Home उत्तराखंड विरोध: संयुक्त ट्रेड यूनियन संघर्ष समिति की श्रम कानूनों में कटौती के...

विरोध: संयुक्त ट्रेड यूनियन संघर्ष समिति की श्रम कानूनों में कटौती के खिलाफ देश व्यापी हड़ताल 

174
0

संवाददाता
देहरादून, 26 नवंंबर।

उत्तराखंड संयुक्त ट्रेड यूनियन्स संघर्ष समिति द्वारा देशव्यापी मजदूर हड़ताल में भागीदारी करते हुए आज उत्तरखंड में भी हड़ताल रही। ट्रेड यूनियन नेताओं का दावा है कि आज की हड़ताल का व्यापक असर रहा। इस सफल हड़ताल के लिए मजदूर यूनियनों का धन्यवाद देते हुए वक्ताओं ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार की मजदूर व किसान विरोधी नीतियों के कारण देश के करोड़ों मजदूर बेरोजगार होकर आज भूखों मरने की स्थिति में हैं। मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद से अब तक 12 करोड़ से अधिक श्रमिक बेरोजगार हो गए हैं। देश को आत्मनिर्भर और स्वावलंबी बनाने वाले दोनों वर्गों (किसान व मजदूर वर्ग) का गला घोंटने का काम वर्तमान भाजपा सरकार ने किसान विरोधी बिल बिना चर्चा के बहुमत के आधार पर पास कराकर एवं मजदूरों के रक्षा कवच 44 श्रम कानूनों में भारी बदलाव करके किया है।

 

वक्ताओं ने कहा कि आज केंद्र की मोदी सरकार के शासनकाल में किसानों की ऐतिहासिक आत्महत्याओं का रिकॉर्ड भाजपा सरकार की गलत नीतियों का ही परिणाम है। केंद्र व राज्य सरकारों की गलत श्रम नीतियों के विरोध में संयुक्त ट्रेड यूनियन मोर्चा केंद्र से लेकर राज्यों तक समय-समय पर धरना प्रदर्शन करता रहा है। राष्ट्रीय स्तर की “संयुक्त ट्रेड यूनियन मोर्चा” के अनेक प्रयासों के बाद भी श्रमिक संगठनों को वार्ता का समय ना देकर केंद्र व राज्य की भाजपा सरकार द्वारा श्रमिक जगत का घोर अपमान करने का कार्य लगातार किया जाता रहा है।

गुरुवार को हड़ताली कर्मचारी गाँधी पार्क के गेट पर एकत्रित हुए और रैली निकाल कर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया | इस अवसर पर इंटक के प्रांतीय अध्यक्ष व पूर्व केबिनेट मंत्री हीरा सिंह बिष्ट , सीटू के प्रांतीय सचिव लेखराज , अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह नेगी , एटक के प्रांतीय महामंत्री अशोक शर्मा, एक्टू के के.पी.चंदोला, बैंक कर्मचारियोंं की यूनियन के एस.एस.रजवार , सी.के.जोशी , बीमा से नन्दलाल शर्मा , आंगनबाड़ी कार्यकत्री / सेविका कर्मचारी यूनियंस की प्रांतीय महामंत्री चित्रा ,रजनी गुलेरिया , आशा स्वास्थ्य कार्यकत्री यूनियन की अनीता अरोड़ा , भोजन माता कामगार यूनियन की प्रांतीय महामंत्री मोनिका , दून स्कूल कर्मचारी पंचायत के नरेंद्र सिंह ,यू .के. एम.एस.आर.ए के दीपक शर्मा ने विचार व्यक्त किये। इस अवसर पर बड़ी संख्या में हड़ताली कर्मचारी उपस्थित थे।