Home उत्तराखंड ​बेसऊर:  गया था मोच ठीक कराने हकीम ने पैर ही तोड़ डाला, ...

​बेसऊर:  गया था मोच ठीक कराने हकीम ने पैर ही तोड़ डाला,  थाने में जा पहुंचा मामला

130
0
रुद्रपुर- एक बहुत पुरानी कहावत  है- ‘नीम हकीम.. खतरा-ए-जान’।  फौज की तैयारी में जुटे एक युवक के लिए यह कहावत हकीकत बन गई। बेचारा पैर में मोच आने के बाद वह अस्पताल जाने की बजाय  हकीम के पास जा पहुंचा। वहां हकीम की गलती  से उसका पैर ही टूट गया। दरअसल हकीम ने मोच निकालने के दौरान युवक का पैर इतनी तेजी से झटक दिया कि उसका पैर टूट ही गया। परिजनों ने उसे निजी अस्पताल में भर्ती करा कराया। पीड़ित के पिता की शिकायत पर पुलिस ने आरोपित हकीम पिता-पुत्र के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है।
मामला रुद्रपुर  के ट्रांजिट कैंप, शिवनगर का है। पुलिस के मुताबिक, स्थानीय निवासी मान सिंह ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई है कि उस का बेटा मनीष फौज की तैयारी कर रहा है। इसके लिए वह रोजाना दौड़ लगाता है। दौड़ने के दौरान उसके पैर में अचानक मोच आ गई थी। 30 जून को बेटे का इलाज कराने के लिए वह खेड़ा कालोनी स्थित हकीम पुत्तन पहलवान के पास गए। रिपोर्ट में मान सिंह ने आरोप है कि हकीम व उसके पुत्र रिजवान ने पुत्र की मोच निकालने की बजाए उसका पैर तोड़ दिया। बाद में पुत्र को अस्पताल में ले जाकर पैर में प्लास्टर चढ़वाना पड़ा। पुलिस इस मामले में कार्रवाई कर रही है।