हरेला: शिक्षा मंत्री ने राजकीय बालिका इंटर कॉलेज  परिसर में किया वृक्षारोपण

हरेला: शिक्षा मंत्री ने राजकीय बालिका इंटर कॉलेज  परिसर में किया वृक्षारोपण
Spread the love
धरती के श्रृंगार का आधार है हरेला पर्व-डॉ धन सिंह रावत
 कहा, पर्यावरण हमारे अस्तित्व का आधार, लगाये अधिक से अधिक वृक्ष
शिक्षा मंत्री ने शिक्षकों, छात्र-छात्राओं एवं उनके अभिभावकों से की वृक्षारोपण की अपील
वी.पी.सिंह बिष्ट
देहरादून।
देहरादून। प्रदेश में शनिवार को लोक पर्व हरेला को धूमधाम से मनाया गया। इस अवसर पर राजकीय स्कूलों के परिसरों में शिक्षकों एवं छात्र-छात्राओं ने वृक्षारोपण किया। इसी कड़ी में सूबे के शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने देहरादून के राजकीय बालिका इंटर कॉलेज राजपुर रोड पहुँच कर विद्यालय परिसर में वृक्षारोपण कर छात्राओं को पर्यावरण बचाने का संदेश दिया। साथ ही उन्होंने शिक्षकों, छात्र-छात्राओं एवं उनके अभिभावकों से  अधिक से अधिक संख्या में वृक्षारोपण की अपील की।
शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत ने बताया कि आज लोक पर्व हरेला के अवसर पर राजकीय बालिका इंटर कालेज राजपुर रोड़ में वृक्षारोपण किया। उन्होंने कहा कि हमारे पूर्वज प्रकृति बेहद करीब थे, वह जानते थे कि कुदरत ने उन्हें अपार प्राकृतिक सम्पदा से लैस किया है, लेकिन वह प्राकृतिक संसाधनों का जितना दोहन करते थे उतना ही वापस प्रकृति को लौटते थे, यही वजह है कि हमारे बुजुर्गों ने हरेला जैसे कई लोक पर्व मनाने की परंपरा विकसित की। डॉ रावत ने कहा कि लोक पर्व हरेला धरती के श्रृंगार का आधार है और पर्यावरण को बचाये रखने के लिये वृक्षारोपण करना जरूरी है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण हमारे अस्तित्व का आधार है जिसे बचने के लिये सभी लोगों को जागरूक होना जरूरी है। डॉ रावत ने प्रदेशभर के सभी शिक्षकों, छात्र-छात्राओं एवं उनके अभिभावकों से अधिक से अधिक संख्या में वृक्षारोपण की अपील की। वृक्षारोपण कार्यक्रम के दौरान छात्राओं ने सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं योग कौशल का प्रदर्शन किया। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए  एनसीसी , एनएसएस, पुलिस कैडेट , स्काउट गाइड ,बैंड, ईको क्लब की छात्राओं द्वारा सहयोग प्रदान किया गया।
कार्यक्रम में राजकुमार पुरोहित, मुख्य शिक्षा अधिकारी डॉ मुकुल कुमार सती, जिला शिक्षा अधिकारी सुदर्शन सिंह बिष्ट, प्रधानाचार्या प्रेमलता बौडाई, इको क्लब प्रभारी रितु मलिक सहित विद्यालय की अध्यापिकाएं व छात्राएं उपस्थित रहे।

Parvatanchal

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *