Home उत्तराखंड अपराध: खुदकुशी का मामला निकला हत्या का, हत्यारिन निकली पत्नी, पुलिस ने...

अपराध: खुदकुशी का मामला निकला हत्या का, हत्यारिन निकली पत्नी, पुलिस ने किया खुलासा

209
0

देहरादून-  यहां पुलिस ने खुदकुशी की एक झूठी कहानी का न सिर्फ खुलासा कर दिया बल्कि महज़ तीन दिन के भीतर हत्यारोपी को गिरफ्तार भी कर लिया। हैरान कर देने वाली बात यह है कि पति की खुदकुशी की कहानी कहने वाली मृतक की  पत्नी ही  हत्यारिन निकली।  पुलिस ने हत्यारोपी पत्नी को गिरफ्तार कर लिया है। शराबखोरी का दांंपत्य जीवन में पड़ने वाले दुष्प्रभाव दुखद अंत को रेखांकित करती यह  घटना शहर के प्रकाशनगर, बिंदाल कॉलोनी की है। पुलिस के अनुसार , कालोनी में राम पुकार झा, मूल निवासी मोतिहारी, बिहार पत्नी और बच्चों के साथ रहता था। सैटरिंग का काम करने वाला राम पुकार शराब पीने का आदी था। उसकी पत्नी काजल लोगों के घरों में झाड़ू पोछा करने का काम करती थी। शराब पीने के कारण उसका पत्नी से अक्सर विवाद होता था। गत 28 अगस्त को राम पुकार का काजल से झगड़ा हुआ। इससे गुस्साई काजल ने नशे में धुत राम पुकार का गला घोंट दिया। इसे सोसाइड साबित करने के लिए उसने पति के गले में साड़ी का फंदा बांधकर साड़ी छत से लगे पाइप से बांध दी। इसके बाद काजल पड़ोसियों को बाजार जाने की बात बताकर घर से चली गई। कुछ देर बाद घर आकर उसने शोर मचा दिया कि उसके पति ने आत्महत्या कर ली है। पड़ोसी 108 की मदद से राम पुकार को कोरानेशन अस्पताल ले गए, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने पंचनामा भरवाकर उसका पोस्टमार्टम करवाया। पूछताछ में काजल ने बताया कि उसके पति ने रात को फांसी लगाकर आत्महत्या की। लेकिन, पुलिस को शव देखकर फांसी लगाने के लक्षण नहीं लग रहे थे। इसलिए पुलिस ने जांच जारी रखी। अन्य लोगों से भी पूछताछ की। दो दिन बाद पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में भी उजागर हुआ कि राम पुकार की मौत गला दबाकर दम घुटने से हुई है। पप्पू दिवाकर की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर पुलिस ने काजल को गिरफ्तार किया।मृतक राम पुकार के मकान मालिक पप्पू दिवाकर ने बिंदाल चौकी में  रविवार 30 अगस्त को तहरीर देकर बताया कि घटना के दिन राम पुकार और काजल का झगड़ा हुआ था। उसने खुद बीच बचाव किया था। जब काजल ने शोर मचाकर आत्महत्या की जानकारी सबको दी। वह भी मौके  पर गए। लेकिन, वहां आत्महत्या के कोई चिन्ह नहीं थे।पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद पुलिस ने सोमवार सुबह काजल को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद काजल ने हत्या का जुर्म कबूल कर लिया। उसने कहा कि रोज रोज की मारपीट से वह परेशान थी। इसलिए उसने नशे में धुत पति का गला घोंट दिया। शराब की लत ने मेहनत मजदूरी कर जीवनयापन करने वाले एक छोटे से परिवार विनाश की आग में झोंक दिया। पति प्राणों से हाथ धो बैठा, पत्नी हत्या के आरोप में जेल चली गई लेकिन मासूम बच्चे बिना किसी गुनाह के ग़रीबी, अभाव और सामाजिक उपेक्षा की सज़ा भुगतेंगे।