Home उत्तराखंड मुद्दा: उत्तराखंड विधानसभा के बाईस सदस्यों का दामन दागदार, इनमें से 4...

मुद्दा: उत्तराखंड विधानसभा के बाईस सदस्यों का दामन दागदार, इनमें से 4 कैबिनेट मंत्री

68
0
 देहरादून –  चुनाव लड़ने वाले  दागी उम्मीदवारों के मामले में उत्तराखंड भी पीछे नहीं है। आपराधिक मामलों के घेरे में चुनाव लड़कर विधानसभा पहुंचने और उनमें से भी कुछ के द्वारा मंत्री पद पा लेने का मुद्दा सुप्रीम कोर्ट के कल के फैसले के बाद से एक बार फिर चर्चाओं के केंद्र में आ गया है। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को एक याचिका पर एक महत्वपूर्ण निर्णय दिया कि राजनीतिक दलों को चुनाव से पहले आपराधिक छवि वाले उम्मीदवार के चयन का कारण बताना होगा।
   वर्तमान में, 22 विधायकों पर उत्तराखंड की विधानसभा में आपराधिक मामले दर्ज हैं। उनमें से चार त्रिवेंद्र सरकार में कैबिनेट मंत्री के पद पर हैं। साल 2017 के विधानसभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार, प्रदेश में सबसे अधिक एक दर्जन आपराधिक मामले में विद्यालयी शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय पर दर्ज थे। इनमें से कुछ मामले गंभीर स्थिति में हैं। यह स्पष्ट है कि आपराधिक छवि वाले उम्मीदवारों के क्षेत्र में राज्य के राजनीतिक दल भी पीछे नहीं हैं। इस पहाड़ी राज्य के मुख्य राजनीतिक दल, जिन्हें कानून और व्यवस्था के मामले में काफी शांत माना जाता है, जिनमें भाजपा, कांग्रेस और अन्य राजनीतिक दल भी शामिल हैं, जिन पर गंभीर प्रवाह में मामले दर्ज थे। एक गैर सरकारी संगठन एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट से इसकी पुष्टि होती है।
हालांकि रिपोर्ट के अनुसार, 2012 से 2017 के चुनावों में उत्तराखंड में दागी प्रत्याशियों की संख्या दोगुनी हो गई। 2012 के विधानसभा में 28 दागी प्रत्याशियों को मैदान में उतारा था। 2017 के विधानसभा चुनाव में यह संख्या बढ़कर 54 हो गई। हालांकि यूपी, बिहार, पंजाब समेत अन्य प्रदेशों की तुलना में उत्तराखंड के विधायकों पर दर्ज आपराधिक मामले बहुत गंभीर प्रकृति वाले नहीं हैं। न ही किसी भी मामले में किसी सक्षम न्यायालय से अपराध सिद्ध हो पाया है। एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार, 2017 की विधानसभा में 22 दागी विधायकों में सबसे अधिक मुकदमे भाजपा के गदरपुर विधायक अरविंद पांडेय पर हैं। इनमें विध्वंस, सार्वजनिक संपत्ति को नुकसान पहुंचाना, सरकारी काम में बाधा डालना और हत्या का मामला शामिल है।