Home उत्तराखंड पहल: केंद्रीय कृषि मंत्री ने लॉन्च किया ‘ सहकार कॉपट्यूब’ चैनल,  डॉ...

पहल: केंद्रीय कृषि मंत्री ने लॉन्च किया ‘ सहकार कॉपट्यूब’ चैनल,  डॉ धनसिंह रावत ने जताई खुशी

210
0
वी.पी.सिंह बिष्ट
देहरादून-  केेंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर द्वारा राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम (एनसीडीसी) का ‘सहकार काॅपट्यूब’ चैनल लांच किया गया। प्रदेश के सहकारिता राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ. धन सिंह रावत ने इस पर खुशी जाहिर की है। डाॅ. धन सिंह रावत ने केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री को बधाई देते हुए कहा कि सहकारिता का चैनल खोलने से लाखों भारतीयों को इसका लाभ पहुंचेगा। उन्होंने कहा कि हिंदी सहित 18 राज्यों की क्षेत्रीय भाषाओं में कार्यक्रम प्रसारित होने से देश में सहकारिता के क्षेत्र में नवीन क्रांति आयेगी। उन्होंने कहा कि ‘सहकार काॅपट्यूब’ चैनल का लाभ प्रदेश के लोगों को भी मिलेगा।

सहकारिता मंत्री डाॅ. रावत ने बताया कि सरकार के प्रयासों और जनसहभागिता के सहयोग से प्रदेश में सहकारिता को बढ़ावा मिल रहा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में ‘राज्य समेकित सहकारी विकास परियोजना’ शुरू की गई है जो एक कांसेप्ट बेस परियोजना है। इस परियोजना का मकसद राज्य में स्वरोजगार को बढ़ावा देकर लोगों आत्मनिर्भर बनाना है। परियोजना के लिए राष्ट्रीय सहकारी विकास निगम द्वारा 3340 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की गई है। इस महत्वाकांक्षी परियोजना के तहत प्रदेश भर में 10 सेक्टरों में कार्य किया जायेगा। वर्तमान में 5 क्षेत्र में पाइलेट प्रोजेक्ट के तहत काम शुरू कर दिया गया है।उन्होंने कहा कि इस परियोजना से जहां प्रदेश में रोजगार के अवसर सृजित होंगे वहीं दूसरी ओर सहकारिता में किसानों एवं पशुपालकों की सीधी भागीदारी सुनिश्चित होगी। डाॅ. रावत ने बताया कि शीघ्र ही राज्य में एनसीडीसी भारत सरकार के सहयोग से 100 एफपीओ (फार्मर्स प्रोड्यूसर आॅर्गनाइजेशन) की स्थापना की जायेगी। इसका लाभ कृषि एवं ग्रामीण अर्थव्यवस्था को भी मिलेगा। उन्होनें बताया कि सहकारिता विभाग के अंतर्गत बहुउद्देशीय समितियों (पैक्स) को पूरी तरह से कम्प्यूटरीकृत किया जा रहा है। ताकि लोगों को बेहत्तर सुविधा मिल सके।

डाॅ. रावत ने कहा कि एनसीडीसी के नये चैनल शुरू होने से विभिन्न राज्यों में सहकारिता विभाग के अंतर्गत संचालित योजनाओं की जानकारी मिलेगी। इसके साथ ही लोग सहकारिता के प्रति जागरूक भी होंगे।