Home उत्तराखंड कोविड-19:  ग्रामीण बच्चों की शिक्षा समस्याओं के समाधान के लिए शिक्षा मंत्री...

कोविड-19:  ग्रामीण बच्चों की शिक्षा समस्याओं के समाधान के लिए शिक्षा मंत्री को भेजा पत्र

69
0
खष्टी बिष्ट
भवाली, 09 सितंबर। वीरांगना ग्राम पंचायत स्तरीय महिला जनप्रतिनिधि संगठन द्वारा शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे को एक पत्र भेजा गया है। पत्र में उन्होंने नैनीताल, अल्मोड़ा बागेश्वर व पिथौरागढ़ के 300 ग्राम पंचायतों के स्कूली बच्चों को कोविड-19 के दौरान शिक्षा में आ रही समस्या का सर्वे कर आंकड़े संलग्न किए हैं। वहींं, संगठन ने उन समस्याओं का समाधान करने की अपील की है।
वीरांगना ग्राम पंचायत स्तरीय महिला जनप्रतिनिधि संगठन के द्वारा शिक्षा मंत्री को भेजे गए पत्र में संलग्न आकड़ोंं के अनुसार बागेश्वर में 20 प्रतिशत अभिवावकों के पास एंड्रायड फोन नहींं है, 10 वींं व 12 वींं के 40 प्रतिशत बच्चों के पास ही एंड्रॉयड फोन है। 40 प्रतिशत बच्चे नेटवर्क में नहीं हैंं। 2 प्रतिशत प्राइमरी के बच्चोंं को शिक्षक घर-घर जाकर गृह कार्य दे रहे हैंं। पिथौरागढ़ में 25 प्रतिशत बच्चे ही ऑनलाइन शिक्षा ले पा रहे हैंं।
धारचूला के 9 ग्राम पंचायतेंं आपदा ग्रस्त होने के कारण वहां बिजली की समस्या है। 40 प्रतिशत बच्चों के पास एंड्रायड फोन नहीं है। नैनीताल के भीमताल ब्लॉक में 25 प्रतिशत लोगों के पास एंड्रॉयड फोन नहीं है, 10 प्रतिशत लोगों को नेटवर्क की परेशानी आ रही है। धारी ब्लॉक में 60 प्रतिशत के पास एंड्रायड फोन नहीं है, 50 प्रतिशत नेटवर्क की परेशानी झेल रहे हैंं। इसी तरह की कई अन्य परेशानियां भी बच्चों के सामने आ रही हैंं। वहींं, पत्र में उन्होंने इन सभी समस्याओं के समाधान के उपाय भी दिए हैंं। जिस पर संगठन ने शिक्षा मंत्री से संज्ञान लेते हुए उचित कार्यवाही की मांग की है।
(  दोनों फोटो प्रतीकात्मक )