Home उत्तराखंड स्मरण: उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी ने किया बाबा मोहन उत्तराखंडी को याद

स्मरण: उत्तराखंड परिवर्तन पार्टी ने किया बाबा मोहन उत्तराखंडी को याद

282
0
संवाददाता

अल्मोड़ा- गैरसैंण में स्थायी राजधानी के पक्ष में शहादत देने वाले बाबा मोहन उत्तराखंडी की 16 वीं पुण्यतिथि पर उपपा कार्यकर्ताओं ने बाबा मोहन उत्तराखंडी को श्रद्धांजलि अर्पित की।

उपपा के केंद्रीय अध्यक्ष पी सी तिवारी ने कहा कि बाबा मोहन उत्तराखंडी के गैरसैंण स्थाई राजधानी के लिए किये गये 38 दिनों के आमरण अनशन और शहादत को हमेशा याद रखा जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में सरकारें बदलती रहीं पर बाबा मोहन उत्तराखंडी के स्थाई राजधानी गैरसैंण के सपने को साकार नहीं कर पाईं। बाबा मोहन उत्तराखंडी हमेशा से पृथक उत्तराखंड राज्य की अवधारणा के पक्षधर थे। जिन्होंने उत्तराखंड के लिए आजीवन संघर्ष किया और जीवन में 13 बार आमरण अनशन किया था। पुलिस प्रशासन द्वारा की गई बर्बरता के बाद उनकी मृत्यु संदिग्ध हालत में हुई थी। उनके सपनों के साथ राज्य में सत्तापक्ष में आने वाली सभी पार्टियां छल करती रही हैं।
आती जाती सरकारों के नेताओं ने प्रदेश में जल, जंगल, ज़मीन की लूट खसोट कर सिर्फ अपना हित साधा। वर्तमान भाजपा सरकार भी यही कर रही है। गैरसैंण को स्थाई राजधानी ना घोषित कर ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित करना भाजपा सरकार की नीयत साफ करता है कि यह सरकार हमेशा की तरह राज्य की जनता के साथ ठगी कर रही है। अतः क्षेत्रीय अस्मिता की रक्षा के लिए एक सशक्त राजनीतिक विकल्प की आवश्यकता है जिसके लिए उपपा कार्यरत है।
इस मौके पर आनंदी वर्मा, राजू गिरी, गोपाल, रेशमा परवीन, अमीनुर्रहमान, किरन, स्निग्धा तिवारी, भारती पांडे, भावना पांडे, दीपांशु पांडे, विजय रावत, लीला, अनीता, हीरा आदि लोग शामिल रहे।