Home उत्तराखंड शिकंजा: उत्तराखंड पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, यूपी से पकड़ लायी ज्वैलर्स...

शिकंजा: उत्तराखंड पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, यूपी से पकड़ लायी ज्वैलर्स के लुटेरों को 

85
0

संवाददाता

देहरादन, 02 अक्टूबर। अपनी लगातार कोशिशों के बाद आखिरकार दून पुलिस को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। पिछले महीने शहर में एक सर्राफ से जेवरात से भरा बैग लूट कर फरार हुए बदमाशों को पुलिस ने दबोच लिया है।
 गौरतलब है कि 22 सितंबर को देर शाम देहरादून के ब्लेसिंग फार्म के निकट साइना ज्वेलर्स के सैफिकुल नामक सर्राफा व्यापारी के हाथों से सोने के माल से भरा बैग छीन कर लुटेरे फरार हो गए थे। इस दौरान उन अपराधियों ने बैग के छीना झपटी के विरोध करने पर व्यापारी के पैर में गोली भी मार दी थी ।
उस वक्त सर्राफा व्यापारी अपनी दुकान बंद कर के अपने घर जाने की तैयारी कर रहा था। उसी दौरान मोटर साईकल पर सवार दो अपराधियों ने लूटपाट को अंजाम दिया था।
 सुनार के साथ हुई लूटपाट की घटना में दून पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। शहर की थाना पटेलनगर पुलिस ने  सर्राफा व्यापारी से हुई लूट का खुलासा कर दिया है। पुलिस ने इस वारदात में शामिल दो कु्ख्यात बदमाशों को गिरफ्तार किया है।
पुलिस के मुताबिक, दोनों गिरफ्तार अपराधी पूर्व में कई जघन्य अपराधों को अंजाम दे चुके हैं। वारदात का खुलासा करने वाली टीम को पुलिस प्रशासन की ओर से ईनाम दिया गया।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, पटेलनगर पुलिस ने इस वारदात को अंजाम देने वाले कुख्यात अपराधी राहुल पंडित और नदीम को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि दोनों शातिर आरोपी कई राज्यों में लूट की वारदात को अंजाम दे चुके हैं। हालांकि इस घटना में शामिल दो अन्य आरोपी फरार हैं जिनकी तलाश में पुलिस जुटी है। पुलिस ने सर्राफा व्यापारी से लूटे गए सोने के आभूषण और नगदी भी बरामद की है। एसएसपी अरुण मोहन जोशी ने पुलिस टीम के कार्य की सराहना की और देहरादून पुलिस की ओर से ढाई हजार का इनाम दिया है। 
इसके अलावा आई जी की ओर से 5 हज़ार का इनाम और पीएचक्यू की ओर 20 हज़ार का इनाम भी मामले का खुलासे करने वाली पटेलनगर पुलिस टीम को दिया जाएगा।
पुलिस ने बताया कि तहकीकात के दौरान मुखबिर तंत्र को सक्रिय करते हुए सर्विलांस के जरिए अभियुक्तों की सुरागरसी की गयी। इससे अभियुक्त फैजल तथा नईम के सहारनपुर, अभियुक्त नदीम के बुलन्दशहर तथा अभियुक्त राहुल शर्मा उर्फ राहुल पण्डित के दिल्ली में होने की जानकारी मिली। इस पर तत्काल तीन अलग-अलग पुलिस टीमें गठित कर अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु सम्भावित स्थानों को रवाना की गयीं। उनि धर्मेन्द्र रौतेला तथा उनि दिलबर सिंह नेगी के नेतृत्व में गठित टीम ने बुलन्दशहर पहुंचकर  पहली अक्टूबर को रात्रि  लगभग 8 बजे अभियुक्त नदीम को गुलावटी फ्लाईओवर के पास से गिरफ्तार कर लिया। उधर, उनि नरेश राठौड़ के नेतृत्व में गठित टीम द्वारा अभियुक्त राहुल शर्मा उर्फ राहुल पण्डित को मुखबिर की सूचना पर शहादरा क्षेत्र दिल्ली से गिरफ्तार किया गया।
दोनों अभियुक्तों के कब्जे से घटना में लूटी गयी ज्वैलरी, नगदी व अन्य सामान बरामद किया गया। अभियुक्त नदीम की निशानदेही पर पुलिस टीम द्वारा पलवल रोड, शमशान घाट के पास से घटना में प्रयुक्त आर-15 मोटर साइकिल बरामद की गयी।
गिरफ्तार अभियुक्तों में राहुल शर्मा उर्फ राहुल पण्डित पुत्र कैलाश चन्द्र शर्मा, निवासी: वैद्य जी वाली गली, साठा बाजार, बुलन्दशहर (32 वर्ष), तथा नदीम पुत्र मतीन, निवासी: मौहल्ला शेखपारा, थाना व कस्बा- सिकन्दराबाद, बुलन्दशहर (26 वर्ष) शामिल हैं। जबकि नईम पुत्र शराफत, निवासीः बाजोरिया रोड, घोघरेकी, सहारनपुर (24 वर्ष) और फैजल चौधरी पुत्र मौहम्मद अनीस, निवासी: 829/5 खालापार, योगेन्द्रपुरी (रामपुरम), थाना- कोतवाली नगर, मुजफ्फरनगर (24 वर्ष) फरार हैं, जिनकी धर-पकड़ के लिए पुलिस लगातार कोशिश कर रही है।