Home उत्तराखंड आवाज़:  सीटू से सम्बद्ध आंगनवाड़ी यूनियन का मांगों को लेकर जिला मुख्यालय...

आवाज़:  सीटू से सम्बद्ध आंगनवाड़ी यूनियन का मांगों को लेकर जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन

165
0

 

सिटी मजिस्ट्रेट के मार्फत प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को भेजे  ज्ञापन  

संवाददाता
देहरादून 11 जून। 
    सीटू से सम्बद्ध आंगनवाड़ी कार्यकत्री/सेविका कर्मचारी यूनियन ने आज अखिल भारतीय आंगनवाड़ी कार्यकत्री सेविका /सहायिका फेडरेशन के देश व्यापी विरोध के आह्वान पर देहरादून में जिला मुख्यालय पर प्रदर्शन कर प्रधानमंत्री और उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजे । 
इस अवसर पर सीटू के जिला महामंत्री लेखराज ने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार व प्रदेश की तीरथ सिंह सरकार कोविड से लड़ाई में फेल साबित हो गयी है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड राज्य देश का पंजाब के बाद दूसरा राज्य है जहाँ कोरोना से मृत्यु दर सबसे अधिक है। उन्होंने कहा कि सरकार की गलत नीतियों के कारण आम जनता को  इतनी बड़ी त्रासदी का शिकार होना पड़ा। उन्होंने इस महामारी के दौरान आंगनवाड़ी वर्कर्स के द्वारा किये गए कार्यों की सराहना करते हुए कहा कि आंगनवाड़ी वर्कर्स को बुनियादी सुविधाएं देने के साथ – साथ उनका मानदेय 21000 रु किया जाना चाहिए व 50 लाख के स्वास्थ्य बीमा में कवर्ड करने , व बीमार पड़ने पर निःशुल्क इलाज कराने की मांग भी सरकार से की। 
   यूनियन की प्रान्तीय कार्यकारी अध्यक्ष जानकी चौहान ने कहा कि मोदी सरकार कोविड से लड़ाई में आंगनवाड़ी वर्कर्स को जरूरी सामान पीपीई किट, मास्क, सेंनिटाइजर तक मुहैया नहीं करा रही है। उन्होंने मांग की कि जिन आंगनवाड़ी केंद्रों में बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं, उनमें फर्नीचर , खेल-खिलोने , बच्चों की यूनिफॉर्म, बस्ता , किताबें आदि सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं , न्यूनतम वेतन रु 21000 किया जाये , वर्कर्स को कर्मचारी घोषित किया जाए , 45 वें श्रम सम्मेलन की शिफारिशों को लागू किया जाए।

इस अवसर पर यूनियन की जिला अध्यक्ष ज्योतिका पांडेय ने कहा कि हड़ताल के दौरान काटा गया मानदेय शीघ्र दिया जाए व हड़ताल के दौरान की गई सर्विस ब्रेक के आदेश वापस लिए जाएं । 
     यूनियन की महामंत्री रजनी गुलेरिया ने सरकार से मांग की  कि नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को वापस लिया जाय व सभी आंगनवाड़ी वर्कर्स को राज्य कर्मचारी स्वास्थ्य बीमा (ESI) से जोड़ा जाए, ताकि वर्कर्स व हेल्पर को व उसके परिवार को समुचित चिकित्सकीय लाभ मिल सके । उन्होंने कहा कि मांगें न माने जाने पर यूनियन आंदोलन हेतु बाध्य होगी ।
इस अवसर पर सीटू के जिला महामंत्री लेखराज, उपाध्यक्ष भगवंत पयाल , कोषाध्यक्ष रविन्द्र नौडियाल , जानकी चौहान , ज्योतिका पांडेय , रजनी गुलेरिया , मीनू , कांता , शोभा, रचना , गीता , सुषमा देवी व भारत सिंह आदि उपस्थित थे। प्रदर्शन के उपरांत सिटी मजिस्ट्रेट कुसुम चौहान के मार्फ़त प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को ज्ञापन  भेजे गए।