Home उत्तराखंड रुझान:  भारतीय संस्कृति में बढ़ी विदेशियों की रुचि, स्पेनिश जोड़े ने गढ़वाली रीति...

रुझान:  भारतीय संस्कृति में बढ़ी विदेशियों की रुचि, स्पेनिश जोड़े ने गढ़वाली रीति से किया विवाह 

91
0

 

ऋषिकेश। एक ओर जहां भारतीय समाज पश्चिमी सभ्यता का अनुसरण कर रहा है, वहीं पश्चिम के लोगों को भारतीय सनातनी परंपराएं खूब भा रही हैं। ऐसा ही कुछ तीर्थनगरी में देखने को मिला। यहां भारतीय संस्कृति से प्रभावित होकर स्पेन के एक प्रेमी जोड़े ने गढ़वाली रीति-रिवाज से शादी रचाई। वैदिक मंत्रों के साथ दोनों ने अग्नि को साक्षी मानकर फेरे लिए और एकदूजे का साथ निभाने की सौगंध भी ली।
मुनिकीरेती का योगालय आश्रम इस अनूठी शादी का गवाह बना। कुछ समय पूर्व योग व अध्यात्म को जानने के लिए भारत आये स्पेन निवासी थोमस व उनकी प्रेमिका लोरेना भारतीय संस्कृति व अध्यात्म से इतने प्रेरित हुए कि उन्होंने हिंदू रीति से विवाह करने का मन बनाया।
उन्होंने अपने आध्यात्मिक गुरु योगालय आश्रम के संस्थापक स्वामी शंकर तिलक से जब हिंदू परंपरा से शादी करने की इच्छा जाहिर की तो उन्होंने हाल ही में दोनों की शादी संपन्न कराई। आचार्य अजय भट्ट व पंडित रवि शास्त्री ने विदेशी युगल का विवाह संस्कार कराया। वैदिक मंत्रोच्चार के बीच गढ़वाली रीति-रिवाजों के साथ मांगल गीत भी गाए गये। इससे पूर्व हल्दी हाथ और बांद संस्कार भी हुए।
सात फेरों के बाद वर ने कन्या के गले में मंगलसूत्र पहनकर सात जन्मों तक साथ रहने की कसमें खाई। शादी के बाद नव दंपति ने मां गंगा के दर्शन कर भद्रकाली मंदिर में आशीर्वाद लिया। इस अवसर पर स्वतंत्रता चैतन्य, पवित्रता चैतन्य, चैताली चैतन्य, गौरी चैतन्य, ओमाया, अभिषेक शर्मा, मनोज, फैब्रिको, मारिया, मीका आदि उपस्थित थे।