Home उत्तराखंड चिंतनीय: महान सर्वेयर पं. नैन सिंह रावत के वंशजों की दुर्दशा, विधायक...

चिंतनीय: महान सर्वेयर पं. नैन सिंह रावत के वंशजों की दुर्दशा, विधायक हरीश धामी ने उठाया विधानसभा में मामला

85
0

 मुनस्यारी (पिथौरागढ़) –  19 वीं सदी के महान सर्वेयर पंडित नैन सिंह रावत के वंंशजों केे परिवार आज दुर्दशा  के शिकार हैं। अब तक की सरकारों द्वारा की गई अनदेखी के चलते उनके वंशज बमुश्किल अपना जीवनयापन कर पा रहे हैं। धारचूला के तेजतर्रार विधायक हरीश धामी ने उनकी दुर्दशा का मामला गैरसेंण विधानसभा सत्र में  उठाया ।
   महान सर्वेयर पंडित नैन सिंह रावत के परिवार में मोहन सिंह रावत हुए । मोहन सिंह रावत और द्रौपदी देवी के पुत्र कुंदन सिंह रावत हुए। कुंदन सिंह रावत के तीन पुत्र वीरेंद्र सिंह रावत, मनोज सिंह रावत और कवीन्द्र सिंह रावत हुए। इन तीनों की असमय मौत हो जाने से अब यह परिवार घोर संकट से घिर चुका है। इस पारिवार में अब कोई भी पुरुष नहीं बचा जो परिवार का पालन पोषण कर सके ।
    परिवार में एक बूढ़ी दादी और दो छोटे छोटे बच्चों के साथ कवींद्र सिंह रावत की पत्नी कमला देवी रावत जिला पिथौरागढ़ के तहसील बंगापानी के मदकोट में रहती है । कमला देवी रावत एक घरेलू महिला है और उसके पास परिवार को पालने के लिए आय का कोई जरिया नहीं है । ऐसे में सरकार से बार बार गुहार लगाने के बाद भी इस परिवार की अभी तक कोई सुध नहीं ली गयी।
पंडित नैन सिंह रावत के नाम से मुनस्यारी में एक माउंटेनियरिंग इंस्टिट्यूट भी है। कमला देवी रावत ने पूर्व में सरकार से इस इंस्टिट्यूट में सरकारी नौकरी का आग्रह भी किया था लेकिन सरकार ने इस मांग को ठुकरा दिया था ।
   अब धारचूला विधायक हरीश धामी ने इस मामले को विधान सभा में उठाया है तो परिवार को उम्मीद की किरण नजर आने लगी है। परिवार का कहना है कि हरीश धामी हमेशा अपने क्षेत्र की समस्याओं का निदान करने के लिए पूरी कोशश करते हैं , उन्हें अपने क्षेत्र के विधायक पर पूरा भरोसा है कि वह इस मामले में जरूर जीत प्राप्त करेंगे ।