Home उत्तराखंड निजात: आखिर मारा गया आदमखोर गुलदार, 3 दिनों में दो मासूमों को...

निजात: आखिर मारा गया आदमखोर गुलदार, 3 दिनों में दो मासूमों को बना चुका था शिकार

92
0

संंवाददाता

नरेंद्रनगर, 14 अक्टूबर। आदमखोर गुलदार के आतंक में जी रहे टिहरी जिले के नरेंद्रनगर ब्लॉक  के लोगों को आखिरकार खौफ से निजात मिल गई है। पिछले तीन दिनों के भीतर दो मासूम बच्चों का शिकार करने वाला आदमखोर गुलदार खुद शिकारियों की गोली का शिकार बन गया है। गुलदार को  शिकारी जॉय हुकिल की बंदूक से निकली गोली ने मौत की नींद सुला दिया। गुुुुुलदार के मारे जाने से क्षेत्र के ग्रामीणों ने ली राहत की सांस ली है और उन्होंने वन विभाग का शुक्रिया अदा किया है। 
गौरतलब है  कि टिहरी जनपद के नरेंद्रनगर विकासखंड अंतर्गत कसमोली गांव में मंगलवार की शाम 5:00 बजे आदमखोर गुलदार ने 6 वर्षीय मासूम बच्चे को निवाला बना लिया था। मासूम बच्चे रौनक का शव गांव के पास झाड़ियों में मिला था। इससे पहले गत 11 अक्टूबर की रात नरेंद्रनगर विकासखंड के ही ग्रामसभा सालदोगी अंतर्गत पीपलसारी नामे तोक में गुलदार ने मुकेश रावत की सात वर्षीय बेटी स्मृति रावत को अपना निवाला बना लिया था। बालिका घर के आंगन में शौच के लिए जैसे ही दरवाजे से बाहर आई, घात लगाकर बैठे गुलदार ने उस पर हमला कर दिया और उसे उठाकर ले गया। बालिका की चीख सुनकर परिजन गुलदार के पीछे भागे। लेकिन तब तक गुलदार बालिका को दबोचकर झाड़ियों में गायब हो चुका था। सूचना के बाद मौके पर वन विभाग एवं पुलिस टीम भी पहुंच गई और कई घंटे की खोजबीन के बाद बालिका का शव घर से करीब 800 मीटर दूर क्षत विक्षत हालत में मिला था। 3 दिनों के भीतर हुई दो दुखद घटनाओं से ग्रामीणों के दिल दहल उठे। क्षेत्र में भय के साथ ही वन विभाग के खिलाफ भी आक्रोश व्याप्त था।
घटनाओं को देखते हुए वन विभाग ने गुलदार को आदमखोर घोषित कर दिया।  साथ ही क्षेत्र में पिंजरे लगाने के अलावा  शिकारी जॉय हुकिल को बुला लिया।
वन विभाग की टीम शिकारियों के साथ जंगल में डेरा डाले हुए थी कि गत रात्रि आदमखोर घटनास्थल के आसपास दिखाई दिया।  शिकारी जॉय हुकिल ने तुरंत उसे अपनी गोली से ढेर कर दिया ।