Home अपराध बेख़ौफ़: जेल से चल रहा था रंगदारी मांगने का धंधा, एसटीएफ ने...

बेख़ौफ़: जेल से चल रहा था रंगदारी मांगने का धंधा, एसटीएफ ने तोड़ा नेटवर्क

208
0

संवाददाता

हरिद्वार, 10 जनवरी।
हरिद्वार के रोशनाबाद जेल में बंद दो शातिरों द्वारा फोन कर फिरौती मांगने के मामले का एसटीएफ ने खुलासा कर दिया है। एसटीएफ ने जेल से फिरौती मांगे जाने के सूचना पर जेल में रेड डाली। एसटीएफ ने दो मोबाइल जब्त किए गए। वार्डन सहित दो कर्मियों को निलंबित कर दिया गया। वहीं, जेल के बाहर फिरौती लेने पहुंचे बदमाशों के दो साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

जेल में बंद व्यक्ति की पत्नी से मांगी फिरौती
इस मामले में डीजीपी को शिकायत मिली थी कि रोशनाबाद जेल में 24 दिसंबर 2020 से बंद वैभव बंसल की पत्नी को जेल से ही किसी दूसरे अपराधी की ओर से प्रताड़ित किया जा रहा है। उसकी पत्नी को व्हाट्सएप से धमकी दी जा रही है कि यदि जेल में वैभव की सलामती चाहती है तो फिरौती के रूप में उनके बताए स्थान पर उनके व्यक्ति को सोने की चेन दे दे। एसटीएफ से गोपनीय जांच कराये जाने पर जेल में बंद इंतजार पहलवान और नावेद आलम का नाम प्रकाश में आया। पता चला कि दोनों ही जेल से मोबाइल का उपयोग कर फिरौती मांगने के साथ ही अन्य अपराधिक नेटवर्क चला रहे हैं।

एसटीएफ ने दो को किया गिरफ्तार
एसटीएफ की टीम ने इंतजार पहलवान और नावेद के बताए स्थान पर वैभव की पत्नी को सोने की चेन (कीमत करीब डेढ़ लाख रुपये) लेकर जाने को कहा। जब वह वहां पहुंची तो साहिल अली नाम का बाइक मैकेनिक मौके पर मिला। वह नावेद का दोस्त है। एसटीएफ टीम ने उसे चेन लेते हुए दबोच लिया। वहीं, साहिल से चेन लेने नावेद के बाद परवेज आलम पहुंचा। उसे भी एसटीएफ ने गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद एसटीएफ और हरिद्वार पुलिस की संयुक्त टीम ने रोशनाबाद जेल में छापा मारा। छापे के दौरान जेल से दो मोबाइल फोन, दो सिम कार्ड, एक मोबाइल चार्जर बरामद किया गया।
डीजीपी ने दिए जांच के आदेश
पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने जेल में मोबाइल फोन और सिम कार्ड आदि मिलने के मामले में जेल कर्मचारियों की संलिप्ता की जांच के आदेश दिए हैं। उन्होंने आइजी जेल, डीआइजी एसटीएफ और एसएसपी हरिद्वार को कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए। कहा कि जो भी दोषी को उसके खिलाफ सख्त एक्शन लिया जाए। उन्होंने कहा कि संलिप्ता के दोषी कर्मियों के खिलाफ मुकदमें किए जाएं। किसी को भी बख्शा न जाए।
दो जेल कर्मी निलंबित
रोशनाबाद जेल से मोबाइल का इस्तेमाल होने और फिरौती के मामले को गंभीरता से लेते हुए आइजी जेल ने वार्डन देवराज सिंह और सुनील तोमर को निलंबित कर जांच के आदेश दिए गए हैं।
जेल में बंद आरोपी
-इतंजार पहलवान पुत्र भूरा निवासी पुरकाजी मुजफ्फरनगर उत्तर प्रदेश।
-नावेद आलम पुत्र रियासत अली निवासी बहादराबाद हरिद्वार।
आज पकड़े गए आरोपी
-परवेज आलम पुत्र रियासत अली निवासी बहादराबाद हरिद्वार।
-साहिल अली पुत्र राशिद निवासी बहादराबाद हरिद्वार।