Home उत्तराखंड लोकपर्व: पूर्व सीएम  हरीश रावत व पदमश्री बसंती बिष्ट ने वेबिनार के...

लोकपर्व: पूर्व सीएम  हरीश रावत व पदमश्री बसंती बिष्ट ने वेबिनार के जरिए मनाया ‘हरेला’ 

109
0

 

संंवाददाता
देहरादून 16 जुलाई। पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत व राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत व पदमश्री बसंती बिष्ट ने वेबिनार के माध्यम से हरेला उत्सव में भागीदारी की। मनोरमा डोबरियाल शर्मा मैमोरियल फाउंडेशन व काफल चैप्टर ऑफ गढ़वाल द्वारा संयुक्त रूप से श्री पंचायती मन्दिर गांधी रोड, देहरादून में हरेला महोत्सव का आयोजन किया। इसमें वेबिनार के माध्यम से जुड़े पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत एवं पदमश्री बंसती बिष्ट ने हरेला की पूजा अर्चना की। इस अवसर पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि हरेला हमारी परम्परा, हमारी संस्कृति की प्रतीक है। मां नंदा देवी के मायके से जुड़ी हमारी परम्पराओं को इससे जोड़कर देखा जाता है। उत्तराखंड  में हमारी बेटियों को मायके से खुशहाली के रूप में हरियाली भेजने की परम्परा है। शिव-पार्वती के रूप में भी ये परम्परा विद्यमान रही है।

उन्होंने राज्य की जनता को हरेला महसोत्सव व घी संक्राद की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हमें अपने राज्य की इस प्राकृतिक व सांस्कृतिक विरासत को अपनी आने पीढ़ी के लिये भी सहेज के रखना है, इस प्राकृतिक व सांस्कृतिक विविधता के सम्वर्धन व सुवर्धन के लिये भी प्रयास करना है। वहीं, पदमश्री बंसती बिष्ट ने हरेला की बधाई के साथ स्वंयरचित एक गीत भी सुनाया। कार्यक्रम की आयोजक आशा मनोरमा डोबरियाल शर्मा ने पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत व पदमश्री बंसती बिष्ट का वेबिनार के माध्यम से संम्बोधित करने के लिये आभार प्रकट किया व सभी प्रदेशवासियों को हरेला की बधाई दी।
इस अवसर पर पं. शशि बल्लभ शास्त्री द्वारा हरियाली, रुद्राक्ष व तुलसी के पौधों की पूजा अर्चना सम्पन्न कराई गई तथा झंगोरे की खीर व मंडुवे की पकौड़ी  प्रसाद के रूप में वितरित की गई।  इससे पूर्व प्रातः रुद्राक्ष व तुलसी के पौध कई लोगों को बांटे गये। कार्यक्रम में पार्षद मीना बिष्ट, रेखा डिंगरा, सोनवीर, कुलदीप प्रसाद, दीपक कुमार, गगन सिंह, ब्रृजपाल आदि उपस्थित रहे।