Home उत्तराखंड जीरो टॉलरेंसः सीएम रावत की बड़ी कार्रवाई, जिला पंचायत अध्यक्ष के...

जीरो टॉलरेंसः सीएम रावत की बड़ी कार्रवाई, जिला पंचायत अध्यक्ष के अधिकार किये सीज

103
0

 

मुख्यमंत्री के आदेश पर गढ़वाल मंडल आयुक्त रविनाथ रमन लिया एक्शन

संवाददाता
देहरादून, 19 नवंबर। उत्तरकाशी के जिला पंचायत सदस्य की शिकायत पर सख्त कार्रवाई करते हुए मुख्यमंत्री ने जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक बिजल्वाण के अधिकार सीज कर दिए हैं। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के निर्देश पर दीपक बिजल्वाण के सभी अधिकार सीज करने के साथ ही अध्यक्ष का कार्यालय भी सील कर दिया गया है।
भाजपा से जिला पंचायत सदस्य हाकम सिंह रावत ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह से उत्तरकाशी के जिला पंचायत अध्यक्ष दीपक बिजल्वाण पर वित्तीय अनियमितताओं को लेकर लिखित शिकायत की थी। हाकम सिंह रावत ने शिकायत की थी कि वर्ष नवंबर 2019 से जिला पंचायत उत्तरकाशी द्वारा जो भी विभिन्न मदों में निर्माण कार्य किया गया उसमें धरातल पर कुछ भी नहीं है। सरकारी धन का दुरूपयोग किया गया है। इस मामले में उन्होंने एसआईटी जांच कराने की मांग की थी। जिपं सदस्य ने शिकायत की थी कि मस्ट्रोल कार्य पर लगाए जा रहे लोगों को मनमाने तरीके से निकाला जा रहा है। दैनिक काम पर लगे कर्मचारी ने काम किया है या नहीं इसकी जानकारी नहीं है लेकिन इनके नाम पर करोड़ो रूपये का गबन किया गया है। यात्रामार्ग में लॉकडाउन से अब तक लाखों रQपये सफाई कर्मचारियों के नाम से फर्जी मस्ट्रोल निकाला गया। जबकि यात्रा मार्ग में कोई भी कर्मचारी नहीं रखे गये।


यह भी शिकायत की गई थी कि वित्त अधिकारी के संज्ञान में लाए बिना करोड़ो रुपये का आहरण किया गया। कहा कि विगत एक वर्ष से विभिन्न मदों में जो भी भुगतान किया गया, मस्ट्रोल कर्मचारी, जिला पंचायत कार्यालय का कार्य किया गया ओर जो कर्मचारी जिला पंचायत में लगाया गया उनसे नियम विरूद्ध कार्य करवाया जा रहा है। इन सभी मामलों में उन्होने एसआईटी जांच की मांग मुख्यमंत्री से की थी। मुख्यमंत्री ने शिकायत का संज्ञान लेते हुए जांच के निर्देश दिए। इसके बाद गढ़वाल मंडल आयुक्त रविनाथ रमन ने आदेश जारी किए हैं। इस मामले में जिलाधिकारी को एक सप्ताह में रिपोर्ट देने के निर्देश दिए गये हैं।