Home उत्तराखंड जनसेवा: कोरोना संकट में हंस फाउंडेशन ने इस जिले के लिए  बढ़ाए...

जनसेवा: कोरोना संकट में हंस फाउंडेशन ने इस जिले के लिए  बढ़ाए मदद के हाथ

152
0

 

संवाददाता
चमोली, 10 जून। वैश्विक महामारी कोविड-19 के संकट से जूझ रहे उत्तराखंड में अनेक संस्थाएं लोगों की सहायता के लिए आगे आई हैं। सुप्रसिद्ध समाजसेवी दंपति माता मंगला जी एवं भोले जी महाराज का नाम इस काम में सर्वोपरि है। उनके संरक्षण में हंस फाउंडेशन व हंस कल्चरल सेंटर की ओर से अब तक करोड़ों रुपए की सामग्री सहायता के तौर पर जरूरतमंदों तक पहुंचाई जा चुकी है। समाजसेवा का उनका यह अभियान निरंतर जारी है। इसी सिलसिले को आगे बढ़ाते हुए हंस कल्चरल सेंटर की ओर से एक बार फिर सीमांत जिला मुख्यालय चमोली में कोरोना महामारी की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य संबंधी सामग्री पहुंचाई गई है। पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेंद्र भंडारी की देखरेख में हंस कल्चर सेंटर के सहयोग से प्राप्त मास्क, सेनेटाइजर, पीपीईकिट, गाउन किट, थर्मामीटर, आक्सीमीटर, स्टीमर, कोविड- 19 से संबंधित दवाई ग्राम स्तर पर कार्य कर रहे फ्रंट लाइन वर्कर आशा, आंगनबाड़ी कार्यकत्री, क्षेत्र पंचायत सदस्यों व ग्रामीणों तक पहुंचाए जाने  का काम हो रहा है। इस मौके पर पूर्व कैबिनेट मंत्री राजेंद्र भंडारी ने माता मंगला जी व भोले जी महाराज का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उनके द्वारा इस महामारी में पूरे भारतवर्ष में जगह-जगह कोविड-19 की रोकथाम के लिए दवाई व अन्य सामग्री आम जनता को उपलब्घ कराई जा रही है। पूर्व कैबिनेट मंत्री  भंडारी ने बताया कि हंस फाउंडेशन की ओर से जिले भर में 40 लाख रुपए की दवाइयां और कोराना सुरक्षा किट भेजी गई हैं। फाउंडेशन द्वारा भेजी गई दवाइयां व अन्य सामग्री स्वास्थ्य विभाग के सुपुर्द की जा रही हैं ताकि आमजन को सुगमता से उनका लाभ प्राप्त हो सके।