Home उत्तराखंड ज़िंदाबाद:  शहीद देव बहादुर की पार्थिव देह पहुंची गांव, पूरे सैन्य सम्मान...

ज़िंदाबाद:  शहीद देव बहादुर की पार्थिव देह पहुंची गांव, पूरे सैन्य सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार 

117
0
लालपुर (ऊधमसिंह नगर)- पिछले दिनों लद्दाख में शहीद हुए देव बहादुर का पार्थिव शरीर बुधवार की सुबह सेना के वाहन से उसके गांव पहुंचा। इस बात का पता चलते ही शहीद के अंतिम दर्शनों के लिए युवाओं की भारी भीड़ उमड़ पड़ी। इस दौरान युवाओं में चीन और पाकिस्तान के खिलाफ खासा गुस्सा दिखाई दिया। जैसे ही शहीद देव बहादुर का शव उनके घर पहुंचा। उनके परिवारजन अपने आंसू रोक न सके। यह मंजर देख कर हर किसी की आंखें नम हो गईं। बाइक पर सवार युवा तिरंगे के साथ ‘जब तक सूरज चांद रहेगा, देव तेरा नाम रहेगा’,  ‘दिल दिया है जान भी देंगे.. ऐ वतन तेरे लिए’ आदि नारों के साथ आगे आगे चल रहे थे। सड़क के दोनों ओर लोगों की लंबी कतारें थीं। महिलाएं छतों से पार्थिव शरीर देखने के लिए खड़ी थीं। विधायक राजेश शुक्ला शव के साथ चल रहे थे। यहां से शहीद का पार्थिव शरीर उनके गांव गौरीकला पहुंचा, जिसके बाद प्राथमिक स्कूल में अंतिम दर्शन के लिए शहीद की पार्थिव देह रखी गई। इस दौरान लोगों ने भारत माता की जय और देव तुम अमर रहो के नारों के साथ शहीद वीर को श्रद्धांजलि दी। प्राथमिक स्कूल में राज्यपाल की ओर से पुष्पचक्र अर्पित किया गया। जिसके बाद शहीद की अंतिम यात्रा शुरू हुई।
कनकपुर और राघवनगर के मध्य बने श्मशान घाट पर पूरे सैन्य सम्मान के साथ शहीद देव बहादुर का अंतिम संस्कार किया गया।मंगलवार को दोपहर डेढ़ बजे लद्दाख से सेना का वायुयान शहीद का पार्थिव देह लेकर दिल्ली रवाना हो गया था। जानकारी के अनुसार, 18 जुलाई की रात को गश्त के दौरान जवान देव बहादुर का पैर जमीन पर बिछी डायनामाइट पर पड़ गया था। इस दौरान हुए धमाके में वे शहीद हो गए। घटना की जानकारी परिवार को रात करीब 11 बजे मिली। शहीद जवान देव बहादुर की भर्ती 2016 में भारतीय सेना के 6/1 गोरखा रेजिमेंट के बैच में हुई थी।