Home उत्तराखंड ​शिकंजा: बैंक से धोखाधड़ी करने वाला नौ माह बाद गिरफ्तार, लम्बे समय...

​शिकंजा: बैंक से धोखाधड़ी करने वाला नौ माह बाद गिरफ्तार, लम्बे समय से चल रहा था फरार

126
0
देहरादून- भारतीय स्टेट बैंक से 32 लाख रुपये की ठगी करने के फरार आरोपित को बसन्त विहार पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपित दूसरे मामलों में जमानत के बाद से लगातार लम्बे समय से फरार चल रहा था। उसके साथी को पूर्व में गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। मामले में आवश्यक कानूनी कार्यवाही की जा रही है। बसन्त विहार पुलिस के अनुसार वर्ष 2012 में स्टेट बैंक ऑफ पटियाला (वर्तमान में भारतीय स्टेट बैंक) शाखा जीएमएस रोड से कार ऋण लेने के लिए फर्जी दस्तावेज बैंक में जमा कर 32 लाख रुपए की धोखाधड़ी करने के अलग—अलग मामलों में 6 मुकदमे नवम्बर 2019 में दर्ज किए गए थे। जांच में पता चला कि शुभ प्रीमियर धर्मपुर से फर्जी कोटेशन तैयार कर केवाईसी फॉर्म के साथ अन्य कूटरचित दस्तावेज बैंक में जमा कर 6 कार ऋण से कुल 31,95,175 रुपये की धनराशि हड़प ली गई थी। विभिन्न व्यक्तियों को कार दिलाने के नाम पर कार की फर्जी कोटेशन व दस्तावेज बैंक में प्रस्तुत कर कार ऋण प्राप्त किया और कोई कार नहीं बेची गई। आरोपित कृपाल सिंह को फरवरी 2020 में गिरफ्तार कर लिया गया था। साथ ही प्रदीप सकलानी की गिरफ्तारी के लिए लगातार प्रयास के बाद भी वह लगातार फरार चल रहा था। प्रदीप सकलानी इसी प्रकार की धोखाधडी में थाना नेहरू कालोनी से वर्ष 2017 में डेढ़ दर्जन से अधिक मुकदमों में जेल गया था।