विरोध: सोनिया गांधी से माफी मांगे स्मृति ईरानी,  युवा कांग्रेस  नेता राहुल प्रताप सिंह ने उठाई मांग 

विरोध: सोनिया गांधी से माफी मांगे स्मृति ईरानी,  युवा कांग्रेस  नेता राहुल प्रताप सिंह ने उठाई मांग 
Spread the love

 

देहरादून। युवा कांग्रेस के प्रदेश महासचिव राहुल प्रताप सिंह ने  कहा है कि संसद में  गत 28 जुलाई को लोकसभा की कार्रवाई के दौरान हुई वह घटना दुर्भाग्यपूर्ण है,  जिसमें केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने सोनिया गांधी के साथ  दुर्व्यवहार किया। उन्होंने ईरानी के कृत्य को अशोभनीय तथा निन्दनीय बताया है। यहां जारी एक बयान में उन्होंने कहा कि संसद में हुई घटना को भाजपा नेता स्मृति ईरानी द्वारा जानबूझ कर तूल दिया गया। उन्होंने कहा कि यह कोई पहला अवसर नहीं है जब भाजपा नेताओं द्वारा सत्ता के बल पर विपक्षी दल के नेता को अपमानित किया गया। इससे पूर्व भी भाजपा नेता कांग्रेस नेताओं तथा सोनिया गांधी का अपमान करने से नहीं चूके हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की मंत्री स्मृति ईरानी सोनिया गांधी से सार्वजनिक रूप से क्षमा मांगे। कांग्रेस पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ हुए आपत्तिजनक और शर्मनाक व्यवहार की हम निन्दा करते हुए  सिंह ने कहा कि वे महामहिम राष्ट्रपति से मांग करते हैं कि स्मृति ईरानी को तत्काल मंत्रिमण्डल से बर्खास्त किया जाय।
उन्होंने कहा कि भाजपा नेता सोनिया गांधी के अपमान का अवसर तलाशते हैं तथा जब कभी भी उन्हें मौका मिलता है वे विपक्षी दल के नेताओं के साथ इसी प्रकार का दुर्व्यवहार करते हैं जो लोकतंत्र में उचित नहीं ठहराया जा सकता है। केन्द्रीय मंत्री स्मृति ईरानी से कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी से तत्काल माफी मांगने की मांग करते हुए सिंह ने कहा कि जनता की आवाज उठाने पर विपक्ष के नेताओं को परेशान किया जा रहा है। जब भाजपा विपक्ष में थी तो उसके नेता बीमार भी हुआ करता थे तो कांग्रेस शासन में सम्मान के साथ विदेशों में भी बगैर ढिंढोरा पीटे उनका इलाज करवाया जाता था।
उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी तथा उसके कोई भी नेता महामहिम राष्ट्रपति का अपमान कभी नहीं कर सकते हैं। कांग्रेस नेता अधीर रंजन चौधरी से हिन्दी भाषा के उच्चारण के कारण हुई गलती के लिए वे अपना स्पष्टीकरण भी दे चुके थे। इसके बावजूद भाजपा सरकार की वरिष्ठ मंत्री स्मृति ईरानी द्वारा वरिष्ठ सांसद एवं कांग्रेस पार्टी की सम्मानित राष्ट्रीय अध्यक्ष के साथ अमर्यादित और अपमानजनक व्यवहार दुर्भाग्यपूर्ण तथा अशोभनीय है। केन्द्रीय मंत्री के सदन में किये गये इस प्रकार के शर्मनाक व्यवहार तथा संसद की मर्यादा को तार-तार करने की हम कडे शब्दों में निन्दा करते हैं  तथा केन्द्रीय मंत्री स्मृति इरानी के माफी ना मांगने पर युवा कांग्रेस मुखर होकर सड़कों पर उतर कर आंदोलन करेगी।

Parvatanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published.