Home उत्तराखंड ​हादसा: कार समेत नहर में डूबा हुआ मिला चालक का शव, पिछले...

​हादसा: कार समेत नहर में डूबा हुआ मिला चालक का शव, पिछले 10 दिनों से था लापता

198
0
प्रतीकात्मक फोटो
संवाददाता
देहरादून- 
करीब दस दिन पहले कार समेत लापता हुए दून के चालक का शव हरिद्वार के श्यामपुर नहर पटरी से रविवार को बरामद हुआ है। नेहरूकॉलोनी थाना और श्यामपुर थाना पुलिस ने संयुक्त अभियान में चालक का शव बरामद किया। मृतक के परिजनों ने मौके पर पहुंचकर शव की शिनाख्त की।
नेहरूकॉलोनी पुलिस के अनुसार 11 अगस्त को शकुंतला देवी, निवासी गोरखा चौक, नवादा ने पुलिस को शिकायत देते हुए बताया कि उनके वाहन का चालक शिवजी सिंह 8 अगस्त को देहरादून से सवारी लेकर उनकी कार से बरेली गया था । बरेली पहुंचने के बाद 8 अगस्त की रात चालक शिवजी ने टेलीफोन पर बताया कि वह बरेली से वापसी के लिए चल रहा है। लेकिन 9 अगस्त को वह घर देहरादून वापस नहीं पहुंचा। उसका मोबाइल फोन स्विच आफ आ रहा था। अब चालक शिवजी सिंंह वाहन समेत गुमशुदा है । पुलिस ने चालक शिवजी सिंह की गुमशुदगी दर्ज की और पुलिस उपमहानिरीक्षक को मामले की जानकारी दी। उपमहानिरीक्षक अरूण मोहन जोशी ने चालक को तलाश करने के लिए टीम का गठन किया। पुलिस टीम ने सर्वप्रथम गुमशुदा चालक की मोबाइल कॉल डिटेल हासिल की, जिसका लास्ट मोबाइल बरेली स्विच ऑफ होना पाया गया। उसके बाद देहरादून के  थाना नेहरू कॉलोनी से तुरंत उपनिरीक्षक राकेश पुंडीर के नेतृत्व में एक टीम को देहरादून से बरेली के लिए रवाना किया गया। चालक शिवजी सिंह जिस सवारी को छोड़ने गया था, उस सवारी से पुलिस टीम ने पूछताछ की। सवारी ने बताया कि 8 अगस्त की रात चालक ने उन्हें बरेली में ड्राप कर दिया था। ड्राप करने के बाद चालक यहां से वापस देहरादून के लिए चल दिया था। पुलिस टीम ने चालक के परिजनों एवं जिस टैक्सी सर्विस दून टैैक्सी वाला में काम करता था, उस टैक्सी सर्विस के अन्य कर्मचारियों से पूछताछ की । जनपद बरेली से लगातार सीसीटीवी के माध्यम से कार को चेक किया गया । समस्त टोल प्लाजा पर कार को चेक किया गया। बरेली टोल प्लाजा, मुरादाबाद टोल प्लाजा पर कार को चेक किया तो कार देहरादून के लिए आती हुई दिखी। जिसमेंं चालक अकेले बैठा दिख रहा था। पुलिस टीम ने लगातार बरेली से देहरादून रूट ,मुरादाबाद रूट, दिल्ली रूट काशीपुर रूट के कैमरे चेक किए। कैमरे चेक करते हुए उन कैमरों से कार नजीबाबाद की ओर आती हुई दिखी। पुलिस टीम ने कांठ , धामपुर नगीना, नजीबाबाद से हरिद्वार नहर पटरी वाले रूट पर कैमरे चेक किए। सीसीटीवी से कार को ट्रैक किया तो वह कार कैमरे नहर पटरी हरिद्वार-नजीबाबाद रोड पर सैनी ढाबे के पास लगे कैमरे में आती हुई दिखी । जो 9 अगस्त को सुबह करीब पौने छह बजे नजीबाबाद से हरिद्वार की ओर आ रही थी। नहर पटरी समाप्त होने के बाद पुलिस टीम ने जब श्यामपुर में सीसीटीवी चेक किया तो वह कार श्यामपुर में नहीं आई। इसके बाद
पुलिस टीम ने नजीबाबाद हाईवे सीसीटीवी चेक किया तो वह कार नजीबाबाद हाईवे पर भी नहीं दिखी। पुलिस टीम ने फिर सैनी ढाबा एवं जाने आने के सभी रूटों का बैकअप लेकर तीन दिन तक लगातार बैकअप चेक किया। लेकिन वह कार नहर पटरी से किसी भी सड़क मार्ग से बाहर जाती नहीं दिखी। सभी रूट के सीसीटीवी चेक करने के बाद पुलिस को अंदेशा हो गया कि वह कार नहर पटरी में कहीं दुर्घटनाग्रस्त हो गई है । इसके बाद पुलिस टीम ने नहर पटरी नहर के किनारे किनारे तलाशी अभियान चलाया। रविवार की शाम के समय पानी कम होने पर एक स्थान पर कार का एक हिस्सा नहर में डूबा हुआ दिखा। लेकिन तब तक रात हो गई थी। थाना नेहरू कॉलोनी पुलिस टीम ने थाना श्यामपुर को इस संबंध में सूचना दी। सोमवार को थाना नेहरू कॉलोनी पुलिस और श्यामपुर पुलिस ने नहर में रेस्क्यू अभियान चलाकर उस कार को नहर से बाहर निकाला। जिसमें कार चालक शिवजी का शव भी बरामद हुआ। जिससे यह स्पष्ट हो गया कि बरेली से देहरादून आते हुए नहर पटरी के पास 9 अगस्त सुबह के समय सैनी ढाबे से करीब 2 से 5 किलोमीटर आगे यह कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई और नहर में गिर गई। पानी अधिक होने के कारण नहर में डूब गई। चालक कार से बाहर इसलिए नहीं निकल पाया क्योंकि चालक ने सीट बेल्ट पहनी हुई थी। मौके पर चालक के परिजनों को बुलाया गया। जिन्होंने कार और चालक शिवजी सिंह (52), निवासी खरोली, बलिया, उत्तर प्रदेश, हाल निवासी फ्रेंडस कॉलोनी, गोरखपुर, थाना नेहरू कॉलोनी की शिनाख्त की। पुलिस मामले में आवश्यक कानूनी कार्यवाही कर रही है। रेस्क्यू अभियान चलाकर कार और चालक को बरामद करने वाली पुलिस टीम में एसआई राकेश पुंडीर, आरक्षी दीप प्रकाश, आरक्षी विजय और आरक्षी गंभीर शामिल रहे।