Home उत्तराखंड एक्शन: मरीज पर रहमदिली महंगी पड़ी दरोगा को, लापरवाही के आरोप में...

एक्शन: मरीज पर रहमदिली महंगी पड़ी दरोगा को, लापरवाही के आरोप में हुए निलंबित

112
0
रुद्रपुर-  ड्यूटी के दौरान एक कार में मरीज को देख कर  खाकी के भीतर जब इंसानियत जागी तो वर्दी वाली अकड़ की जगह दया का भाव उमड़ आया  और इसी दया भाव के चलते बगैर किसी जांच पड़ताल के कार को बैरियर के पार जाने दिया गया। बस, यही दरियादिली बंदे को भारी पड़ी और ड्यूटी में कोताही बरतने के आरोप में निलंबन की सजा भुगतनी पड़ गयी। क्योंकि कार में मरीज नहीं, मरीज बन कर साहब बैठे थे।
मामला उधमसिंहनगर जिले का है। रामपुर बॉर्डर में लॉकडाउन  के दौरान डयूटी में लापरवाही बरतना एक दरोगा को भारी पड़ गया।एसएसपी ने दरोगा को तत्काल सस्पेंड कर दिया है। एसएसपी ने सभी पुलिसकर्मियों को मुस्तैदी से अपना कार्य करने के निर्देश दिए हैं।
  दरअसल रामपुर बॉर्डर पर व्यवस्थाओं को परखने के लिए  मंगलवार की देर शाम एसएसपी बरिंदरजीत सिंह ने एसपी सिटी देवेंद्र पिंचा को निजी कार में सवार होकर मरीज लेकर जाने की बात कहकर निकलने के निर्देश दिए।
  निर्देश के अनुसार  एसपी सिटी देर रात खुद मरीज बनकर एक निजी वाहन में रामपुर बॉर्डर पहुंचे। जहां कोतवाली में तैनात दरोगा संजीव कुमार की ड्यूटी लगाई गई थी।
  दरोगा संजीव कुमार ने वाहन चालक से पूछताछ की। चालक ने मरीज की तबीयत ज्यादा खराब होने की बात कही तो दरोगा ने दरियादिली दिखाकर कार में बैठे लोगों के मेडिकल से संबंधित दस्तावेज तक नहीं जांचे और कार को आगे भेज दिया।
  एसपी सिटी ने पड़ताल कर रिपोर्ट एसएसपी बरिंदरजीत सिंह को दी। उन्होंने तत्काल प्रभाव से दरोगा संजीव कुमार को सस्पेंड कर दिया।एसएसपी ने बताया कि बॉर्डरों पर चेकिंग में लापरवाही करना बड़ी चूक है।
  लॉकडाउन  के दौरान किसी भी वाहन को राज्य में प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा। इस घटना के बाद उन्होंने सभी पुलिसकर्मियों को मुस्तैदी के साथ अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने के निर्देश दिए हैं।