Home उत्तराखंड पहल: राज्य के सभी 13 जिलों के न्यायालयों में अधिवक्ताओं को कंप्यूटर...

पहल: राज्य के सभी 13 जिलों के न्यायालयों में अधिवक्ताओं को कंप्यूटर ट्रेनिंग

80
0
हाईकोर्ट ने की नई पहल,अधिवक्ताओं को कंप्यूटर की पूरी जानकारी जरूरी
सुशील खत्री
नैनीताल, 04 दिसंबर। उत्तराखण्ड उच्च न्यायालय द्वारा अधिवक्ताओं की कम्प्यूटर की जानकारी में वृद्धि करने हेतु शुक्रवार  को राज्य के सभी 13 जिलों के न्यायालयों में अधिवक्ताओं के लिए कम्प्यूटर ट्रेनिंग प्रोग्राम आयोजित किया गया। उक्त ट्रेनिंग प्रोग्राम की परिकल्पना कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश, न्यायमूर्ति रवि मलिमठ द्वारा की गयी है, जिसे कम्प्यूटर कमेटी उत्तराखण्ड उच्च न्यायालय द्वारा किया जा रहा है । कार्यकारी मुख्य न्यायाधीश द्वारा विडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से इस ट्रेनिंग का शुभारंभ गुरुवार की सायं पर जिला जजशिप, नैनीताल में किया गया। इस ट्रैनिंग प्रोग्राम का मुख्य उद्देश्य न्याय प्रणाली के महत्वपूर्ण अंग, अधिवक्ताओं, की कम्प्यूटर की प्रयोगात्मक जानकारी में वृद्धि करना है, जिससे न्याय प्रणाली द्वारा किए जा रहे कम्प्यूटरीकरण के कार्य में गुणात्मक वृद्धि हो सके। अधिवक्ता समुदाय न्याय व्यवस्था का एक ऐसा अंग है जिसे कम्प्यूटर की अच्छी जानकारी होने मात्र से न्यायपालिका की कार्य व्यवस्था अधिक सुदृण हो जायेगी। यह प्रोग्राम निरन्तर चलता रहेगा, जिससे उत्तराखण्ड में प्रैक्टिस कर रहे समस्त अधिवक्तागण लाभान्वित हो सकेंगे ।

अधिवक्ताओं के लिए आई.टी. हेल्प डेस्क की भी घोषणा की गयी । आई. टी. हेल्प डेस्क के हेल्पलाईन नम्बर पर काल करके कोई भी अधिवक्ता किसी भी जिले से कम्प्यूटर सम्बन्धी जानकारी कार्य समय में प्राप्त कर सकता है।
प्रशिक्षण कार्यक्रम में न्यायामूर्ति मनोज तिवारी, महाधिवक्ता एस.एन. बाबूलकर, न्यायमूर्ति शरद शर्मा, न्यायमूर्ति रवीन्द्र मैठानी, रजिस्टार जनरल हीरा सिंह बोनाल, जिला जज राजीव कुमार खुल्बे, रजिस्टार सुजीत कुमार, रजिस्टार मनोज गर्ब्य्याल उपस्थित थे। ओएसडी/अपर जिला अम्बिका पन्त व ओएसडी/अपर जिला जज श्री अनिरूद्ध भट्ट द्वारा प्रशिक्षण दिया गया।