Home उत्तराखंड आवाज़: उत्तराखंड भी पहुंची पेगासस जासूसी कांड की गूंज, कांग्रेस ने किया...

आवाज़: उत्तराखंड भी पहुंची पेगासस जासूसी कांड की गूंज, कांग्रेस ने किया राजभवन कूच 

197
0

संवाददाता
देहरादून, 22 जुलाई

विपक्षी नेताओं की जासूसी कराए जाने के संकेत देने वाले पैगासस मामले को लेकर उत्तराखंड में भी विरोध के सुर तेज़ होने लगे हैं। इसकी पहल गुरुवार को कांग्रेस की तरफ से की गई। केंद्र सरकार पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की जासूसी कराने का आरोप लगाते हुए कांग्रेस आज़ राजधानी की सड़कों पर उतर आई। सरकार के इस कदम के विरोध में प्रदेश कांग्रेस ने गुरुवार को बड़ी संख्या में कार्यकर्ताओं को लेकर राजभवन के लिए कूच किया। प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के नेतृत्व में राजभवन की ओर बढ़ रहे सैकड़ों कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हाथीबड़कला में  बैरिकेडिंग लगाकर रोक दिया। इस दौरान पुलिस और कार्यकर्ताओं में काफी धक्का-मुक्की हुई।


कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि  राज्यपाल को ज्ञापन देकर मामले सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में न्यायिक जांच की मांग की गई है। उन्होंने कहा कि आखिर केंद्र सरकार इस पूरे प्रकरण पर जांच बैठाने से क्यों कतरा रही है? प्रीतम सिंह ने कहा कि आज जब इस गंभीर प्रकरण ने पूरे देश की राजनीति में भूचाल ला दिया है। ऐसे में कांग्रेस पार्टी मांग करती है कि गृहमंत्री अमित शाह को नैतिकता के आधार पर तत्काल प्रभाव से इस्तीफा दे देना चाहिए। प्रीतम सिंह ने कहा कि इस प्रकरण ने देश की जनता को हतप्रभ कर दिया है। एक तरफ जहां लोकतांत्रिक मूल्यों का हनन हो रहा है, वहीं दूसरी ओर व्यक्ति की निजता पर भी सेंधमारी की जा रही है।
ख़बरों के मुताबिक कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह सहित कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय, पूर्व कैबिनेट मंत्री दिनेश अग्रवाल, पूर्व कैबिनेट मंत्री हीरा सिंह बिष्ट सहित कई नेताओं को पुलिस गिरफ्तार कर पुलिस लाइन ले गई। जहाँ 200 से अधिक कार्यकर्ताओं को कुछ देर तक पुलिस लाइन में बैठाए रखने के बाद निजी मुचलके पर छोड़ दिया गया। गौरतलब है कि संसद के मानसून सत्र में भी यह मुद्दा कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों द्वारा प्रमुखता से उठाया जा रहा हैै। हालांकि   सत्तारूढ़़ बीजेपी इस मामले में अपनी किसी भी तरह की भूमिका से साफ इंकार कर रही है।