Home उत्तराखंड ​राज-काज: अब गैरसैंण भी बनेगा दून की तरह स्मार्ट शहर, सीएम रावत...

​राज-काज: अब गैरसैंण भी बनेगा दून की तरह स्मार्ट शहर, सीएम रावत ने शुरू की कवायद

67
0
स्मार्ट टाउनशिप विकसित करने को खाका तैयार कर रही सरकार 
गजे सिंह बिष्ट
देहरादून, 09 अक्टूबर। त्रिवेंद्र सरकार ने ग्रीष्मकालीन राजधानी को चमकाने का मन बना लिया है। उत्तराखंड आंदोलन की जनभावनाओं के केंद्र गैरसैंण (भराड़ीसैंण) के राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी बनने के बाद अब प्रदेश सरकार गैरसैंण के विकास का खाका खींचने में जुट गई है। मास्टर प्लान के लिए सरकार जल्द ही विशेषज्ञ समिति का गठन करने जा रही है। सरकार गैरसैंण में स्मार्ट टाउनशिप विकसित करना चाह रही है। विशेषज्ञ समिति इसके लिए वन भूमि हस्तांतरण समेत अन्य मसलों का निराकरण कराएगी। इसके अलावा गैरसैंण के लिए सड़क, रेल व एयर कनेक्टिविटी की दिशा में कदम उठाए जा रहे हैं। गैरसैंण के चारों तरफ 45 किलोमीटर की परिधि में राज्य ग्रीष्मकालीन राजधानी क्षेत्र बनाने पर भी मंथन चल रहा है। इससे आसपास के क्षेत्रों के विकास के दरवाजे भी खुलेंगे।
यहां स्वास्थ्य, सड़क, पेयजल, शिक्षा समेत अन्य नागरिक सुविधाओं के लिए आधारभूत ढांचा तैयार किया जाएगा। पेयजल के लिए झील की कवायद शुरू हो गई है।
ग्रीष्मकालीन राजधानी परिसर में स्मार्ट सिटी की तर्ज पर एकीकृत व्यवस्थाओं से लैस टाउनशिप विकसित करने की तैयारी है। गैरसैंण को बेहतर कनेक्टिविटी से जोड़ने के लिए कर्णप्रयाग से गैरसैंण तक के हिस्से को ऑल वेदर रोड से जोड़ने की तैयारी है। उधर, शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि गैरसैंण को रेल से जोड़ने पर विचार चल रहा है। उन्होंने बताया कि एयर कनेक्टिविटी के मद्देनजर गैरसैंण में एयर स्टिप के लिए सर्वे हो चुका है।