Home उत्तराखंड रचना: वनखंडी महाराज ने किया श्री कृष्णचरितामृत के चौथे सोपान का ...

रचना: वनखंडी महाराज ने किया श्री कृष्णचरितामृत के चौथे सोपान का विमोचन

254
0

 

संवाददाता

भवाली- नगारी गांव स्थित कवि महेश कुमार वर्मा द्वारा रचित श्रीकृष्णचरितामृत के चौथे सोपान का  गत दिवस विमोचन किया गया। सातताल हिडिम्बा धाम के वनखंडी महाराज ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए पुस्तक का विमोचन किया। साथ ही वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए कई भक्तों ने भी इस कार्यक्रम में अपनी भागीदारी की। इस दौरान कई लोगोंं ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग से जुड़कर कार्यक्रम में भाग लिया। गौरतलब है कि लेखक महेश वर्मा अशांत ने श्री कृष्णचरितामृत के कुल 11 सोपान स्वयं लिखे हैं। उन्होंने 31 सालों के अथक प्रयास व ल मेहनत से श्री कृष्णचरितामृत लिखी। रविवार को उनके आवास नगारी गांव स्थित कला कुंज में सादगी के साथ चौथे सोपान का विमोचन हुआ। कवि महेश कुमार वर्मा ‘अशांत” ने बताया कि 1983 से उन्होंने श्री कृष्णचरितामृत लिखना शुरू किया। 20 जुलाई 2014 को 11 सोपान पूरे लिखे गए। उन्होंने कहा कि आगे आने वाली पीढ़ी को इसका भरपूर लाभ मिलेगा।

कई विश्वविद्यालयों के पुस्तकालयों में श्री कृष्णचरितामृत का छात्र अध्ययन कर रहे हैं। सेंट्रल लाइब्रेरी में भी लोग श्री कृष्णचरितामृत का अध्ययन कर रहे हैं। छात्र शोध अध्ययन कर कृष्ण की लीलाओं का ज्ञान अर्जित कर रहे हैं।

इस दौरान पूर्व दर्जा राज्य मंत्री खष्टी बिष्ट, गिरीश चन्द्र पांडे, कला वर्मा, रितु वर्मा, प्रदुमय वर्मा, शिवदत्त भट्ट, दीपक जोशी, नीरज महादेव अनूप वर्मा, तरुन जोशी, के सी लोहनी, संजीव भगत, एम पी सिंह, आलोक जोशी, लाल सिंंह चौहान व तरुण जोशी आदि कार्यक्रम में शामिल रहे।