से वंचित माता-पिता को मिलेगा लाभ
इस सुविधा को शुरू करने वाला ’एम्स’ राज्य का पहला सरकारी स्वास्थ्य संस्थान
   सत्येंद्र सिंह चौहान
 ऋषिकेश, 11अक्टूबर। एम्स ऋषिकेश में अब इन विट्रो फर्टिलाइजेशन सेंटर (आईवीएफ) सुविधा शुरू कर दी गई है। स्वास्थ्य सुविधाओं के क्षेत्र में इस नई उपलब्धि के शुरू होने से उन परिवारों को सीधे तौर पर लाभ मिलेगा, जिन दंपतियों के शारीरिक कमी की वजह से बच्चे नहीं हो पाते हैं। इस सुविधा के शुरू होने से अब बांझपन का दंश झेल रहे लोगों की समस्या का समाधान हो सकेगा। इसके साथ ही उत्तराखंड में एम्स, ऋषिकेश पहला सरकारी स्वास्थ्य संस्थान बन गया है जहां यह सुविधा शुरू की गई है।
गौरतलब है कि इन विट्रो फर्टिलाइजेशन (आईवीएफ) एक सहायक प्रजनन तकनीक है, जहां भ्रूण के उत्पादन के लिए एक प्रयोगशाला में एक अंडे को शुक्राणु के साथ जोड़ा जाता है। इस प्रक्रिया में एक महिला रोगी के अंडाशय को हार्माेनल दवाओं के साथ उत्तेजित करना, अंडाशय (डिंब पिकअप) से अंडों को निकालना और शुक्राणु को एक प्रयोगशाला में एक विशेष तकनीक के माध्यम से उन्हें निषेचित करना शामिल है। निषेचित अंडे (जाइगोट) के 2 से 5 दिनों के लिए भ्रूण संवर्धन से गुजरने के बाद, इसे एक सफल गर्भावस्था की स्थापना के लिए उसी या किसी अन्य महिला के गर्भाशय में डाला जाता है। इस तकनीक का उपयोग महिलाओं में बांझपन के प्रमुख कारणों (ट्यूबल क्षति, एंडोमेट्रियोसिस, खराब डिम्बग्रंथि रिजर्व, पीसीओएस आदि) या पुरुष कारक (असामान्य वीर्य पैरामीटर आदि) या दोनों वाले जोड़ों में किया जाता है।
 एम्स ऋषिकेश के निदेशक और सीईओ प्रोफेसर अरविंद रघुवंशी ने संस्थान के गायनी विभाग में आईवीएफ सेंटर का विधिवत उद्घाटन किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि देश में कई दंपति बांझपन की समस्या से जूझ रहे हैं। जो महिलाएं बांझपन की समस्या से ग्रसित हैं, उन्हें सामाजिक कलंक, वर्जना और मानसिक प्रभावों का भी सामना करना पड़ता है। उन्होंने कहा कि एम्स ऋषिकेश में आईवीएफ केंद्र खुलने से उत्तराखंड और आसपास के शहरों में रहने वाले ऐसे सभी लोगों को लाभ मिल सकेगा जो संतान सुख से वंचित हैं और इस सुविधा से माता-पिता का सुख प्राप्त करना चाहते हैं।
डीन एकेडेमिक प्रोफेसर मनोज गुप्ता ने कहा कि इस सुविधा को शुरू करने वाला एम्स अस्पताल स्वास्थ्य क्षेत्र में राज्य का पहला सरकारी संस्थान है। उन्होंने कहा कि क्योंकि अभी तक यह बेहद जटिल और महंगा इलाज हुआ करता था, इसलिए अब एम्स ऋषिकेश में शुरू की गई इस सुविधा से मध्यम वर्ग के दंपति भी अपना उपचार करा सकेंगे।
मेडिकल सुपरिटेंडेंट प्रोफेसर अश्वनी कुमार दलाल ने कहा कि आज के दौर में ऐसे मेरीड कपल्स की संख्या ज्यादा बढ़ रही है जिनकी अपनी कोई संतान नहीं है। इस सुविधा से पुरुष बांझपन और महिला बांझपन दोनों की समस्याओं का निदान संभव है।
प्रसूति और स्त्री रोग विभाग की प्रमुख तथा एम्स के आईवीएफ केंद्र की प्रभारी प्रोफेसर जया चतुर्वेदी ने इस बाबत बताया कि गायनी  विभाग पिछले 4 वर्षों से बांझपन वाले जोड़ों का प्रबंधन कर रहा है। इसमें बांझ दंपति का काम, ओव्यूलेशन इंडक्शन, फॉलिक्युलर मॉनिटरिंग, बांझपन के लिए लेप्रोस्कोपिक और हिस्टेरोस्कोपिक सर्जरी शामिल हैं। उन्होंने बताया कि यह विभाग इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च की गाइडलाइन के अनुसार 45 वर्ष तक की महिलाओं और 50 वर्ष तक के पुरुषों के लिए यह सुविधा प्रदान करेगा।
आईवीएफ केन्द्र की नोडल अधिकारी डॉ.लतिका चावला ने केन्द्र में उपलब्ध सुविधाओं के बारे में कहा कि आईवीएफ केंद्र में पुरूष शुक्राणुओं की जांच हेतु एंड्रोलॉजी लैब ने कार्य करना शुरू कर दिया है और केन्द्र में अंतर्गर्भाशयी गर्भाधान (आईयूआई) की सुविधा भी उपलब्ध है। इसके अलावा इस केन्द्र में आईवीएफ प्रक्रिया भी शुरू हो चुकी है। उन्होंने बताया कि निकट भविष्य में एम्स ऋषिकेश संतान से वंचित ऐसे माता-पिता का भी इलाज करेगा, जिनके शरीर में अण्डाणु या शुक्राणु नहीं बनते और जिन्हें स्पर्मदाता की आवश्यकता होती है।
कार्यक्रम के दौरान अस्पताल प्रशासन के प्रोफेसर यूबी मिश्रा, प्रशासनिक अधिकारी शशिकांत, वित्तीय सलाहकार कमांडेंट पीके मिश्रा, गायनी विभाग की प्रोफेसर शालिनी राजाराम, डॉ. अनुपमा बहादुर, डॉ. कविता खोईवाल,डॉ. अमृता गौरव सहित कई अन्य मौजूद थे।
RELATED ARTICLES

एम्स: विश्व रोगाणुरोधी जागरूकता सप्ताह शुरू

  सत्येंद्र सिंह चौहान  ऋषिकेश, 18 नवंबर। अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान, एम्स ऋषिकेश में आम लोगों को रोगाणुओं से होने वाले विभिन्न बीमारियों के प्रति जागरुक...

नाखून चबाने की आदत से राहत पाने के लिए अपनाएं ये तरीके

कई लोग बोरियत को दूर करने या फिर चिंता में होने के कारण नाखून चबाने लगते हैं, लेकिन उनकी यह आदत स्वास्थ्य के लिए...

करते हैं ब्लूटूथ का इस्तेमाल, तब इन बातों का रखे खास ध्यान

ब्लूटूथ उन अहम और मुख्य कनेक्टिविटी विकल्पों में से एक बन गया है जो स्मार्टफोन और कंप्यूटर को कनेक्ट कर सकता है।ब्लूटूथ एक अहम...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Latest Post

शुभ प्रभात: जानिए, क्या कहते हैं आज़ आपके भाग्य के सितारे

आज़ का राशिफल: रविवार, 28 नवंबर 2021 मेष राशि :- आज का दिन मिला-जुला रहेगा। कार्यक्षेत्र में कामकाज की अधिकता रहेगी, जिससे थकान का अनुभव...

आवाज़: किसान सभा और सीटू का सचिवालय कूच, एमएसपी कानून बनाने की उठाई मांग

  संवाददाता देहरादून, 27 नवंबर। दिल्ली बॉर्डर पर धरने पर बैठे किसानों के समर्थन में उत्तराखंड किसान सभा  और सीटू कार्यकर्ताओं ने सचिवालय कूच किया ।...

दिपांशी के प्रतियोगिता में दूसरा स्थान पाने पर खुशी की लहर

देहरादून। कर्तव्य प्रोडक्शन हाउस द्वारा आयोजित मिस उत्तराखण्ड 2021 कल्चर वर्ल्ड प्रतियोगिता में दिपांशी सिंह के दूसरा स्थान ग्रहण करने पर हाथी बड़कला क्षेत्र...

ट्रेन की चपेट में आने से हाथी के बच्चे की मौत

हरिद्वार। राजाजी टाइगर रिजर्व की के मोतीचूर रेंज में बीते रात ट्रेन की चपेट में आने से हाथी के बच्चे की मौत हो गई।...

देवस्थानम बोर्ड के विरोध में तीर्थ पुरोहितों ने किया सचिवालय कूच

देहरादून। देवस्थानम बोर्ड को भंग किए जाने की मांग को लेकर तीर्थ पुरोहितो ने आज सचिवालय कूच किया। शनिवार को तीर्थ पुरोहित और हक-हकूकधारी यहां...

सैनिक कल्याण मंत्री ने 56 शहीद स्वजनों को किया सम्मानित

हल्द्वानी। शहीद सम्मान कार्यक्रम का आयोजन रामलीला मैदान में किया गया। जहां बड़ी संख्या में शहीदों के स्वजन पहुंचे हैं और उन्हें ताम्र पत्र...

कॉलेज में ऑडिटोरियम की छत पर चढ़े छात्र, आत्महत्या की दी चेतावनी

रुद्रपुर। महाविद्यालय में एमएससी का कोर्स शुरू न होने से नाराज छात्रों ने आज कॉलेज परिसर में जमकर हंगामा किया। इस दौरान दो छात्र...

कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवियर का करें पालनःसीएम धामी

देहरादून। प्रदेश की राजधानी दून में स्थित एफआरआई के 11 अधिकारियों के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। इसके...

मोबाइल लूट में दो शातिर गिरफ्तार

हरिद्वार। मोबाइल लूट के दो मामलों का खुलासा करते हुए पुलिस दो शातिरोें को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है। लुटेरोें के कब्जे...

आर्या 2 का ट्रेलर रिलीज, शेरनी बनकर लौटीं सुष्मिता सेन

सुष्मिता सेन ने जब से वेब सीरीज आर्या 2 से अपना फर्स्ट लुक रिलीज किया था, तभी से इसके ट्रेलर को लेकर उत्सुकता बनी...