Home उत्तराखंड आवाज़: नये टोल प्लाजा के निर्माण की खबर से नाराज़ हैं लोग,...

आवाज़: नये टोल प्लाजा के निर्माण की खबर से नाराज़ हैं लोग, कांग्रेस करेगी विरोध

92
0

 
संवाददाता
ऋषिकेश, 26 मई। हरिद्वार रोड पर नेपाली फार्म के निकट प्रस्तावित टोल प्लाजा निर्माण शुरू होने से पहले ही विरोध के केंद्र में आ गया है। कांग्रेस इस टोल प्लाजा के विरोध में मुखर हो गई है।  प्रदेश कांग्रेस महासचिव राजपाल खरोला का कहना है कि लच्छीवाला की तर्ज पर एक नया टोल प्लाजा नेपाली फार्म में भी बनाया जा रहा है। कांग्रेस इसका सख्त विरोध करेगी। गत दिवस खरोला ने मौके पर पहुंचकर मामले का जायजा लिया और इस बारे में संबंधित अधिकारियों से बात की। खरोला के अनुसार, एनएच के अधिकारियों का कहना है कि  केंद्र सरकार के नियमों के तहत ही यह कार्य किया जा रहा है।
खरोला ने कहा कि जहां एक तरफ ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र के लोग लच्छीवाला में बने टोल प्लाजा से परेशान हैंं और  लोगों को 85 रुपए देकर देहरादून जाना पड़ रहा है। वहीं, केंद्र सरकार एक और टैक्स ऋषिकेश विधानसभा  के लोगों पर लगाने जा रही है। खरोला ने राष्ट्रीय राजमार्ग प्रोजेक्ट डायरेक्टर पंकज मौर्य से विस्तृत वार्ता करते हुए बताया कि एक तरफ लच्छीवाला टोल प्लाजा से ही क्षेत्रीय लोग परेशान हैं, दूसरी तरफ इतने नजदीक पर दूसरे टोल प्लाजा बनाने की क्या आवश्यकता है। अभी तक लोगों को देहरादून राजधानी जाने में तकलीफ हो रही थी। लच्छीवाला टोल प्लाजा बनने के बाद श्यामपुर, रायवाला, छिद्दारवाला, हरिपुर मे रहने वाले तमाम लोगों को रोजमर्रा के काम से जाने पर भी टोल प्लाजा में पैसे देने पड़ेंगे। खरोला ने कहा की यह अत्यधिक दुर्भाग्यपूर्ण है। एक तरफ कोरोना महामारी से लोगों की कमर टूटी हुई है। दूसरी तरफ इस तरह नाजायज कर लगाना शायद इस सरकार की आदत बन गई है। खरोला ने कहा कि इन हालातों में जनता के पास एक तरफ कुआं एक तरफ खाई जैसी स्थिति बन गई है। घर से बाहर निकलने पर टैक्स पड़ना इससे बड़ा दुर्भाग्य जनता का नहीं हो सकता। लिहाजा हम प्रदेश व केंद्र सरकार से मांग करते हैं कि छिंदरवाला टोल प्लाजा को अभिलंब स्थगित किया जाए। जिससे क्षेत्रीय जनता को राहत मिल सके यदि ऐसा नहीं किया जाता तो कांग्रेस पार्टी इसके लिए आंदोलन करने पर बाध्य होगी। खरोला ने बताया कि कॉविड के नियमों का पालन करते हुए आज इस स्थान पर भीड़ नहीं की गई। लेकिन जल्द ही इसका समाधान नहीं निकला गया तो जनता सड़कों पर होगी। वार्ता में नगर प्रधान ध्यान सिंह असवाल व सभी पंचायत प्रतिनिधि मौजूद रहे।