पंचतत्व में विलीन हुआ BRO के कमीशंड ऑफिसर शशि प्रकाश रयाल का शरीर, सैन्य सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार

Spread the love

नमः आँखों से दी शशि प्रकाश रयाल को अंतिम बिदाई, अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब

टिहरी। नरेंद्रनगर दोगी पट्टी के लाल शशि प्रकाश रयाल का अंतिम संस्कार आज पूर्ण सैन्य सम्मान के साथ आज ऋषिकेश के पूर्णानंद घाट पर हुआ। इस मौके पर बड़ी सँख्या में लोग मौजूद रहे। सभी ने नमः आँखों से उनको अंतिम बिदाई दी। शशि प्रकाश रयाल की अंतिम यात्रा में बड़ी सँख्या में लोग मौजूद रहे।शशि प्रकाश रयाल अपने पीछे पत्नी निर्मला, एक पुत्र स्वर्णिम व पुत्री संस्कृति को छोड़ गये हैं। इस घटना से जहां परिवार में मातम छाया हुआ है, वहीं उनके गांव बुगाला सहित समूची पट्टी दोगी क्षेत्र में शोक की लहर छा गयी है।

आपको बता दें कि भारतीय सीमा सड़क संगठन (बीआरओ) में जूनियर कमीशंड ऑफिसर के पद पर तैनात शशि प्रकाश रयाल का हृदय गति रुकने से देहांत हो गया है। 54 वर्षीय शशि प्रकाश रयाल मेघालय के शिलांग में (JCO) के पद पर तैनात थे। मृत्यु के दौरान वे अपनी ड्यूटी पर तैनात थे। दो भाइयों में शशि प्रकाश बड़े थे।

परिजनों ने बताया कि 9 अगस्त को उन्हें ड्यूटी के दौरान अटैक पड़ने से उनका निधन हो गया। घटना के बारे बीआरओ ने घर सम्पर्क कर जानकारी दी। सूचना पाते ही शशि प्रकाश का बड़ा पुत्र स्वर्णिम रयाल अपने मामा के साथ शिलांग पहुंचे। जिसके बाद उनका पार्थिव शरीर देहरादून उनके आवास लाया गया। आज शशि प्रकाश रयाल का अंतिम संस्कार पूर्ण सैन्य सम्मान के साथ ऋषिकेश के पूर्णानंद घाट पर हुआ। इस मौके पर बड़ी सँख्या में लोग मौजूद रहे।

admin

Leave a Reply

Your email address will not be published.