Home अपराध शिकंजा: आखिरकार पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया एक्टर सलमान

शिकंजा: आखिरकार पुलिस के हत्थे चढ़ ही गया एक्टर सलमान

263
0

वृद्धा से सोने के कंगन लूटने का आरोपी है एक्टर उर्फ सलमान, एक आरोपी फरार

संवाददाता
देहरादून, 16 दिसंबर।

राजधानी के पटेलनगर कोतवाली क्षेत्र में एक व्यक्ति द्वारा खुद को पुलिसकर्मी बता कर वृद्ध महिला से धोखे से सोने के कंगन व अन्य जेवर लूटने वाले एक आरोपी को पुलिस ने मुंबई से गिरफ्तार कर लिया। जबकि दूसरा आरोपी फरार है। गिरफ्तार आरोपी को मुंबई में कोर्ट में पेश करने के बाद ट्रांजिट रिमांड पर देहरादून लाया जा रहा है।
पुलिस के मुताबिक चार दिसंबर को बंजारावाला क्षेत्र में वृद्ध महिला से ठगी की वारदात हुई थी। दो युवक बाइक पर सवार थे। उन्होंने खुद को पुलिस कर्मी बताते हुए महिला से कहा था कि आगे चेकिंग चल रही है। अपने जेवर को छिपाकर ले जाना। साथ ही उसके कंगन, चेन आदि उतरवाने के बाद एक अखबार में लपेटकर उसे दे दिया। कुछ देर बाद महिला को ठगी का अहसास हुआ। इस पर पीड़िता विमला जसोला निवासी नरेंद्र सकलानी मार्ग बंजारावाला ने थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई थी।
पुलिस ने शहरभर के सीसीटीवी फुटेज खंगाले तो बाइक सवार दो युवक नजर आए। पुलिस ने इस तरह की ठगी के संबंध में छानबीन की तो पता चला कि ईरानी गैंग के लोग ऐसी वारदात करते हैं। इस पर गैंस के करीब 40-45 अपराधियों के संबंध में जानकारी जुटाई गई। पता किया गया कि इस अवधि में कौन-कौन अपराधी जेल में हैं और कौन-कौन बाहर हैं।

एक की लोकेशन दून में मिली
इस गैंग के शातिरों के बारे में पता किया गया जो जेल से बाहर थे। जिसमें से एक की लोकेशन घटना वाले दिन देहरादून में मिली। सीसीटीवी फुटेज एवं महिला से पूछताछ के आधार पर उक्त व्यक्ति की पहचान जाकिर उर्फ सलमान उर्फ एक्टर के रूप में हुई। जाकिर मुंबई महाराष्ट्र का निवासी है। जबकि दूसरा आरोपी इकबाल देवबंद सहारनपुर निवासी है। जाकिर मुंबई से जौलीग्रांट आया था। वहीं इकबाल देवबंद से देहरादून आया। महिला से ठगी घटना को अंजाम देने के बाद दोनों वापस देवबन्द चले गये। जहां से अगले दिन जाकिर उर्फ सलमान उर्फ एक्टर चण्डीगढ़ गया और वहां से फ्लाईट लेकर मुंबई चला गया।
दोनों आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमों को मुंबई व अन्य सम्भावित स्थानों के लिए रवाना किया गया। मुंबई भेजी गई टीम को सफलता मिल गई। पुलिस सलमान जाफरी उर्फ जाकिर अली जाफरी उर्फ एक्टर पुत्र फिरोज मूल निवासी ईरानी मोहल्ला बुराड जिला शाहदोल मध्य प्रदेश के घर पहुंची। वहां पता चला कि वह कहीं और रह रहा है। इस पर पुलिस मकान नंबर 311 ओम श्री जय अंबे सोसायटी ओशिवारा थाना ओशिवारा जोगेश्वरी मुंबई पहुंची। जहां से उसे 15 दिसंबर को गिरफ्तार कर लिया। वहां मुंबई की संबंधित अदालत में उसे पेश करने के बाद ट्रांजिट रिमांड पर उसे देहरादून लाया जा रहा है। उसके खिलाफ महाराष्ट्र में भी धोखाधड़ी के तीन मामले दर्ज हैं।