Home उत्तराखंड स्मरण: कोविड युद्ध के शहीद  साथियों को याद कर पुलिस ने दी...

स्मरण: कोविड युद्ध के शहीद  साथियों को याद कर पुलिस ने दी श्रद्धांजलि

124
0

 

संवाददाता
देहरादून,11 जून। जानलेवा वैश्विक महामारी कोरोना के खिलाफ लड़ी जा रही जंग में स्वास्थ्य विभाग के बाद मित्र पुलिस कही जाने वाली उत्तराखंड पुलिस की उल्लेखनीय भूमिका रही है। इस जंग में दर्जनों पुलिसकर्मियों को अपने प्राणों से भी हाथ धोना पड़ा है। लोगों का जीवन बचाने में शहादत देने वाले अपने साथियों को उत्तराखंड पुलिस ने आज़ याद किया और भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। शुक्रवार को यहां पुलिस मुख्यालय में आयोजित एक कार्यक्रम में कोरोना की पहली और दूसरी लहर में शहीद हुए उत्तराखण्ड पुलिस के अधिकारियों एवं कर्मचारियों की आत्मा की शांति के लिए दो मिनट का मौन रख कर उन्हें श्रद्धांजलि दी गयी। इसके साथ ही शहीदों के परिजनों के प्रति शोक संवेदना प्रकट करते हुए उत्तराखण्ड पुलिस में उनके द्वारा दिये गये अभूतपूर्व योगदान को याद किया गया।


  इस अवसर पर  पुलिस महानिदेशक उत्तराखण्ड अशोक कुमार ने कहा कि कोरोना के दौरान उत्तराखण्ड पुलिस के जवानों ने मिशन हौसला के तहत जरूरतमंदों की मदद कर देश के अन्य पुलिस बलों के लिए उदाहरण पेश किया है। उन्होंने कहा कि पहली लहर की तुलना में दूसरी लहर में उत्तराखंड पुलिस के अधिक जवान संक्रमित हुए, परंतु टीकाकरण की सुविधा मिलने से सभी को काफी हद तक सुरक्षित रखने में मदद मिली। डीजीपी अशोक कुमार ने कहा कि पहली लहर (08) और दूसरी लहर (05) में अब तक उत्तराखंड पुलिस के कुल 13 जवानों ने कोरोना के खिलाफ इस लड़ाई में अपना बलिदान दिया। इस कठिन समय में उन सभी की अनुकरणीय सेवाएं हमेशा याद रखी जाएंगी। डीजीपी ने उत्तराखण्ड पुलिस की ओर से शहीद पुलिसकर्मियों के व उनके स्वजनों के प्रति गहरी संवेदना प्रकट करते हुए सभी पुलिसकर्मियों से जल्द से जल्द अपना, अपने परिजनों और निकट संबंधियों का टीकाकरण करवाने एवं कोरोना की सम्भावित तीसरी लहर के लिए तैयार रहने को कहा। कार्यक्रम में  पी वी के प्रसाद, अपर पुलिस महानिदेशक, पीएसी,  अभिनव कुमार, अपर पुलिस महानिदेशक, प्रशासन, अमित सिन्हा, पुलिस महानिरीक्षक, पी/एम,  वी मुरूगेशन, पुलिस महानिरीक्षक, अपराध एवं कानून व्यवस्था,  संजय गुंज्याल, पुलिस महानिरीक्षक, अभिसूचना एवं सुरक्षा,  ए पी अंशुमान, पुलिस महानिरीक्षक, फायर,  पूरन सिंह रावत, पुलिस महानिरीक्षक, प्रशिक्षण, पुष्पक ज्योति, पुलिस महानिरीक्षक, कार्मिक, सहित अन्य तमाम पुलिस अधिकारी उपस्थित रहे।