Home एजुकेशन मंथन: काम न करने के इच्छुक या अस्वस्थ कर्मचारियों को दें सेवानिवृत्ति:...

मंथन: काम न करने के इच्छुक या अस्वस्थ कर्मचारियों को दें सेवानिवृत्ति: डाॅ रावत

174
0

संवाददाता

नैनीताल, 20 जनवरी।

कुमाऊं विश्वविद्यालय प्रशासनिक भवन में उच्च शिक्षा मंत्री डॉ धन सिंह रावत द्वारा सभी संकाय अध्यक्षों के साथ समीक्षा बैठक कर पूरे देश में कुमाऊं विश्वविद्यालय को रैंकिंग में 100 नंबर लाने  को लेकर सभी के साथ चर्चा की।

उन्होंने बताया पूरे देश में लगभग 962 विश्वविद्यालय है। रैंकिंग के लिए 5 फरवरी तक अंतिम तिथि है। और उससे पूर्व ही सभी मानक पूरे किए जाने है। उसको लेकर चर्चा की गई और बताया कुमाऊं विश्वविद्यालय में संविधान निर्माता डॉक्टर भीमराव अंबेडकर व पूर्व प्रधानमंत्री भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेई के नाम पर पीठ की स्थापना की जाएगी और पीटो के माध्यम से सेमिनार व गोष्ठियों आयोजित की जाएंगे और सभी शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्त किया जाएगा। साथ ही रजिस्टार व पूर्णकालिक परीक्षा नियंत्रक की नियुक्ति की जाएगी और बताया की कुमाऊं विश्वविद्यालय के असिस्टेंट प्रोफेसर व रीडर के 83 पदों पर नियुक्ति के लिए एक माह के अंदर विज्ञप्ति जारी कर दी जाएगी और बताया पूरे प्रदेश में विश्वविद्यालयों के 300 से ऊपर पद रिक्त हैं जिनमें अध्यापकों की नियुक्ति होगी। प्रदेश के विश्वविद्यालयों के अतिरिक्त कुमाऊं विश्वविद्यालय के 15-20 रोजगार परक पाठ्यक्रम शुरू होंगे।

कहा बैठक में काफी चीजों पर चर्चा की गई और अधूरे कार्य को पूर्ण करने के निर्देश दिए गए है। कहा कि गवर्नमेंट इंटर कॉलेजों में 877 शिक्षकों की नियुक्ति की है। विश्वविद्यालय के सभी पद भरे जाएंगे और कहा जो कार्मिक कार्य नहीं करना चाहते या अस्वस्थ है उनको स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति दी जाए इससे विश्वविद्यालय की स्थिति और सुधरेगी।

बैठक में कुलपति प्रोफेसर एनके जोशी, रजिस्ट्रार आरके भट्ट, डीएसबी के निर्देशक एल एम जोशी,प्रोफेसर पीसी कवि दयाल, प्रोफेसर एचसीएस बिष्ट, प्रोफेसर ललित तिवारी, प्रोफेसर राजीव उपाध्याय प्रोफेसर विजयारानी घंडियाल प्रोफेसर एस सी सती प्रोफेसर एम एम मावडी अर्चना नेगी शाह एलआर आर्य दुर्गेश डिमरी विधान चौधरी सहित सभी विभाग के संकाय अध्यक्ष व प्राध्यापक मौजूद थे।