Home उत्तराखंड आवाज: केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ माकपा का जनजागरण अभियान...

आवाज: केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ माकपा का जनजागरण अभियान शुरू

165
0

 

अनंत आकाश
देहरादून- भारत की कम्युनिष्ट पार्टी (मार्क्सवादी) ने सभावाला में जनजागरण अभियान के तहत ग्रामीणों की बैठक की ।
इस अवसर पर माकपा के प्रदेश सचिव कामरेड राजेन्द्र सिंह नेगी ने कहा कि आज पूरी दुनियां करोना महामारी से ग्रषित है और दुनिया के तमाम देशों ने मजदूरो , किसानों , आम जनता को राहत पहुचाई है किंतु हमारे देश की मोदी सरकार इस महामारी से लड़ने में पूरी तरह से असफल हो गयी है।उन्होंने कहा कि देश की सरकारी स्वास्थ्य सेवाएं ही करोना से लड़ाई रहा है किन्तु सरकार उनकी उपेक्षा कर रही है ।
उन्होंने कहा कि सरकार कॅरोना काल को एक अवसर के रूप में इस्तेमाल कर रही है ये सरकार आम जनता , मजदूर , किसानों के खिलाफ नीतियां बना रही है जिससे त्राहि त्राहि मची है ।
इस अवसर पर पार्टी के राज्य कमेटी सदस्य व किसान सभा के महामंत्री कमरुद्दीन ने कहा कि सरकार द्वारा किसानों के खिलाफ तीन-तीन अध्यादेश पारित कर दिया है जिससे किसानों की लूट खसौट होगी जिससे किसान बर्बाद हो जाएगा । उन्होंने कहा कि जनता को एक जुट हो कर सरकार के खिलाफ आंदोलन करना होगा ।
इस अवसर पर पार्टी के जिला सचिव राजेन्द्र पुरोहित ने कहा कि भाजपा द्वारा कॅरोना को भी सम्पदायिक आधार पर बांटने का काम किया जा रहा है । उन्होंने कहा कि इस सरकार के द्वारा लोगो को बेरोजगार करने का काम किया गया है किंतु उन्हें रोजगार की व्यवस्था कैसे की जाए इस ओर कोई काम नही किया जा रहा है जिस कारण आम मजदूर भूखो मरने के कगार पर है ।


इस अवसर पर सीटू के महामंत्री लेखराज ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा कॅरोना की आड़ में देश की ऑर्डनेंस फैक्ट्रियों , कोल इंडिया , हवाई अड्डो , रेलवे को निजी हाथों ने बेचने का काम कर रही है उन्होंने कहा की आज उत्तराखण्ड सरकार द्वारा श्रम कानूनों को समाप्त कर रही है जिससे मजदूर गुलामी की जिंदगी जीने पर मजबूर होगा इस सरकार द्वारा काम के घण्टे 12 करने से जहाँ एक तरफ मजदूर के स्वास्थ्य पर कुप्रभाव पड़ेगा वही इस फैसले से बेरोजगारी ही बढ़ेगी जिसका मजदूर किसानों को खुलकर विरोध करना पड़ेगा ।
इस अवसर पर सभा की अध्यक्षता मेहबूब हसन , इस्लाम अली , शम्भू लाल, सत्यपाल , ओमपाल , नफीसुदीन , खजान सिंह , नवाब, कल्हण, मुन्ना आदि उपस्थित थे ।