Home उत्तराखंड निष्ठुरः जंगल में पड़ा मिला दो दिन का नवजात, पुलिस ने पहुंचाया...

निष्ठुरः जंगल में पड़ा मिला दो दिन का नवजात, पुलिस ने पहुंचाया अस्पताल

128
0

संवाददाता
ऋषिकेश, 19 नवंबर। निष्ठुरता की हदों को पार कर कोई बेरहम इंसान गुरुवार की सुबह तड़के एक नवजात शिशु को मरने के लिए कड़ाके की ठंड में सुनसान जंगल में फेंक गया। दो दिन पहले ही धरती पर आया वह नन्हा सा बच्चा इस ठंड में भी जिंदगी के लिए जूझता रहा।
नवजात की किस्मत अच्छी रही कि मॉर्निंग वॉक पर निकले किसी युवक के कानों तक उसके रोने की आवाज़ पहुंच गयी और उसने तुरंत पुलिस को सूचित कर दिया। लक्ष्मणझूला थाना क्षेत्र में मां की ममता को शर्मशार करने वाला एक मामला सामने आया है। नीलकंठ मोटर मार्ग के पास जंगल से पुलिस ने दो दिन का नवजात शिशु बरामद किया है।
मौके पर पहुंची पुलिस ने बच्चे को इलाज के लिए स्थानीय सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। यहां चिकित्सकों ने उसकी हालत को गंभीर देखते हुए हायर सेंटर के लिए रेफर कर दिया।
लक्ष्मणझूला थानाध्यक्ष प्रमोद उनियाल ने बताया कि नीलकंठ मोटर मार्ग में मार्निंग वॉक के दौरान एक युवक को पास के जंगल से बच्चे के रोने की आवाज सुनाई दी। पास जाकर उसने देखा तो वहां एक नवजात शिशु रो रहा था। इसकी सूचना उसने तत्काल पुलिस को दी। बताया कि करीब सुबह सात बजे पुलिस ने नवजात को बरामद किया। अंदाजा लगाया जा रहा है कि करीब सुबह चार बजे के आसपास नवजात को जंगल में फेंका गया है। उन्होंने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। हायर सेंटर में देखभाल के लिए दो महिला कांस्टेबलों को तैनात किया गया है।