Home उत्तराखंड आफ़त: भारी बारिश से उत्तराखंड में जनजीवन अस्त व्यस्त

आफ़त: भारी बारिश से उत्तराखंड में जनजीवन अस्त व्यस्त

160
0

संवाददाता
देहरादून, 20 जुुलाई। उत्तराखंड में मानसून का कहर जारी है। राज्य के पर्वतीय जनपदों में आज भी भारी बारिश का सिलसिला जारी रहा। पौड़ी, रुद्रप्रयाग और उत्तरकाशी तथा चमोली जिले में हो रही भारी बारिश के कारण भूस्खलन से प्रमुख राजमार्गों पर जगहकृजगह आवागमन ठप हो गया है। खराब मौसम के कारण आज मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को केदारनाथ दौरा रद्द करना पड़ा।
बीते तीन दिनों से राज्य में हो रही भारी बारिश और भूस्खलन के कारण राज्य की यातायात व्यवस्था बुरी तरह प्रभावित हुई है। राज्य के सभी प्रमुख राष्ट्रीय राजमार्गों सहित सौ से अधिक सड़कों पर आवाजाही ठप हो गई है। आज सुबह से ही उत्तरकाशी और रुद्रप्रयाग में भारी बारिश हो रही है। केदारनाथ राजमार्ग पर हुए भूस्खलन के कारण यातायात पूरी तरह ठप हो गया है। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी को आज केदारनाथ धाम जाना था जहां चल रहे निर्माण कार्यों का उन्हें जायजा लेना था। लेकिन खराब मौसम के कारण उनका यह दौरा रद्द हो गया है।
चमोली जिले से प्राप्त समाचार के अनुसार बद्रीनाथ धाम राजमार्ग पर कई जगह मलबा आने से यातायात बंद पड़ा है। उधर पौड़ी से प्राप्त समाचार के अनुसार आज भी भीषण बारिश के कारण जिले की कई सड़कें बाधित हो गई है तथा दर्जन भर से अधिक गांवों का पौड़ी मुख्यालय से संपर्क टूट गया है। वही टिहरी झील के जलस्तर में लगातार हो रही बढ़ोतरी के कारण झील के ऊपर बसे कई गांवों पर खतरा मंडरा रहा है। अधिकारियों का कहना है कि वह स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं, अगर जलस्तर में अधिक वृद्धि होती है तो झील से पानी छोड़ा जा सकता है। उधर आज हुई बारिश के बाद कोटद्वार में एक स्थानीय गदेरे में आए तेज बहाव के कारण पानी व मलवा लोगों के घरों में घुस गया। पिथौरागढ़ जिले में हुई भारी बारिश से टनकपुरकृबनबसा मोटर मार्ग बाधित होने की खबर है। मौसम विभाग द्वारा अभी 24 घंटे प्रदेश में इसी तरह की बारिश का क्रम जारी रहने की संभावना जताई गई है तथा लोगों से पहाड़ की यात्रा पर न जाने व नदी नालों से दूर रहने की अपील की गई है।