Home Home शिकंजा: हरियाणा से फरारी काटने आये तीन कुख्यात गिरफ्तार, एक फरार

शिकंजा: हरियाणा से फरारी काटने आये तीन कुख्यात गिरफ्तार, एक फरार

83
0

हरियाणा में 13 हत्याएं कर के चल रहे थे फरार

संवाददाता
सितारगंज, 19 नवंबर। सितारगंज कोतवाली पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। हरियाणा से आये चार कुख्यात अपराधी 14 नवम्बर से सितारगंज के एक किराए मकान में रहकर फरारी काट रहे थे। जिनमे से पुलिस की सतर्कता के चलते तीन को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि एक फरार होने में सफल रहा। बतादें वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ऊधम सिंह नगर दलीप सिंह कुंवर के द्वारा संदिग्ध व्यक्तियों के सत्यापन में उनके विरुद्ध कार्यवाही किए जाने से संबंधित अभियान चलाया गया। जिस क्रम में थाना सितारगंज प्रभारी निरीक्षक सलाउद्दीन खान द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुपालन में वरिष्ठ उपनिरीक्षक सुधाकर जोशी के नेतृत्व में गठित पुलिस टीम को संदिग्ध व्यक्तियों के सत्यापन की कार्रवाई हेतु रवाना हुए थे। पुलिस को सूचना मिली एक कार जिसका नंबर यूपी 25 एए 0552 है।जिसमें वाहन में संदिग्ध व्यक्ति हो सकते हैं।
इस सूचना पर इस वाहन की खोजबीन की तो सितारगंज मुख्य चौराहे से नकुलिया चौराहे की तरफ जाती यह कार दिखाई दी। इसका पीछा किया तो थाने से 200 मीटर दूरी पर इस कार को रोका गया इस गाड़ी में एक व्यक्ति गाड़ी चला रहा था। दूसरा व्यक्ति पीछे बैठा था। इस गाड़ी में बैठे इन दोनों व्यक्तियों से पूछताछ कर ही रहे थे कि दोनों व्यक्ति पुलिस वालों के साथ हाथापाई करने लगे। तभी गाड़ी चला रहे व्यक्ति ने अपनी बेल्ट से एक तमंचा निकाल दिया। जिससे मौका पाकर गाड़ी के पीछे बैठा व्यक्ति गाड़ी से फरार हो गया। पकड़े गए व्यक्ति से मौके पर ही पूछताछ करते हुए तलाशी ली, तो इस व्यक्ति ने अपना नाम मोनू उर्फ सुक्खा पुत्र लख्मी निवासी ग्राम निंदाना थाना मऊ जिला रोहतक हरियाणा बताया तलाशी में इस व्यक्ति के हाथ में एक तमंचा 315 वोर और 2 जिन्दा कारतूस मिले है। सख्ती से पूछताछ करने पर इस व्यक्ति ने बताया कि जो व्यक्ति अभी कार से भागा है उसका नाम यशपाल पुत्र नामालूम निवासी मऊ लोखरी जिला गुड़गांव है साथ ही यह भी बताया कि इसके दो अन्य बदमाश साथी है जो बाईपास कॉलोनी सितारगंज के मकान में रह रहे हैं अभी भी वहीं पर मौजूद है। उनके बताए रास्ते से बाईपास कॉलोनी पर पहुंचे तो दो व्यक्ति एक कमरे के अंदर दिखाई दिए। उन्होंने पुलिस टीम पर एकदम से हाथापाई शुरू कर दी पुलिस बल द्वारा आवश्यक बल प्रयोग कर मौके पर ही पकड़ लिया इन दोनों व्यक्तियों से नाम पता पूछा तो अपना नाम पवन नेहरा पुत्र दयाराम निवासी थाना बिलासपुर जिला गुड़गांव बताया दूसरे व्यक्ति ने अपना नाम आशीष पुत्र जयदीप निवासी थाना झज्जर जिला झज्जर हरियाणा बताया इन अभियुक्तगणों को गिरफ्तार किया गया। इन लोगों को थाना सितारगंज पर लाकर सख्ती से पूछताछ की गई तो इनके द्वारा किये गए अपराधों की जानकारी मिली। जिसमे पवन नेहरा पर एक महिला समेत 6 हत्याओं में मुकदमे पंजीकृत है तो वहीं आशीष उर्फ जे डी पर दो सगे भाइयों की हत्या एवं दो 307 में मुकदमे पंजीकृत है। साथ मोनू उर्फ सुक्खा पर 5 लोगो की हत्या के मामले पंजीकृत है। गिरफ्तार किए गए तीनो अपराधियों के पास से तीन 315 वोर के तमंचे और 6 जिंदा कारतूस बरामद किए गए है। पूछताछ में सामने आया कि रुद्रपुर निवासी मनप्रीत पुत्र नामालूम द्वारा इनको घूमने के लिए एक होंडा कार दी गयी थी जिसको भी पुलिस ने बरामद कर लिया है साथ ही सितारगंज निवासी जसकरन द्वारा इन अपराधियों को बिना सत्यापन अपना मकान किराए पर दिए जाने पर 10000 रुपये का चालान किया गया है
तीनो अभियुक्तों को गिरफ्तार करने वाली टीम को डी.जी.एल.ओ. की ओर से 26 जनवरी को सम्मानित करने के लिए नामित करने की घोषणा की गई है। साथ ही पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कुंवर और अपर पुलिस अधीक्षक देवेंद्र पिंचा की ओर से भी बतौर पुरुस्कार धनराशि प्रदान करने की घोंषडा की गई।
गिरफ्तार करने वाली टीम में सलाउद्दीन खान प्रभारी निरीक्षक कोतवाली सितारगंज, वरिष्ठ उपनिरीक्षक सुधाकर जोशी कोतवाली सितारगंज, उप निरीक्षक संजीत कुमार, कोतवाली सितारगंज, कांस्टेबल नरेंद्र यादव, कांस्टेबल जगदीश लोनी, कांस्टेबल दीपक जोशी, कॉन्स्टेबल रोहित गोस्वामी व मनोज जोशी शामिल रहे।