Home उत्तराखंड शिकंजा: दुकान की आड़ में चरस बेचने वाला पूर्व फौजी गिरफ्तार

शिकंजा: दुकान की आड़ में चरस बेचने वाला पूर्व फौजी गिरफ्तार

108
0
संवाददाता
कोटद्वार, 16 सितंबर। पड़ोसी राज्य यूपी की सीमा से लगते शहर में स्मैक और चरस की तस्करी लगातार बढ़ती जा रही है। यहां तक कि एक रिटायर्ड फौजी भी इस काले कारोबार में लिप्त पाया गया है। शिकायत मिलने के बाद पुलिस अधीक्षक पी रेणुका देवी के निर्देश पर  मादक पदार्थों की तस्करी के खिलाफ स्थानीय पुलिस द्वारा शहर और आसपास के इलाकों में धरपकड़ अभियान चलाया जा रहा है। इसी अभियान के दौरान पुलिस ने यहां एक रिटायर्ड फौजी को चरस की तस्करी करते पकड़ा है। पकड़े गए आरोपी के पास से पुलिस ने 216 ग्राम चरस बरामद की है। पुलिस की पूछताछ में पूर्व फौजी ने बताया कि वह दूसरे राज्यों से चरस लाकर क्षेत्र के युवाओं को बेचता है। फिलहाल आरोपी से पूछताछ जारी है। पुलिस उसके दूसरे साथियों के बारे में भी जानकारी जुटा रही है। थाना कोतवाली से मिली जानकारी के मुताबिक पकड़े गए पूर्व सैनिक ने अपना नाम कमलेश खंतवाल बताया है। कमलेश खंतवाल का परिवार ध्रुवपुर में रहता है, जहां कमलेश खंतवाल की परचून की दुकान है। पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, चरस के साथ गिरफ्तार कमलेश खंतवाल इंडियन आर्मी में था। साल 2016 में वह आर्मी से रिटायर हो गया। रिटायरमेंट के वक्त उसे 18 लाख रुपये मिले थे। इस रुपये से उसने एक ऑटो खरीदा और बची हुई रकम ब्याज पर लगा दी। 
कमलेश खंतवाल ने प्लानिंग तो ठीक की थी, लेकिन मुनाफा नहीं हुआ। ब्याज पर लगी सारी रकम डूब गई। ब्याज में नुकसान होने पर कमलेश खंतवाल ने चरस की तस्करी शुरू कर दी।  दूसरे राज्यों से चरस लाकर वह क्षेत्र के युवाओं को बेचने लगा। परचून की दुकान की आड़ में पूर्व फौजी कमलेश खंतवाल चरस की तस्करी करने लगा। कुछ दिन पहले पुलिस को कमलेश खंतवाल की परचून की दुकान में चरस बेचे जाने की सूचना मिली तो पुलिस ने दुकान में छापा मारकर आरोपी को चरस बेचते धर दबोचा। आरोपी के पास से 216 ग्राम चरस और 48 हजार रुपये भी बरामद हुए। पुलिस ने आरोपी कमलेश खंतवाल के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत केस दर्ज किया है। फिलहाल पुलिस कमलेश से पूछताछ कर रही है। उसके साथियों के बारे में जानकारी जुटाई जा रही है। साथ ही कमलेश कहां से चरस लाता था, इसकी भी जांच की जा रही है।