Home उत्तराखंड विरोध: पेट्रोल व डीजल के दामों में वृद्धि के खिलाफ सड़कों पर...

विरोध: पेट्रोल व डीजल के दामों में वृद्धि के खिलाफ सड़कों पर उतरी कांग्रेस

158
0

 

संवाददाता
देहरादून, 11 जून। पेट्रोल व डीजल की कीमतों में लगातार हो रही बढ़ोत्तरी से नाराज़ कांग्रेसी शुक्रवार को सड़कों पर उतर आए। पार्टी की तरफ से पूरे राज्य में विरोध प्रदर्शन किए गए। पार्टी ने केंद्र की मोदी सरकार की नीतियों को जनविरोधी बताते हुए आरोप लगाया कि वह पूंजीपतियों के हाथ की कठपुतली बन कर काम कर रही है। शुक्रवार को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर पार्टी की उत्तराखंड शाखा के नेतृत्व में प्रदेशभर में पार्टी कार्यकर्ताओं ने डीजल-पेट्रोल की बढ़ती कीमतों के विरोध में जोरदार प्रदर्शन किया।  प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह के निर्देश पर सुबह 11 बजे से एक घंटा तक विधानसभावार प्रदर्शन किया गया। देहरादून में पार्टी के राज्य मुख्यालय में हुए प्रदर्शन में प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने भी शिरकत की।  प्रदेश कांग्रेस कमेटी  ने आरोप लगाया कि केंद्र सरकार चंद पूंजीपतियों के हितों को ध्यान में रख कर काम कर रही है और पेट्रोलियम पदार्थों के बेतहाशा दाम बढ़ाकर कोरोना से जूझ रहे आम आदमी की जेब पर डाका डाल रही है।
विकास नगर में भी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जोरदार प्रदर्शन कर मोदी सरकार द्वारा पेट्रोल और डीज़ल की कीमतों की जा रही मूल्यवृद्धि को लेकर अपना विरोध दर्ज कराया। कांग्रेस नेता अजय नेगी के नेतृत्व में पार्टी कार्यकर्ताओं ने धरना भी दिया। इस मौके पर अजय नेगी का कहा कि देश में महंगाई उच्च स्तर पर पहुंच चुकी है। पेट्रोल के दाम 100 से पार हो चुके हैं, लेकिन केंद्र की मोदी सरकार इस पर नियंत्रण नहीं कर रही है। मोदी के शासनकाल में महंगाई आसमान छू रही है परन्तु सरकार का ध्यान राज्यों में चुनी हुई विपक्षी सरकारों को गिराने पर है। देश के बिगड़ते हालात की बजाय वह सिर्फ चुनावों पर अपना ध्यान लगा रही है। नेगी ने कहा कि जब केंद्र में कोंग्रेस की सरकार थी, डीजल व पेट्रोल के दाम 50 से 55 रुपये थे, गैस सिलेंडर पांच सौ रुपये का था। अब सभी के रेट बढ़कर लगभग दोगुने हो गए हैं। इस अवसर पर संजय चौहान आदि अनेक नेताओं ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित किया।