Home अपराध सनसनीखेज:  पत्नी ने आशिक के साथ मिलकर  मार डाला पति को, पुलिस ने...

सनसनीखेज:  पत्नी ने आशिक के साथ मिलकर  मार डाला पति को, पुलिस ने किया दोनों को गिरफ्तार

254
0

संवाददाता
देहरादून, 30 मई।

उत्तराखंड की राजधानी देहरादून से एक दिल दहला देने मामला सामने आया है। जिसमें एक पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति को नींद की गोली खिलाकर, पति की हत्या कर दी है। हालांकि पुलिस प्रशासन ने मृतक के पत्नी और उसके प्रेमी को हत्या करने के जुर्म में गिरफ्तार कर लिया है। मामला देहरादून के नथुवाला का है। 28 मई को अस्पताल के माध्यम से एक ब्रांडेड मेमो की जानकारी पुलिस प्रशासन को मिली जिसके बाद पुलिस प्रशासन ने मौके पर पहुंचकर पंचायत नामा की कार्यवाही की।

मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस प्रशासन ने तत्काल मृतक की मां पुष्पा भट्ट से मुलाकात की जिसके बाद पुष्पा भट्ट ने अपने बेटे पंकज भट्ट की हत्या करने की आशंका जताते हुए मुकदमा दर्ज करवाया। इसके बाद क्षेत्राधिकारी के पर्यवेक्षण में थाना स्तर पर टीम गठित कर मुकदमें के सफल अनावरण के लिए निर्देशित किया गया। घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद पुलिस प्रशासन ने घटनास्थल पर जाकर मुकदमे की वादिनी पुष्पा देवी से भी पूछताछ की। इस पर मृतक की मां पुष्पा देवी द्वारा  बताया गया कि उसका बड़ा बेटा पंकज भट्ट अपनी पत्नी विजयलक्ष्मी भट्ट एवं 4 वर्ष की बेटी आज्ञा के साथ इसी घर के निचले फ्लोर पर रहता था।  छोटा बेटा पारस अपनी पत्नी सहित उसके साथ ऊपर वाले फ्लोर पर रहता था।

मृतक की मां ने बताया कि पंकज भट्ट की शादी वर्ष 2006 में हुई थी लेकिन शादी के बाद से ही विजयलक्ष्मी भट्ट एवं पंकज भट्ट में आपसी झगड़े होते रहते थे। विजयलक्ष्मी उर्फ विजया भट्ट का किसी दीपक नाम के लड़के के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। इस दौरान पंकज भट्ट ने अपनी पत्नी के पास दो मोबाइल भी पकड़े थे, जिनमें उस लड़के के साथ इसकी कई फोटो थी। मृतक की मां पुष्पा ने बताया कि उसके बेटे पंकज की पत्नी विजयलक्ष्मी ने ही अपने प्रेमी दीपक के साथ मिलकर इसको कुछ खिलाया है।

मृतक की पत्नी विजयलक्ष्मी भट्ट से उसके घर पर जाकर पूछताछ की गई। प्राथमिक पूछताछ में उसने आरोपों से इनकार किया। उसने बताया कि घटना के दिन रात को अचानक 1:00 बजे पति को देखा तो वह बेहोश पड़े हुए थे, जिसे अस्पताल ले जाया गया लेकिन वहां उसकी मृत्यु हो गई। मृतक की पत्नी विजयलक्ष्मी भट्ट के बयानों में विरोधाभास नजर आया तो पुलिस टीम द्वारा  तुरंत मृतक की पत्नी एवं उसके प्रेमी की कॉल रिकॉर्ड मंगवाकर उसका अवलोकन किया गया। पुलिस टीम द्वारा 29 मई रात्रि में ही तुरंत पूछताछ के लिए दीपक पुत्र राम चंद्र, निवासी- अमल अतर्रा, थाना रायपुर को पूछताछ हेतु थाने पर लाया गया। थाने पर  दीपक से गहनता से पूछताछ की गई तो उसने अपना जुर्म कबूल किया।

दीपक ने पूछताछ में बताया कि उसका एवं विजयलक्ष्मी का वर्ष 2018 से मिलना जुलना है।  वह जिम ट्रेनर है। 2018 में ही उसकी मुलाकात विजय लक्ष्मी भट्ट से बॉडी टेंपल जिम में हुई थी, तभी से दोनों की दोस्ती हो गई थी। कुछ दिनों पहले ही विजयलक्ष्मी भट्ट ने दीपक को बताया कि उसके पति को उनके अफेयर के बारे में पता चल गया है। विजयलक्ष्मी दीपक से बार बार मिलना चाहती थी। विजयलक्ष्मी ने दीपक से कहा कि वह उसके बिना नहीं रह सकती।  विजयलक्ष्मी भट्ट ने प्रेमी दीपक को  अपने घर आने को कहा। पुलिस के अनुसार, 26 मई को दीपक का जन्मदिन था। विजयलक्ष्मी ने दीपक से नींद की गोलियां मंगवाई। दीपक ने अपने दोस्त के माध्यम से नींद की गोलियां लाकर विजयलक्ष्मी को दीं। 26 मई को दीपक अपने दोस्तों के साथ अपने जन्म दिन में बिजी होने के कारण 26 तारीख को विजयलक्ष्मी भट्ट के घर नहीं जा पाया।

उसके बाद 27 मई को रात्रि में विजयलक्ष्मी ने योजनानुसार दीपक से बात कर अपने पति को अत्यधिक नींद की गोलियां खिला दीं एवं उसके बाद दीपक उसके घर आया। दोनों 1 घंटे तक साथ रहे।  उसके बाद दीपक वापस अपने घर चला गया। इस बीच रात्रि में विजय लक्ष्मी के पति पंकज भट्ट की नींद की अत्यधिक  गोलियां खाने के कारण मृत्यु हो गई। यह बात विजया भट्ट ने घर वालोें से छुपाई थी। विजयलक्ष्मी एवं दीपक की कॉल डिटेल  खंगाली गई तो पता चला कि घटना की रात में दोनों में 26 कॉल्स हुईं थीं । काल डिटेल के अनुसार भी दीपक रात्रि 11:00 बजे से 12:30 बजे तक  विजयलक्ष्मी भट्ट के घर पर मौजूद रहा।

मृतक पंकज भट्ट की मृत्यु होने के बाद ही थाना रायपुर द्वारा उक्त प्रकरण को गंभीरता से लेकर स्वयं मामले की जांच की गई एवं गोपनीय जानकारियां एकत्र की गईं। इससे हत्या का मामला प्रकाश में आया। मृतक के परिजनों की तहरीर पर अभियोग पंजीकृत होकर अविलंब विवेचना में साक्ष्य संकलित कर 24 घंटे के अंदर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर मुकदमे का सफल अनावरण कर लिया गया। थाना रायपुर द्वारा किए गए उक्त उत्कृष्ट अनावरण के लिए वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा थाना रायपुर पुलिस की भूरी भूरी प्रशंसा की गई है।