Home उत्तराखंड श्रद्धांजलिः  विस अध्यक्ष ने शहीदों को किया नमन

श्रद्धांजलिः  विस अध्यक्ष ने शहीदों को किया नमन

160
0

संवाददाता
देहरादून, 9 नवंबर। 21 वें राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर विधानसभा परिसर में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने उत्तराखंड आंदोलन के शहीदों के चित्रों पर माल्यार्पण कर उन्हें यादि किया। विधानसभा अध्यक्ष ने राज्य प्राप्ति आंदोलन में सक्रिय महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाली महिला आंदोलनकारियों को सम्मानित भी किया।


इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने सभी को उत्तराखंड राज्य के विकास में महत्वपूर्ण योगदान देने के लिए संकल्प भी दिलवाया। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने महिला आंदोलनकारियों को गैरसैंण विधानसभा भवन का प्रतीक फोटो एवं गंगाजली भेंट कर सम्मानित किया। इस दौरान विशिष्ट अतिथि के तौर में मौजूद विधायक हरबंस कपूर, उमेश शर्मा काऊ, विधायक जीआईजी मैन एवं चंद्रा पंत द्वारा सभी महिला आंदोलनकारियों को पुष्पगुच्छ एवं शाल ओढ़ाकर कर सम्मानित किया गया।
सम्मानित होने वाली राज्य महिला आंदोलनकारियों में श्यामा देवी, विमला ज़खमोला, मनोरमा बमराड़ा, मोहिनी नौटियाल, माया पंवार, प्रभा बहुगुणा, विजयलक्ष्मी गुसाई, सुंदरी देवी, कमला कंडारी, गुरदीप कौर, भूमा रावत, लक्ष्मी भंडारी, उषा भट्ट, भानुमति रावत, गोदाम्बरी देवी, रामी देवी, सोनी देवी, रामेश्वरी देवी एवं शकुंतला देवी मुख्य रूप से मौजूद थी।

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि उत्तराखंड की पहचान देश—दुनिया में देवभूमि के रूप में है। हमें इस पहचान को बनाए रखना है। हमें उत्तराखंड की समृद्ध संस्कृति पर नाज है। नए प्रगतिशील भारत में उत्तराखंड बढ़—चढ़कर अपनी महत्वपूर्ण भागीदारी निभा रहा है। कोरोना संक्रमण के इस काल में भी उत्तराखंडवासियों द्वारा एकजुट होकर इस लड़ाई को लड़ने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा की गई है। इस अवसर पर विधायक हरबंस कपूर ने कहा कि उत्तराखंड हमेशा शहीदों का ऋणी रहेगा। राज्य आन्दोलन के शहीदों के प्रति हमारी सच्ची श्रद्धांजलि यही होगी कि हम उनकी आकांक्षाओं के अनुरूप राज्य बनाए।
इस अवसर पर विधानसभा के प्रभारी सचिव मुकेश सिंघल, अनु सचिव नरेंद्र रावत, अनु सचिव मनोज कुमार, अनु सचिव हेमं पंत, व्यवस्था अधिकारी दीपचंद, वरिष्ठ निजी सचिव अजय अग्रवाल, सुरक्षा अधिकारी प्रदीप गुणवंत, अनु सचिव नीरज गौड सहित विधानसभा के अन्य अधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद थे। वहीं कार्यक्रम का संचालन भारत चौहान द्वारा किया गया।