Home उत्तराखंड शिकंजा: ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, चार आरोपी राजस्थान से...

शिकंजा: ऑनलाइन ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, चार आरोपी राजस्थान से गिरफ्तार

90
0

संवाददाता

देहरादून, 08 सितंबर। दून पुलिस ने अपराधियों के एक ऐसे गिरोह का भंडाफोड़ किया है जो  फौजियों की फर्जी आईडी बनाकर ओएलएक्स के माध्यम से अब तक सैकड़ों लोगों के साथ ठगी कर चुका है। पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए गए राजस्थान के 4 बदमाशों ने अब तक 300 लोगों के साथ लाखों रुपए की ठगी की है।  देहरादून में भी कई लोगों को जब उन्होंने अपने जाल में फंसाया तो दून पुलिस ने रणनीति पर काम करते हुए चारों बदमाशों को राजस्थान से ही दबोच लिया। उनके पास से दर्जनों की संख्या में फौजियों की फर्जी आईडी और कई तरह के कार्ड बरामद हुए हैं। 
 शिकायतकर्ता प्रेम सिंह धनाई पुत्र दिलीप सिंह धनाई, निवासी: 33 बी देवांचल विहार, धर्मपुर डांडा, नेहरू कालोनी देहरादून द्वारा थाना नेहरू कालोनी पर आकर लिखित शिकायत दर्ज कराई गई थी कि उनके द्वारा अपना पुराना सामान बेचने के लिये ओएलएक्स पर एक एैड डाला गया था, जिसके कुछ समय पश्चात् उक्त सामान को खरीदने के लिये उनके पास एक व्यक्ति द्वारा फोन कर खुद को आर्मी परसन बताते हुए उक्त सामान को खरीदने की बात कही गयी। पुलिस में दर्ज रिपोर्ट के अनुसार सामान का भुगतान उनके खाते में डालने की बात कहकर उनके मोबाइल में आये हुए एक नम्बर के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गयी। जैसे ही उनके द्वारा उक्त नम्बर को उक्त व्यक्ति को बताया गया, उसके कुछ समय पश्चात उनके खाते से 34000/- रुपए निकल गये। इस मामले में तहरीर के आधार पर थाना नेहरू कालोनी में मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने जांच शुरू कर दी। 
 साइबर सेल प्रभारी उपनिरीक्षक नरेश राठौड़ के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन करते हुए उन्हें आवश्यक कार्यवाही हेतु निर्देशित किया गया।  टीम द्वारा थाना नेहरू कालोनी में पंजीकृत उक्त अभियोग में संलिप्त अभियुक्तों के मोबाइल नम्बरों तथा उनके द्वारा इस्तेमाल किये जा रहे पेटीएम एकाउण्ट्स के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की गयी तो उक्त मोबाइल नम्बरों तथा जिन नम्बरों पर पेटीएम एकाउण्ट्स बनाये गये थे, उनकी लोकेशन भरतपुर राजस्थान में होनी पायी गयी। 
  इस पर उनि नरेश राठौड़ के नेतृत्व में 05 सितंबर को एक टीम भरतपुर राजस्थान रवाना की गयी।  टीम द्वारा भरतपुर व उसके आस-पास के क्षेत्र में इस प्रकार के अपराधों में लिप्त रहे अपराधियों के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त करते हुए स्थानीय मुखबिर तंत्र को सक्रिय किया गया।
पुलिस टीम को जानकारी प्राप्त हुई कि अरबाज खान नामक एक व्यक्ति पूर्व से गैंग बनाकर इस प्रकार के कृत्यों में संलिप्त रहा है तथा वर्तमान में भी इसी प्रकार के अपराधों को अंजाम दे रहा है। जिस पर पुलिस टीम द्वारा अरबाज खान के विषय में गोपनीय रूप से  जानकारी प्राप्त करते हुए उस पर लगातार सतर्क दृष्टि रखी गयी।
 जांच के  दौरान पुलिस टीम को अरबाज खान के साथ उक्त प्रकार के कृत्यों में संलिप्त अन्य तीन युवकों के विषय में पता चला। जिस पर पुलिस टीम द्वारा आज  08 सितंबर को अरबाज खान को उसके अन्य 03 साथियों के साथ जनपद भरतपुर राजस्थान से गिरफ्तार किया गया।
अभियुक्तों की तलाशी लेने पर उनके पास से आर्मी परसन के फर्जी आधार कार्ड, आईडी कार्ड, आधार कार्ड, आर्मी कार्ड व मोबाइल फोन बरामद हुए। अभियुक्तों से प्राप्त मोबाइलों को चैक करने पर उसमें फर्जी आईडी से बने कई फेसबुक एकाउण्ट तथा पेटीएम एकाउण्टस मिले, जो आर्मी परसन्स की आईडीपर बनाये गये थे। अभियुक्तों को मौके से गिरफ्तार कर देहरादून लाया गया, जिन्हें माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जा रहा है।
  गिरफ्तार अभियुक्तों में अरबाज खान पुत्र फजरूद्दीन निवासी: ग्राम पेरई, पो. उचेडा, थाना जुरेडा, जिला भरतपुर राजस्थान,
 तालीम खान पुत्र नजीर अहमद निवासी: ग्रा. पेरई, पो. उचेडा, थाना जुरेडा, जिला भरतपुर राजस्थान, उम्र लगभग: 20 वर्ष ,
अफरोज पुत्र हारून, निवासी: अनाज मण्डी के सामने थाना कामा, जिला भरतपुर राजस्थान, उम्र लगभग: 20 वर्ष तथा तालीम खान पुत्र जाकिर हुसैन, निवासी: अनाज मण्डी के सामने थाना कामा, जिला भरतपुर राजस्थान, उम्र: 21 वर्ष शामिल हैं।