Home Home ​परंपरा: हीपा गांव के 1008 पिंगलिनाग मंदिर में आयोजित हुआ ‘चौथी का...

​परंपरा: हीपा गांव के 1008 पिंगलिनाग मंदिर में आयोजित हुआ ‘चौथी का मेला’

125
0

संंवाददाता
बेरीनाग, 19 नवंबर। विकासखंड व तहसील थल क्षेत्र के हीपागाँव के पिंगलिनाग मंदिर में (1008 पिंगलिनाग मन्दिर) बुधवार को पारंपरिक ‘चौथी का मेला’ आयोजित किया गया। इस दौरान इष्ट देव को नई फसल का भोग लगाने, पूजा अचर्ना करने के बाद ग्रामीणों द्वारा संयुक्त रूप से विशाल भंडारे का आयोजन किया जाता है, जिसमें सैकड़ों की संख्या में दूर-दूर से आये श्रद्धालुओं द्वारा भोजन व प्रशाद प्राप्त किया जाता है। गौरतलब है कि भैंसीया उडियार ग्राम सभा के पिंगलिनाग मंदिर में हर वर्ष दीपावली व दूतिया पर्व के बाद चौथी के दिन मेला लगता है। इस दिन हीपा – भैंसीया उडियार, बैरिगांव, सेलावन, सिल्दो, ठठोली, बोंगाड़, पाखु, चौसाला,जाख रावत, उड़ियारी, काण्ड किरौली, स्योली, लोहाथल, कराला, दशोली, डाड़ल, पाली मसूरिया, कालेटी व ग्राउ आदि गांवों से यहां पर आकर पूजा अर्चना करते हैं और रात भर चाचरी का आयोजन करते हैं।सभी गांवों के लोगों द्वारा मन्दिर में अपनी नई फसल चढ़ाने की परम्परा रही है। ग्रामीण इष्टदेव को नई फसल का भोग लगाते हैं। इस बार भी मेले में ग्रामीणों ने मंदिर परिसर में पूजा अर्चना करने बाद इष्टदेव को धान की नई फसल का भोग लगाया।

चाचरी का भी होता है रातभर आयोजन

1008 पिंगलिनाग मन्दिर में चौथी के मेले में दो गांवों के ढोली (दास) पहुंचते हैं। यहां पर बोंगाड़ गांव व कांडे गांव के ढोली (दास)आकर रात भर कला का प्रदर्शन करते हैं। इस बार 1008 पिंगलिनाग मन्दिर में हिम्मत सिंह रावत, त्रिलोक सिंह कार्की, परवीन सिंह कार्की, फकीर सिंह कार्की, रमेश कार्की, सुनील सिंह रावत, महिपाल सिंह कार्की, जीवन सिंह कार्की, चामू सिंह कार्की, दीपक सिंह कार्की व भूपाल सिंह कार्की आदि का विशेष सहयोग रहा।