Home उत्तराखंड संपर्क: डॉ धन सिंह रावत पहुंचे जनता के द्वार, गांवों में जाकर...

संपर्क: डॉ धन सिंह रावत पहुंचे जनता के द्वार, गांवों में जाकर जनसमस्याओं से हुए रूबरू 

57
0
पौड़ी (गढ़वाल)- अपनी अलग कार्यशैली के लिए चर्चित प्रदेश के सहकारिता, प्रोटोकाॅल एवं उच्च शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डा. धन सिंह रावत इन दिनों ग्राम-यात्रा पर निकले हैं। इसी सिलसिले में उन्होंने अपनी विधानसभा क्षेत्र के अन्तर्गत थलीसैंण के पीठसैंण, ऐंठी, रणगांव, ब्यासी, बग्वाडी तथा कैन्यूर आदि गांवों में भ्रमण, निरीक्षण एवं जनसंपर्क कार्यक्रम के तहत क्षेत्र को विकास की सौगात दी। उन्होंने पीठसैण में नवनिर्मित वीर चन्द्र सिंह गढ़वाली स्मारक का निरीक्षण किया। रणगांव में ग्रामीणों के साथ बैठक कर उनकी मांग एवं समस्या सुनी तथा मौके पर उपस्थित अधिकारी को समस्या निस्तारण करने के निर्देश दिये।
उन्होंने महिलाओं एवं क्षेत्रवासियों को अपना स्वरोजगार स्थापित कर अपनी आमदनी को बढावा देने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि सरकार स्वरोजगार स्थापित करने के लिए हर क्षेत्र में मदद कर रही है। बिना ब्याज के 5 लाख तक के ऋण दिए जा रहे हैं। डॉ रावत ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में महिला समूहों को सशक्त करने में सहकारी बैंक ने अग्रणी भूमिका निभायी है। उन्होंने महिलाओं को घर गांवों में ही अचार आदि उत्पादों को तैयार कर समूहों को और अधिक सशक्त करने पर जोर दिया। उन्होंने एक बार फिर से उत्तराखंड के पहाड़ी जिलों की आजीविका को सशक्त करने में समूहों की भूमिका को अहम बताया। कहा कि सहकारिता से ही पलायन पर भी अंकुश लगाया जा सकता है।

रणगांव में ग्रामीणों के साथ बैठक कर उनकी मांग एवं समस्या सुनते हुए सहकारिता मंत्री डाॅ धन सिंह रावत ने कहा कि जमीनी स्तर से ही लोगों की आजीविका का साधन सशक्त करने से जीवन स्तर और बेहतर हो पाएगा। इसके लिए उन्होंने सभी लोगों से समूहों में एकजुट होकर कार्य करने का आह्वान किया। उन्होंने  कहा कि समूहों को हर प्रकार के कार्य करने के लिए सरकार की ओर से हर प्रकार की सहायता मुहैया करायी जा रही है। यही नहीं समूह होम स्टे जैसी योजनाओं से जुड़कर भी ग्रामीण क्षेत्रों में स्वरोजगार की संभावनाओं को नया आयाम दिया जा सकता है।